ताज़ा खबर :
prev next

आतंकी मसूद अजहर के भाई से जुड़े हैं अमरनाथ यात्रा में कटौती के तार, सरकार ने बताए 10 कारण

कश्मीर घाटी में संभावित आत्मघाती हमले और सोपोर में सुरक्षा बलों के प्रतिष्ठानों पर पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों, खासकर जैश ए मोहम्मद की तरफ से आईईडी ब्लास्ट के जरिए निशाना बनाने की रिपोर्ट्स मिली है। जिसके चलते सरकार ने जम्मू कश्मीर में अतिरिक्त सुरक्षाबलों को भेजने के साथ ही अमरनाथ यात्रा में कटौती और आतंकवाद विरोधी बलों को मजबूत करने का फैसला किया है।

सरकार की तरफ से अमरनाथ यात्रा में कटौती को लेकर ये 10 बातें बताई हैं –

1-राष्ट्रीय सुरक्षा प्रतिष्ठानों को मिली रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले महीने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुजफ्फराबाद में मसूद अजहर का बड़ा भाई इब्राहिम अजहर देखा गया था। खुफिया रिपोर्ट्स इस ओर इशारा करती है कि 1999 में हाइजैक हुए आईसी-814 विमान के मुख्य सूत्रधार इब्राहिम अजहर घाटी में घुसपैठ कर अपने बेटे उस्मान हैदर का बदला लेने के लिए भारतीय सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमला करना चाहता है। उस्मान हैदर को जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन के दौरान मार गिराया था।

2-खुफिया जानकारी में ये बात भी सामने आई है कि प्रशिक्षित जैश के आतंकियों ने इब्राहिम अजहर के नेतृत्व में बॉर्डर एक्शन टीमें तैयार कर ली है। इसके साथ ही, नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना की अग्रिम चौकियों के पास आ गई है।

3-इब्राहिम अजहर के बेटे ने अक्टूबर 2018 में जम्मू कश्मीर में घुसपैठ की थी और भारतीय सुरक्षाबलों की तरफ से 30 अक्टूबर 2018 को अवंतिपुरा इलाके में उसे मार गिराय गया था।

4- एक और रिश्तेदारट तलहा रशीद जो मसूद अजहर के ब्रदर इन लॉ का बेटा था उसे पुलवामा के कांडी अगलार में 6 नवंबर 2017 को सुरक्षाबलों ने मार गिराया।

5-खुफिया रिपोर्ट्स में इस बात का पता चलता है कि इब्राहिम अजहर ने जैश कैडर को यह कहकर भेजा कि वे कश्मीर में भारतीय सुरक्षा बलों के खिलाफ लड़ते हुए मरना चाहते हैं। उसी दिन उसका बेटा मारा गया।

6-एक सीनियर सुरक्षा आधिकारिक सूत्र ने बताया कि इब्राहिम अजहर की तरफ से कश्मीर में संभावित आतंकी हमले की योजना के सरकार की तरफ से लिए गए मौजूदा फैसले की एक बड़ी वजह है।

7-पहले ही, भारतीय सुरक्षा प्रतिष्ठानों ने पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा की गतिविधियों में काफी तेजी को नोटिस किया है।
8-जम्मू कश्मीर के एक सीनियर पुलिस ऑफिसर ने कहा- “पाकिस्तान के आंतकी संगठन जैश ए मोहम्मद की तरफ से बड़े आतंकी हमले का खतरा और अमरनाथ यात्रा के रास्ते पर बरामद एम-24 स्नाइपर राइफल और एंटी पर्सनल माइन्स के चलते सरकार ने बिना किसी रिस्क के इस यात्रा में कटौती का फैसला किया। जिसके बाद, इस ड्यूटी से फ्री होने के बाद सुरक्षा बल आतंकवाद विरोधी कार्रवाई पर ध्यान केन्द्रित कर पाएंगे।”

9-इंटेलिजेंस रिपोर्ट्स में इस बात का जिक्र है कि कैसे पाकिस्तान के आतंकी संगठनों की तरफ से कश्मीर में हिंसा फैलाने के लिए कई घुसपैठ की योजनाएं कर रखी है। इनमें कश्मीर घाटी में कई जगहों पर आत्मघाती हमले भी शामिल है।

10-इंटेलिजेंस रिपोर्ट में जैश-ए-मोहम्मद की तरफ से उत्तरी कश्मीर के सोपोर इलाके में सुरक्षा बलों पर आईईडी के जरिए हमला करने की बात सामने आई है। आधिकारिक सूत्र ने बताया कि प्रशिक्षित जैश के आतंकी कश्मीर में घुसपैठ करने और भारतीय सुरक्षाबलों के खिलाफ जोरदार हमले के लिए पेशावर में तैयार है।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *