ताज़ा खबर :
prev next

दिव्यांग बच्चों के लिए तीन पार्कों को किया जाएगा विकसित

गाज़ियाबाद। महानगर में जीडीए द्वारा दिव्यांग बच्चों के लिए तीन विशेष पार्क विकसित किया जाएगा। इन पार्कों में विकसित की जाने वाली सुविधाओं के जरिए बच्चों को खेलने, घूमने सहित विज्ञान व अन्य विषयों की जानकारी हासिल होगी। जीडीए की योजना में इंदिरापुरम, मधुबन-बापूधाम योजना और राजनगर में इन पार्कों को विकसित करने की है। प्राधिकरण ने इन पार्कों को विकसित करने का खाका तैयार कर लिया है। इन तीन पार्कों के अलावा भविष्य में जीडीए की ओर से दिव्यांग बच्चों की सुविधाओं को समाहित कर पार्क विकसित किए जाएंगे।

इन पार्कों को उज्जैन में दिव्यांगों के लिए बनाए गए पार्क की तर्ज पर विकसित किया जाएगा। पार्क को विकसित करने के लिए जीडीए ने सलाहकार की नियुक्ति कर ली है। सलाहकार की ओर से एक सप्ताह में पार्क का ले-आउट तैयार कर जीडीए को सौंपा जाएगा। पार्क में दिव्यांगों को बेहतर सुविधाएं देने के उद्देश्य से स्वयंसेवी संस्थाओं से विचार-विमर्श कर उनके सुझावों को भी शामिल किया जाएगा। योजना में दिव्यांगों के लिए काम करने वाले एनजीओ को भी सलाह के लिए जोड़ा जाएगा।

सलाहकार एजेंसी की ओर से तैयार किए जा रहे ले-आउट पर भी स्वयंसेवी संस्थाओं से बातचीत कर उनकी सहमति ली जाएगी। इसके बाद ही फाइनल ले-आउट पर मुहर लगेगी। जीडीए अधिकारियों के मुताबिक पूरी प्रक्रिया को एक माह के अंदर पूरा कर लिया जाएगा। फिर सिलसिलेवार एक-एक कर पार्क को विकसित करने का काम शुरू होगा। पार्कों में दिव्यांगों के लिए विशेष सुविधाएं तो होंगी ही, आम लोग भी इन पार्कों में घूमने-टहलने आ सकेंगे। इन पार्कों को विकसित करने का उद्देश्य दिव्यांग बच्चों को समाज की मुख्य धारा से जोड़कर उनके आत्मविश्वास में वृद्धि करना है।
इन पार्कों का किया गया चुनाव

जीडीए अधिकारियों के मुताबिक इंदिरापुरम में रानी अवंती बाई पार्क का इस योजना के लिए चयन किया गया है। मधुबन बापूधाम योजना में मुख्य सिटी पार्क का चुनाव किया गया है। जबकि राजनगर में सेंट्रल पार्क के साथ किसी अन्य एक पार्क को विकसित करने पर मंथन किया जा रहा है। इस पर निर्णय जल्द लिया जाएगा।

इन पार्कों में दिव्यांगों के अनुसार विशेष सुविधाएं विकसित की जाएंगी। पार्क में नेत्रहीनों के लिए विशेष टाइल्स का परिक्रमा पथ विकसित किया जाएगा। व्हील चेयर पर चलने वालों के लिए विशेष परिक्रमा पथ बनाया जाएगा। दिव्यांग बच्चों के लिए विशेष झूले होंगे। ओपन जिम में एक्यूप्रेशर वाले विशेष परिक्रमा पथ और सेंसरी पिट में विभिन्न चीजों को छूकर अनुभव करने की सुविधा होगी। पार्क में ब्रेललिपि वाले बोर्ड लगाए जाएंगे, जिससे पार्क में आने वाले दिव्यांग उन पौधों को छूकर पहचान सकें । पार्कों में एक चिट-चिट हॉल विकसित होगा, यहां इंडोर खेलों की सुविधा होगी। विज्ञान जोन में साइंस के चमत्कारों की जानकारी दी जाएगी।

जीडीए अधिकारियों के मुताबिक भविष्य में विकसित किए जाने वाले सभी पार्कों में जीडीए की ओर से दिव्यांगों के लिए विशेष जोन विकसित किया जाएगा। जीडीए की योजना भविष्य में मुख्य रूप से मधुबन-बापूधाम योजना, इंदिरापुरम विस्तार योजना, कोयल एंक्लेव और इंद्रप्रस्थ योजना में नए पार्कों को विकसित करने की है।

 

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *