ताज़ा खबर :
prev next

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले बढ़ाई गई सबरीमाला की सुरक्षा, 10 हजार जवान तैनात

तिरुवनंतपुरम। सुप्रीम कोर्ट के फैसले और मंडलम मकर विलक्कू उत्सव से पहले सबरीमाला मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। मंदिर परिसर के आसपास 10 हजार से ज्यादा पुलिस जवानों की तैनाती की जा रही है। इसके साथ ही 16 नवंबर से वहां पर मंडलम मकर विलक्कू उत्सव शुरू हो रहा है, इस उत्सव को देखते हुए सुरक्षा पर लगातार नजर रखी जा रही है।

दो महीने तक चलने वाले इस वार्षिक तीर्थयात्रा के लिए पांच स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। डीजीपी लोकनाथ बेहरा ने कहा कि इस साल तीर्थयात्रा के दौरान  सबरीमाला के आसपास कड़ी सुरक्षा रखी जाएग और 10,017 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

पांच चरणों में होने वाली यह तैनाती 15 नवंबर से शुरू की जाएगी। केरल पुलिस के एडीजीपी एस दर्वेश साहेब को इस सुरक्षा को लेकर मुख्य समन्वयक बनाया गया है। मंदिर 16 नवंबर को मंडला पूजा त्योहार के लिए खुलेगा।

सुरक्षा को लेकर की जा रही तैनाती में 24 पुलिस अधीक्षक (एसपी) और सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी) रैंक के अधिकारी शामिल होंगे। 112 डिप्टी सुपरिटेंडेंट (DySP), 264 सर्किल इंस्पेक्टर (CI) और 1185 सब इंस्पेक्टर/ सहायक सब इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी सुरक्षा की तैनाती में रहेंगे।

क्या महिला अफसरों की होगी नियुक्ति?
सबरीमाला मंदिर की सुरक्षा में 8402 सिविल पुलिस अफसरों में 307 महिला अफसर भी शामिल होंगी। सीआई, एसआई रैंक की 30 अतिरिक्त महिला पुलिस अफसरों को इस त्योहारी सीजन में लगाया जाएगा।

पहले चरण में 15 नवंबर से 30 नवंबर के बीच 2551 पुलिसकर्मियों को सन्नीधानम, पांबा, निलाक्कल और इरुमेली में तैनात किया जाएगा। इसे 2 एसपी रैंक के अधिकारी भी होंगे।

दूसरे चरण में 30 नवंबर से 14 दिसंबर के बीच 2539 अधिकारियों को तैनात किया जाएगा। जबकि तीसरे और चौथे चरण में क्रमशः 2992 और 3077 अफसरों की ड्यूटी सुरक्षा के लिए की जाएगी। वहीं राज्य की स्पेशल ब्रांच से 1560 अतिरिक्त पुलिस अधिकारियों को भी सन्नीधानम, पांबा और निलाक्कल में लगाया जाएगा। हालांकि विभाग ने सन्नीधानम में महिलाओं की नियुक्ति को लेकर कोई फैसला नहीं किया गया है।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *