ताज़ा खबर :
prev next

बधाई की रकम और वर्चस्व की भेंट चढ़ चुके हैं कई किन्नर

गाजियाबाद। कविनगर थानांतर्गत मधुबन कॉलोनी में रविवार को मॉर्निंग वॉक के दौरान बाइक सवार अज्ञात बदमाशों ने किन्नर आँचल को गोली मार दी। जिसके बाद गंभीर हालत में उन्हें सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया गया। बता दें कि किन्नर आँचल ने थाने में पहले से ही जान का खतरा होने की रिपोर्ट दर्ज करा रखी है।

बता दें कि यह इस प्रकार की कोई पहली घटना नहीं है। दरअसल बधाई की रकम और वर्चस्व की भेंट पहले भी कई किन्नर चढ़ चुके हैं । जहां विभिन्न मामलों के खुलासे ने आपसी रंजिश और बंटवारा ही खूनी जंग का कारण निकला है।

4 जुलाई 2015 को घंटाघर कोतवाली क्षेत्र में भी गोलियों की तरह के बाद एक किन्नर नेता ने दम तोड़ दिया था। गुरु दयारानी को भट्ठा इलाके में रहती थीं। पता चला है कि वह घर पर अकेली रहती थीं। जहां अज्ञात बदमाशों ने सोते समय उन्हें घर में गोलियों से भून दिया था बाद में इस मामले का खुलासा हुआ तो मामला हिंडन पार क्षेत्र में बधाई की रकम से जुड़ा हुआ निकला था इसमें तीन लोगों को हत्या के आरोप में जेल भेजा गया था। पकड़े गए आरोपी सुपारी किलर जिन्होंने सुपारी लेकर गया रानी किन्नर को मौत के घाट उतारा था।

31 जनवरी 2019 को भी एक किन्नर को मौत के घाट उतार दिया गया था। मुरादनगर क्षेत्र की डागर कॉलोनी में एक महिला किन्नर की हत्या से सनसनी फैल गई थी। 35 साल की किन्नर शबाना घर के अंदर मृत पाई गई। आशंका व्यक्त की गई थी कि उसके सिर पर किसी भारी चीज से वारकर हत्या की गयी। पुलिस ने अज्ञात शख्स के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। किन्नर किराये के मकान में अकेली रहती थी।

इसके अलावा थाना सिहानी गेट क्षेत्र में रहने वाली सोनम और खुशबू नाम की किन्नर पर भी गत वर्ष 16 मार्च को मुरादनगर थाना क्षेत्र की पाइप लाइन मार्ग पर हमला हुआ था। जिसमें दोनों ही किन्नर बुरी तरह घायल हो गए थे। पुलिस के मुताबिक अज्ञात हमलावरों ने पीड़ित पक्ष की स्कॉर्पियो गाड़ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग की थी लेकिन चालक की सूझबूझ के चलते हमलावर अपने मंसूबों में पूरी तरह कामयाब नहीं हो सके थे इस मामले के तार भी एक किन्नर ग्रुप पर जुड़े थे जिन्होंने सुपारी किलर के माध्यम से वारदात को अंजाम दिलवाया था।

पांच क्षेत्रों में लाखों  रुपए का है बधाई कारोबार

दरअसल किन्नर समुदाय के बीच बहुत समय से बधाई की रकम को लेकर तनाव की स्थिति है। गुरु ग्राम स्थित गुरु अखाड़ा के किन्नरों को अलग.अलग क्षेत्र वितरित कर दिया जाता है। साथ ही हिदायत दी जाती है कि किसी दूसरे के क्षेत्र में दखलअंदाजी ना करें लेकिन कभी.कभी निजी संबंधों के चलते किन्नर दूसरे के क्षेत्र में जाने अनजाने में दखलअंदाजी कर बैठते हैं। थोड़ा सा लालच और निजी संबंधों को निभाने के लिए जब किन्नर अपने निर्धारित क्षेत्र के बाहर जाते हैं तो अक्सर विवाद उत्पन्न हो जाता है। बताया जाता है कि गाजियाबाद में 3000 से ज्यादा किन्नर सक्रिय हैं जो कि पांच क्षेत्रों में विभाजित हैं।

  •  हिंडन पार क्षेत्र में वैशाली, वसुंधरा, कौशांबी, सूर्यनगर, साहिबाबाद, राजेंद्र नगर, इंद्रप्रस्थ, लिंक रोड थाना क्षेत्र आता है।
  •  लोनी, फर्रुखनगर, टीला मोड़, डीएलएफ कॉलोनी, तुलसी निकेतन, करण गेट, सिकंदरपुर, पसौन्डा आदि क्षेत्र हैं।
  •  नंदग्राम, घुकना, सिहानी गांव, लोहिया नगर, पटेल नगर, कविनगर, नेहरूनगर, गांधीनगर, शास्त्रीनगर आदि क्षेत्र है।
  •  विजय नगर, प्रताप विहार, भूड़ भारत नगर, रेलवे स्टेशन,चमन कॉलोनी, कैला भट्टाए सादिक नगर आदि क्षेत्र हैं।
  •   गोविंदपुरम, मसूरी, काशीपुरा, राष्ट्रीय राजमार्ग-9, लाल कुआं, संजय नगर आदि क्षेत्र है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *