ताज़ा खबर :
prev next

सब्जी मंडी में तैनात हेल्थ इंस्पेक्टर को कारण बताओ नोटिस जारी

गाज़ियाबाद। सब्जी मंडी निरीक्षण के मामले में एक और हेल्थ इंस्पेक्टर निशाने पर आ गए हैं। उन्हें नगर निगम की ओर से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। हेल्थ इंस्पेक्टर अशोक बघेल को यह नोटिस जारी किया गया है। 15 दिनों के अंदर उन्हें अपना जवाब देना है। इससे पहले इसी प्रकरण में सफाई नायक कालीचरण को सस्पेंड कर दिया गया। उधर, अपर नगरायुक्त प्रमोद कुमार से भी स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।

गत दिनों मुख्य सचिव आरके तिवारी ने सब्जी मंंडी का निरीक्षण किया था। इस दौरान सब्जी मंडी में कूड़े के ढेर पड़े मिले थे। इसको लेकर ही उन्होंने नाराजगी व्यक्त की थी। इस मामले में तत्काल ही तीन कर्मचारियों को सस्पेंड किया गया था, जिनमें दो सफाई नायक सतीश कुमार, कालीचरण और एक लाइट इंस्पेक्टर बिशम्बर शर्मा शामिल थे। मगर इसके बाद भी कई कर्मचारी नगर निगम के निशाने पर हैं।
इस मामले में सब्जी मंडी के सफाई नायक कालीचरण को सस्पेंड करने के बाद उन्हें नंदीपार्क से अटैच कर दिया गया। कालीचरण के बाद अब इस मामले में हेल्थ इंस्पेक्टर अशोक कुमार बघेल निशाने पर आ गए हैं। अब नगर निगम उनको भी कारण बताओ नोटिस जारी करने जा रहा है। इसके लिए नगरायुक्त ने निर्देश जारी किये हैं।
हेल्थ अफसर वीपी शर्मा का कहना है कि नगर निगम प्रशासन जल्द ही अशोक कुमार बघेल को नोटिस जारी करेगा। इन पर आरोप है कि इन्होंने निरीक्षण के दौरान ठीक से सफाई व्यवस्था की मॉनिटरिंग नहीं की। जिसके कारण वहां कूड़े के ढेर पड़े मिले और मुख्य सचिव के सामने नगर निगम की खूब किरकिरी हुई। उधर, एक अन्य मामले में अपर नगरायुक्त प्रमोद कुमार से भी स्पष्टीकरण मांगा जा रहा है।
अपर नगरायुक्त ही शिकायत प्रकोष्ठ के प्रभारी हैं। इस मामले में मुख्य सचिव आरके तिवारी ने शिकायत प्रकोष्ठ के प्रभारी पर एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिये थे। इस प्रकरण में एफआईआर दर्ज न कर अब इन अपर नगरायुक्त से स्पष्टीकरण मांगा जा रहा है। निरीक्षण के दौरान शिकायत प्रकोष्ठ में मुख्य सचिव ने खामी पकड़ी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *