ताज़ा खबर :
prev next

जम्मू-कश्मीर के 5 जिलों में बहाल हुई 2जी इंटरनेट सेवाएँ, लैंड लाइन फोनों की भी बजने लगी घंटी

केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में लगाए गए प्रतिबंध को धीरे-धीरे हटाना शुरू कर दिया है। आज कई इलाकों में 2जी इंटरनेट सेवा शुरू कर दी गई है। राज्य सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि कश्मीर घाटी के 17 एक्सचेंज में लैंडलाइन सेवाएं बहाल कर दी गई हैं। आपको बता दें कि केन्द्र सरकार के जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के कुछ प्रावधान हटाने के बाद पांच अगस्त से ही यहां मोबाइल फोन और लैंडलाइन सेवाओं सहित टेलीफोन सेवाएं स्थगित कर दी गई थीं।

अधिकारियों ने बताया कि 100 से अधिक टेलीफोन एक्सचेंज में से 17 को बहाल कर दिया गया। ये एक्सचेंज अधिकतर सिविल लाइन्स क्षेत्र, छावनी क्षेत्र, श्रीनगर जिले के हवाई अड्डे के पास है। मध्य कश्मीर में बडगाम, सोनमर्ग और मनिगम में लैंडलाइन सेवाएं बहाल की गई हैं। उत्तर कश्मीर में गुरेज, तंगमार्ग, उरी केरन करनाह और तंगधार इलाकों में सेवाएं बहाल हुई हैं। वहीं दक्षिण कश्मीर में काजीगुंड और पहलगाम इलाकों में सेवाएं बहाल की गई हैं।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, जम्मू, रियासी जिले, सांबा, कठुआ और उधमपुर में टूजी इंटरनेट सेवा शुरू कर दी है। राज्य के मुख्य सचिव बी.वी.आर.सुब्रमण्यम ने शुक्रवार को यह घोषणा की थी कि सप्ताहांत के बाद कश्मीर घाटी के सभी स्कूलों फिर से खुलेंगे, जबकि सरकारी कायार्लयों में शुक्रवार से कामकाज हो गया। अधिकारी ने कहा था कि दूरसंचार लिंक धीरे-धीरे बहाल होंगे। उन्होंने कहा कि सीमा पार से आने वाले आक्रामक बयानों के मद्देनजर 14 व 15 अगस्त को कुछ प्रतिबंध जरूरी थे।

मोबाइल कनेक्टिविटी बहाल करने पर उन्होंने कहा कि यह चरणबद्ध तरीके से धीरे-धीरे की जाएगी। ऐसा आतंकी संगठनों द्वारा मोबाइल कनेक्टिविटी का इस्तेमाल संगठित रूप से आतंकी कार्रवाई करने के लगातार खतरे को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा। घाटी में मोबाइल कनेक्टिविटी 4 अगस्त से बंद है।

सुब्रमण्यम ने कहा कि 22 जिलों में से 12 में कामकाज सामान्य है। उन्होंने कहा, “ऐसे उपाय किए गए जिससे सुनिश्चित किया गया कि एक भी जान का नुकसान नहीं हो या कोई भी गंभीर रूप से घायल नहीं हो। यह इंतजाम शांति व व्यवस्था बनाए रखने के लिए किया गया। आतंकवादी संगठनों व कट्टरवादी समूहों के पुख्ता प्रयास के बावजूद हमने जनहानि को रोका। पाकिस्तान द्वारा हालात को अस्थिर करने का लगातार प्रयास किया गया।”
व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

#incredibleINDIA #BreakingNews #Ghaziabad #HamaraGhaziabad #indian #india #follow #instagram #NewIndia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *