ताज़ा खबर :
prev next

सरकारी मदद पाने के लिए रची सामूहिक दुष्कर्म की कहानी, दो महिलाएं गिरफ्तार

गाज़ियाबाद। वर्तमान में रेप की कई घटनाएं सामने आ रही है। जिनमें से सभी सही हो यह कहा नहीं जा सकता। इनमें से अधिकांश मामले ऐसे होते हैं जिनमें प्यार, शादी व आपसी रंजिश के कारण झूठा रेप केस बनाकर आरोपी को जेल भेज दिया जाता है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है। जहाँ दो महिलाओं ने रेप पीड़िता को मिलने वाली सरकारी सहयता प्राप्त करने के लिए अपने साथ सामूहिक दुष्कर्म होने की कहानी रच डाली ।

मसूरी थाना क्षेत्र अंतर्गत दो महिलाओं द्वारा सरकारी सहायता पाने के लिए सामूहिक दुष्कर्म झूठा रेप केस बनाने का मामला सामने आया है। कविनगर पुलिस ने बताया कि बीती रात आर टी सेट थाना कविनगर द्वारा डासना टोल के पास फटे हुए कपड़े व बेहोशी की हालत में एक महिला के मिलने सूचना मिली। जिसे पुलिस द्वारा बेहोशी की हालत में संजयनगर जिला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराई गई। इस सूचना पर एस आई मनीष कुमार अपनी पुलिस टीम के साथ हॉस्पिटल पहुंचे और तहकीकात की।

पुलिस द्वारा पूछताछ करने पर महिला ने बताया कि वह सुबह ड्यूटी पर हापुड़ गई थी। वापस मसूरी आने के लिए उसने हापुड़ से एक छोटा हाथी में सवार होकर आ रही थी। महिला का आरोप था कि छोटा हाथी में चालक व एक अन्य व्यक्ति द्वारा उसका सामुहिक दुष्कर्म किया गया और वे कुछ समय बाद छजारची टोल पार करके डासना फ्लाईओवर के पास फेंकर चले गए।

वहीं जब पुलिस द्वारा महिला को मेडिकल चेकअप के लिए बोला गया तो उसने चेकअप करवाने से इनकार कर दिया। साथ ही वह घटना के बारे में और अभी बातें बनाने लगी। शक होने पर उक्त घटना के संबंध में और भी जानकारी की जा रही थी तभी अस्पताल में एक महिला घूमती हुई मिली जो पहले भी शहजाद के पास ताक झाक कर चुकी थी।

पुलिस द्वारा महिला से नाम, पता व हॉस्पिटल आने का कारण पूछा गया। महिला ने बताया कि उसका नाम रेशमा पत्नी अकबर निवासी होली क्रोस अस्पताल है। रेशमा और शहजादी पतियों द्वारा छोड़े जाने के बाद पैसा कमाने के लिए देह व्यापार करती हैं। कई दिनों से कोई काम नहीं होने के कारण उन्होंने एक योजना बनाई। आज कल सड़कों पर सामुहिक दुष्कर्म का मुकदमा लिखाने पर महिलाओं को काफी पैसे सरकार दे रही है। इसी के आधार पर सरकार से पैसे ऐंठने के लिए दोनों ने योजना बनाई। और उसी के आधार पर घटना को अंजाम दिया।

वहीं जब पुलिस ने शहजादी से इस संबंध में बात की तो वह गलती की माफी मांगते हुए रेशमा की बातों का समर्थन किया । जिसके बाद पुलिस ने शहजादी व रेशमा द्वारा थाना क्षेत्र अंतर्गत साक्ष्य गढ़ना एवं छल करके सरकारी धनराशि प्राप्ति व आपराधिक षड्यंत्र रचकर कार्य की झूठी सूचना देने पर दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर लिया है। दोनों अभियुक्ताओं को जेल भेजा जा रहा है।

 

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *