ताज़ा खबर :
prev next

राज नगर एक्सटेंशन को मिल सकती है रोज के जाम से मुक्ति मगर जीडीए सोया है गहरी नींद में

गाज़ियाबाद में सस्ते और सुविधा सम्पन्न मकान का सपना देखने वालों के लिए राज नगर एक्सटेंशन एक बेहतर विकल्प के रूप में उभरा है। आज यहाँ बनी 35 से भी अधिक सोसायटियों में 60 हज़ार से भी ज्यादा लोग रहते हैं। जी टी रोड और मेरठ रोड के बीच बने इस इलाके को बसे कई साल गुजर गए हैं मगर यहाँ की जनता गाज़ियाबाद विकास प्राधिकरण की गलत नीतियों के कारण बिजली, सड़क और पानी की गंभीर समस्याओं से जूझ रही है।
सबसे बड़ी समस्या है यहाँ हर रोज लगाने वाले सुबह-शाम के जाम की। आपको बता दें कि यहाँ रहने वाले लोगों के वाहनों के अलावा राज नगर एक्सटेंशन की सड़कों से हर रोज करीब सवा लाख वाहन मेरठ, देहरादून, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर आदि के लिए जाते हैं।

गाज़ियाबाद विकास प्राधिकरण की महायोजना 2021 के मुताबिक नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड (एनपीआर) और राजनगर एक्सटेंशन जोनल रोड को एक साथ बनाया जाना था। इसके लिए जरूरी ज़्यादातर जमीन का अधिग्रहण भी किया जा चुका है जिसमें सिकरोड, मोरटा, मोरटी, शमशेरपुर, भनेड़ा, अटोर और नंगला आदि गांवों की जमीन शामिल है।

जीडीए के ज़ोनल रोड प्लान के तहत एक सड़क अजनारा इंटीग्रिटी चौराहे से शुरू होकर प्रेसिडियम और डीपीएस राज नगर से गुजरती हुई मेरठ रोड पर जाकर मिलेगी। इस रोड के पूरी बनने के बाद न सिर्फ राज नगर एक्सटेंशन में रहने वाले लोगों को जाम से मुक्ति मिलेगी बल्कि एलिवेटेड रोड से होते हुए मेरठ की ओर जाने वाले वाहनों को भी सहूलियत होगी।

इस सड़क का ज़्यादातर हिस्सा बन कर तैयार हो चुका है, मगर आपको यह जानकार आश्चर्य होगा कि इस महत्वपूर्ण सड़क का एक छोटा सा हिस्सा गाजियाबाद विकास प्राधिकरण और किसानों के बीच विवाद में घिरा हुआ है। जीडीए के सूत्रों के मुताबिक प्राधिकरण इलाहाबाद उच्च न्यायालय में अधिग्रहण का केस जीत चुका है, मगर अज्ञात कारणों से भू-स्वामी को मुआवजा नहीं मिला है। यही कारण है कि जब भी जीडीए के ठेकेदार सड़क बनाते हैं, स्थानीय किसान उसे तोड़ कर जमीन समतल कर देते हैं।

अब देखना होगा कि कब तक राज नगर एक्सटेंशन के निवासी गाज़ियाबाद विकास प्राधिकरण के अधिकारियों और जमीन के मालिकों के बीच हो रही इस नूरा कुश्ती का शिकार होते रहेंगे।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *