ताज़ा खबर :
prev next

गाज़ियाबाद में शुरू हुआ “जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा”, परिवार नियोजन की उपयोगिता बताएँगी आशा बहने

पूरे सूबे में वृहस्पतिवार से दंपति संपर्क अभियान शुरू हो गया है जो 10 जुलाई तक चलेगा। इस दौरान आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर दंपति से मिलेंगे और उन्हें परिवार नियोजन के फायदे बताएंगी। सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता ने बताया कि वह यह भी समझाएंगी की कैसे दो बच्चों के बीच 3 साल का सुरक्षित अंतर रखें। इतना ही नहीं नवदंपति को वह शादी के दो साल बाद ही पहले बच्चे की सलाह देंगी। संपर्क अभियान के दौरान दंपति को परिवार नियोजन के साधनों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी जाएगी। इसके बाद दूसरे चरण में 11 से 24 जुलाई जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जाएगा। दूसरे चरण में दम्पतियों को परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध कराए जाएंगे। इस पूरे कार्यक्रम की थीम भारत सरकार की ओर से “परिवार नियोजन से निभाएं जिम्मेदारी – मां और बच्चे के स्वास्थ्य की पूरी तैयारी” रखा गया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा एनके गुप्त ने बताया कि पूरे कार्यक्रम का मकसद मातृ व शिशु स्वास्थ्य की बेहतरी के बारे में परिवार कल्याण कार्यक्रम की महत्ता प्रदर्शित करना व जनसंख्या स्थिरीकरण में जन सहयोग के महत्व से लोगों को परिचित कराना है। उन्होंने बताया कि दंपत्ति संपर्क पखवाड़ा बृहस्पतिवार से प्रारंभ हो गया है यह 10 जुलाई तक चलेगा। पहले चरण में आशा एएनएम जनसमुदाय को बेहतर मातृ व शिशु स्वास्थ्य में परिवार नियोजन की विधियों की महत्ता के संबंध में जागरूक करेंगी। जिला स्तर पर डिस्ट्रिक्ट कम्यूनिटी प्रोसेस मैनेजर डीसीपीएमद्ध व ब्लाक स्तर पर बीसीपीएम को यह जिम्मेदारी दी गई है कि वे आशाओं के माध्यम से जनजागरूकता अभियान व सास बहू सम्मेलन का आयोजन कराएं। दूसरा चरण 11 जुलाई से 24 जुलाई तक मनाया जाएगा।

परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ संजय अग्रवाल ने बताया कि आशा और एएनएम परिवार नियोजन के स्थाई साधनों जैसे महिला और पुरुष नसबंदी के बारे में जानकारी देंगी। इसके साथ ही अस्थाई साधन जैसे प्रसव बाद आईयूसीडी यानी कापर टी, अंतरा, आईयूसीडी, छाया, कंडोम और रोजाना खाई जाने वाली गर्भ निरोधक गोली के बारे में जानकारी देंगी और इनके फायदे भी बताएंगी। इससे संबंधित पम्पलेट का भी वितरण किया जाएगा। इन साधनों के इस्तेमाल के लिए रजामंद होने पर सूची तैयार की जाएगी। यह कार्य वृहस्पतिवार से शुरू हो गया है।

इसके बाद अगले चरण में 11 जुलाई से जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा प्रारंभ हो जाएगा। पखवाड़े में सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, जिला अस्पताल में संबंधित जरूरतमंद को उनकी सहमति के आधार पर परिवार नियोजन का स्थाई और अस्थाई साधन मुहैया कराया जायेगा। यानी यदि कोई नसबंदी के लिए रजामंद है तो उसे यह सुविधा दी जाएगी।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *