ताज़ा खबर :
prev next

दिल्‍ली : अफसरों के समझाने से भी नहीं माने पुलिसकर्मी, पुलिस कमिश्‍नर ने कही ये बात

नई दिल्‍ली। तीस हजारी में दिल्‍ली पुलिसकर्मियों और वकीलों के बीच हुए संघर्ष के बाद कड़कड़डूमा और साकेत कोर्ट में भी वकीलों द्वारा पुलिसवालों से मारपीट किए जाने की घटनाओं से दिल्‍ली पुलिस में आक्रोष है। नतीजतन मंगलवार को सैंकड़ों पुलिसकमियों ने पुलिस हेडर्क्‍वाटर के बाहर जमकर प्रदर्शन किया। पहले पुलिस के आला अफसर उनका गुस्‍सा शांत कराने की कोशिश कराते रहे, लेकिन प्रदर्शनकारी पुलिसकर्मी नहीं माने।

हालात काबू में न होते देख पुलिस कमिशनर अमूल्‍य पटनायक को पुलिस मुख्‍यालय से बाहर आना पड़ा और प्रदर्शन कर रहे पुलिसवालों को समझाना पड़ा। उन्‍होंने ‘वी वॉन्‍ट जस्टिस’ की लगातार नारेबाजी कर रहे पुलिसकर्मियों से जोर देकर कहा कि यह परीक्षा, अपेक्षा और प्रतीक्षा की घड़ी है, इसलिए न्‍यायिक जांच की रिपोर्ट का इंतजार करें और अपने काम पर वापस लौटें। साथ ही उन्‍होंने कहा कि साकेत कोर्ट में जिस तरह पुलिसकर्मी के साथ वकीलों ने मारपीट की, उस पर कानूनन कार्रवाई की जाएगी।

‘वी वॉन्‍ट जस्टिस’ के नारे लगा रहे दिल्‍ली पुलिसकर्मियों और उनके परिजनों को समझाने के लिए पुलिस कमिशनर पटनायक दोपहर 12.40 बजे PHQ के बाहर आए। नारेबाजी की वजह से पहले काफी देर तक वह बोल नहीं पाए, लेकिन बाद में उन्‍होंने कहा कि ‘दिल्‍ली पुलिस के मेरे साथियों, भाईयों और बहनों. सबसे पहले आपसे अपील करना चाहूंगा कि आप शांति बनाए रखें। मुझे पूरा विश्‍वास है कि आप लोग शांति बनाए रखेंगे।

अभी पिछले कुछ दिनों में हुई घटनाएं दिल्‍ली पुलिस के लिए परीक्षा की घड़ी है। वैसे दिल्‍ली पुलिस हमेशा चुनौतियां देखती आई है। तरह-तरह के हालात को हैंडल करते रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में हमने ऐसी घटनाएं देखीं, जिन्‍हें हमने पूर्व में भी देखा है ओर संभाला भी। हालात को हम परीक्षा की तरह मानें और हमें जो जिम्‍मेदारी कानून व्‍यवस्‍था संभालाने की मिली हुई है, उस पर थोड़ा ध्‍यान दें।

उन्‍होंने आगे कहा कि हमें पूरी उम्‍मीद है कि है कि हम स्थिति को सही तरह से निपटाएंगे। मैं यह कहना चाहूंगा कि यह पीरक्षा के साथ-साथ अपेक्षा की भी घड़ी है। सरकार और जनता की तरफ से हमसे काफी उम्‍मीदें रखी जाती हैं, क्‍योंकि हम कानून के रखवाले हैं।

उन्‍होंने कहा कि मैं बताना चाहूंगा कि यह परीक्षा, अपेक्षा और प्रतीक्षा की भी घड़ी है। प्रतीक्षा इसलिए क्‍योंकि हाईकोर्ट के आदेश से न्‍यायिक जांच बैठी है। हमें उस पर विश्‍वास रखना चाहिए, इसलिए प्रतीक्षा करनी चाहिए। जो भी घटनाएं हुई हैं, उसमें कार्रवाई की जाएगी। साकेत कोर्ट जैसी घटना पर हम कानूनी कार्रवाई करेंगे। जो भी फाइंडिंग आएंगी, उसके अनुसार आगे बढ़ेंगे। दिल्‍ली पुलिस उत्‍कृष्‍ट पुलिसबल माना जाता है, इसलिए आप लोग डयूटी पर वापस जाएँ।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *