ताज़ा खबर :
prev next

मौसम की मार – तीन राज्यों में बाढ़ का कहर 131 की मौत, 10 राज्यों में भारी वर्षा की चेतावनी

भारी बारिश से आई बाढ़ ने महाराष्ट्र, कर्नाटक और केरल में तबाही मचा रखी है। इन तीनों राज्यों में अब तक कम से कम 80 लोगों की जान जा चुकी है। अकेले केरल में पिछले चार दिनों में 40 लोगों की मौत हो गई। महाराष्ट्र में 29 और कर्नाटक में 11 लोग मारे जा चुके हैं। केरल में 22 हजार से अधिक लोगों को राहत शिविरों में लाया गया है। केरल के 8 और कर्नाटक के 15 जिले बाढ़ की चपेट में हैं। जबकि पश्चिमी महाराष्ट्र के पांच जिले बाढ़ से प्रभावित हैं। मौसम विभाग ने शुक्रवार को मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र समेत 10 राज्यों में भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया है।

केरल –
केरल सरकार ने शुक्रवार को स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी। वायनाड में भूस्खलन होने से दो लोगों की जान चली गई। एनडीआरएफ ने यहां 54 लोगों को बचाया। कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के पार्किंग क्षेत्र में पानी भर जाने के कारण पहले तो शुक्रवार को आधी रात तक विमान परिचालन बंद किया गया था। अब यह रविवार दोपहर तीन बजे तक बंद रहेगा। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पतनमतिट्टा, अलप्पुझा, कोट्टायम, इडुक्की, एर्नाकुलम और त्रिशूर जिलों में एक या दो स्थानों पर मध्यम से भारी बारिश होने और 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है।

महाराष्ट्र –
महाराष्ट्र के दो लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। सांगली और कोल्हापुर जिले बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं। पश्चिमी महाराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित सांगली जिले में भारतीय नौसेना के 12 बचाव दलों को तैनात किया जा रहा है।

कर्नाटक –
कर्नाटक में कृष्णा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है। 51 तहसीलों में 44 हजार लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया। 272 राहत शिविरों में करीब 17 हजार लोगों को रखा गया। मौसम विभाग ने शुक्रवार को सात जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं, तमिलनाडु में 100 परिवारों को बचाया गया है। ओडिशा में 13 ट्रेन अभी तक रद्द की जा चुकी हैं।

उत्तराखंड –
उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में गुरुवार रात से कई जगह बादल फटे और भारी बारिश हुई। चमोली में मां-बेटी सहित तीन व्यक्ति लापता हुए। टिहरी-रुद्रप्रयाग में दर्जनों मकान, दुकान क्षतिग्रस्त। बड़ी संख्या में मवेशी बह गये ।

मध्य प्रदेश –
बंगाल की खाड़ी में बने मजबूत सिस्टम से भोपाल, खंडवा, होशंगाबाद, धार समेत कई जिलों में गुरुवार शाम से भारी बारिश हो रही है। गुरुवार को खरगोन 203 मिलीमीटर, धार में 204, मंडला में 178, खंडवा में 152, पंचमढ़ी में 155, गुना में 115, बुरहानपुर में 102 और भोपाल में 40 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

मौसम विभाग की चेतावनी
मौसम विभाग ने 17 पूर्वी एवं दक्षिणी जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी दी है। राजस्थान के बांसवाड़ा, भीलवाडा, बूंदी, चित्तौड़गढ़ और प्रतापगढ़ में अगले 24 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर भारी और कुछ स्थानों पर अत्यधिक वर्षा होने का अनुमान है।

राहत और बचाव कार्य में प्रगति
गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि बाढ़ प्रभावित चार राज्यों महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक और गुजरात में राहत और बचाव कार्यों के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की लगभग 83 टीमें भेजी गई हैं। एनडीआरएफ के महानिदेशक ने बैठक में बताया कि एनडीआरएफ की 83 टीमों ने सभी जरूरी उपकरणों के साथ चारों बाढ़ प्रभावित राज्यों के संवेदनशील इलाकों में मोर्चा संभाल लिया है। ये टीमें सेना, नौसेना, वायुसेना और तटरक्षक बलों की 173 टीमों के साथ मिलकर काम कर रही हैं। एनडीआरएफ की एक टीम में लगभग 45 कर्मी होते हैं।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *