ताज़ा खबर :
prev next

टीवी कलाकार अंश अरोड़ा ने गाज़ियाबाद पुलिस पर लगाया थर्ड डिग्री टॉर्चर करने का आरोप

‘क्वीन्स’ और ‘तन्हाइयां’ जैसे टीवी शोज में काम कर चुके नामी कलाकार अंश अरोड़ा गाजियाबाद पुलिस पर 3 डिग्री टॉर्चर करने का आरोप लगाया है। कलाकार के मुताबिक गाजियाबाद पुलिस ने उन्हें बड़ी बर्बरता के साथ पीटा है। फिलहाल वे दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती हैं। अंश के मुताबिक, ‘हम पुलिस की बर्बरता का शिकार हुए हैं। हमें इंदिरापुरम, गाजियाबाद के पुलिस अधिकारियों द्वारा शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया गया है। मुझे थर्ड डिग्री टॉर्चर किया गया। हमें पुलिस ने रात से लेकर अगली सुबह तक पीटा।’

अंश अरोड़ा ने मानवाधिकार आयोग को अपनी शिकायत लिखित रूप में देते हुए लिखा- ’12 मई 2019 की रात को लगभग 1.30 से 2.00 बजे के बीच मैं 24*7 (शॉप्रिक्स मॉल सेक्टर 4, वैशाली, गाजियाबाद यूपी) स्टोर गया था। मैं स्टोर के अंदर था वहीं बाहर कार में मेरा भाई मेरा इंतजार कर रहा था। मैं स्टोर में एक दिन पहले हुए झगड़े को सुलझाने गया था लेकिन पुलिस अधिकारियों ने मुझे Crpc के U / s-151 से जबरदस्ती गिरफ्तार कर लिया। जब पुलिस मुझे उनकी वैन में ले जा रही थी, तब मेरे भाई ने पुलिस को मुझे ले जाते हुए देख लिया। ऐसे में वह मेरे पास आया, तभी पुलिस ने उसे भी पकड़ लिया और कहा कि ‘तू भी इसके साथ है।’ एक्टर ने अपने पत्र में लिखा कि घसीटते हुए पुलिस उन्हें अपने साथ वैन में लेकर गई। साथ ही दोनों भाइयों के मोबाइल फोन भी छीन लिए गए।

जनसत्ता की खबर के अनुसार अंश ने आगे लिखा- ‘मैंने उनसे दरख्वास्त की कि हमें हमारा फोन दें ताकि हम अपने परिवार वालों को सूचित कर सकें। लेकिन पुलिस ने मना करते हुए कहा कि उन्हें हम बाद में बुलाएंगे। इसके बाद मुझे बड़ी ही बेरहमी से पीटा गया। पुलिस स्टेशन पहुंचने पर वहां 5 से 6 और पुलिस वाले थे, हमारे वहां पहुंचते ही वह हम पर डंडे बरसाने लगे। मुझे और मेरे भाई को पीटते हुए वह हमें और हमारे परिवार को गंदी-गंदी गालियां देने लगे। काफी पीटने के बाद हमें लॉकअप में बंद कर दिया गया। 2:30 – 3: 00 बजे के बीच जब हमने दोबारा उन्हें अपने परिवार वालों को फोन करने के लिए कहा तो वह बोले- ‘इतनी क्या जल्दी है अभी तो बंद हुए हो। आराम से बुला लेंगे सबको।’

‘सुबह 11 -11.30 के आसपास दो और लोग सिविल ड्रेस में थाने में आए। ताला खोलते हुए उन्होंने हमें बुलाया। वह मेरे भाई (मृदुल) को एक अलग कमरे में ले गए। वहां मेरे भाई को फिर से पीटा गया। इस बीच मैंने उस कमरे से अपने भाई की आवाज सुनी कि ‘मेरा 11.05.2019′ वाली घटना से कोई लेना देना नहीं है। मुझे मत मारो। इसके बाद मुझे भी बालों से पकड़ कर उसी कमरे में लेजाया गया। इसके बाद उन्होंने मुझे 3 डिग्री टॉर्चर किया। मुझे चमड़े के बल्ले से पीटा गया। इस बीच मुझसे कहा गया कि 40 बार तेरे पैरों में मैं इस चमड़े के बेल्ट से मारूंगा और तू गिनेगा। वो बोले कि हर गिनती पर मुझे मारेंगे। उन्होंने मुझे कहा कि अगर मैं गिनती भूला तो वह फिर से गिनना शुरू करेंगे और मारेंगे। उन्होंने मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित करते हुए आगे कहा कि “तुझे अभी कपड़े उतार करेंट भी देंगे तार से”।’

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *