ताज़ा खबर :
prev next

शर्मनाक : उत्तर प्रदेश में फिर दो बहनों के साथ दरिंदगी, आरोपियों ने जान से मारने की दी धमकी

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में कोई कमी नजर नहीं आ रही है। पुलिस और सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी रेप, महिला उत्पीड़न और दहेज हत्या जैसे गंभीर मामले कम होने की बजाए बढ़ते जा रहे हैं। ताजा घटना सूबे के सीतामढ़ी का है।

उत्तर प्रदेश के सीतामढ़ी में सोनबरसा के कन्हौली थाना क्षेत्र के एक गांव में नाबालिग सगी बहनों के साथ 8 युवकों ने गैंगरेप किया। पीड़िताओं के बयान पर महिला थाना में एफआईआर दर्ज की गई है। शुक्रवार को पीड़िता बहनों की सदर अस्पताल में मेडिकल जांच के बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

एक पीड़िता ने पुलिस को बताया कि 19 जून की देर शाम करीब 8 बजे रात को छोटी बहन के साथ दरवाजे पर टहल रही थी। इसी बीच पड़ोस की एक महिला ने पास में टहलने को कहा। तब वे तीनों सड़क पर टहलने गई। घर से थोड़ी दूर जाने पर टॉर्च की रौशनी दिखी, जिसपर दोनों बहनों ने वापस चलने की बात कहीं। इसके बाद साथ गई दोनों बहनों को वहीं छोड़कर भागने लगी। दोनों बहने जबतक वहां से भाग पातीं तब तक युवकों ने दोनों बहनों को पकड़ लिया और खींचकर अपने साथ ले गए।

पिस्टल दिखाकर आरोपियों ने दोनों को जान से मारने की धमकी दी। फिर बारी-बारी से सभी ने दुष्कर्म किया। पीड़ित बहनों ने आरोपियों में शामिल कमलेश कुमार, अनिल कुमार, सुजीत कुमार, नगेंद्र कुमार व उसका एक रिश्तेदार, राजू कुमार, परशुराम और गोविंदा कुमार पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। साथ ही उनलोगों ने किसी को जानकारी देने पर जान से मारने की धमकी भी दी।

सीतामढ़ी के एसपी अनिल कुमार ने बताया कि दोनों पीड़िता की मेडिकल जांच कराई गई है। पीड़िताओं के बयान पर महिला थाना में एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी 8 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

 

 

 

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *