ताज़ा खबर :
prev next

नागरिक संशोधन कानून – गाज़ियाबाद में तीन स्थानों पर हुआ पथराव, 60 को लिया पुलिस ने हिरासत में

शुक्रवार को गाज़ियाबाद जिले में भी नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जगह-जगह पर विरोध प्रदर्शन हुए। अधिकांश रूप इस प्रदर्शन में अल्पसंख्यकों ने ही भाग लिया। पथराव और हिंसा की खबरें भी उन्हीं इलाकों से ज्यादा आईं जहां अल्पसंख्यक बहुलता में हैं। कैला भट्टा, मुरादनगर और साहिबाबाद में उग्र प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया। इन क्षेत्रों में प्रशासन ने पीएसी के जवान तैनात कर दिए गए हैं।

कैला भट्टा
सबसे अधिक हिंसा कैला भट्ठा क्षेत्र में हुई जहां भारी तादाद में मुसलमान रहते हैं। पुलिस के अनुसार जस्सीपुरा चौक पर 5-6 हजार लोगों की भीड़ इकट्ठी हो गई। आपको बता दें कि यह जिले का एक संवेदनशील क्षेत्र है और मरकज़ मस्जिद और ईदगाह के बीच में पड़ता है। जुम्मे की नमाज़ के बाद लोगों ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और थोड़ी ही देर में प्रदर्शन ने उग्र रूप ले लिया।
एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि कैला भट्ठा और जस्सीपुरा की गलियों में लोग इकट्ठा होकर जस्सीपुरा चौक पर एकत्र होने लगे। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों भीड़ को समझा-बुझा कर हटाने लगे तभी भीड़ ने पुलिस पार्टी पर पथराव शुरू कर दिया जिससे कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। मजबूरी में पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा। पुलिस अधीक्षक ने लाउडस्पीकर की मदद से उग्र भीड़ को शांत किया जिसके बाद यहाँ स्थिति नियंत्रण में है। इस हिंसक प्रदर्शन के बाद इलाके की सड़कें ईंट-पत्थरों से पट गईं।
वहीं प्रदर्शनकारियों का कहना है कि हमारी योजना शांतिपूर्ण प्रदर्शन की थी मगर कुछ शरारती तत्व भीड़ में शामिल हो गए और उन्होंने अचानक पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इंडियन शेख अब्बासी अल्पसंख्यक महासभा के प्रदेश सचिव हाजी फख़रुद्दीन ने पुलिस पर हुए पथराव की घटना पर खेद व्यक्त करते हुए कहा कि उनका उद्देश्य एसएसपी और डीएम को शांतिपूर्ण तरीके से ज्ञापन देना था।
साहिबाबाद
साहिबाबाद के पसौंडा क्षेत्र में हुए एक दूसरे हिंसक प्रदर्शन में सैकड़ों की तादाद में एकत्र प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया। क्षेत्राधिकारी (साहिबाबाद) राकेश मिश्रा ने हमारा गाज़ियाबाद को बताया कि पुलिस ने तीन बार भीड़ को शांतिपूर्ण तरीके से तितरबितर करने की कोशिश कि मगर प्रदर्शनकारियों का पथराव जारी रहा। मजबूरी में पुलिस को लाठीचार्ज का सहारा लेना पड़ा। राकेश मिश्रा ने बताया कि भीड़ पर नियंत्रण के लिए पुलिस ने आँसू गैस के दस राउंड छोड़े। उन्होंने बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर हिसंक प्रदर्शनकारियों की पहचान की जा रही है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
मुरादनगर
मुरादनगर के ओलिम्पिक चौराहे पर हुए हिंसक प्रदर्शन में भी कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। एसपी (ग्रामीण) नीरज जादौन ने बताया कि जुम्मे की नमाज़ के बाद प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को तीन ओर से घेरकर पथराव शुरू कर दिया जिसमें दो पुलिस अधिकारी और एक कांस्टेबल बुरी तरह से घायल हो गए। भीड़ को तितरबितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। नीरज जादौन ने बताया कि 15-16 हिंसक प्रदर्शनकारियों कि पहचान कर गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि यहाँ पुलिस ने रबर बुलेट्स के 10 राउंड चलाए और 3 राउंड आँसू गैस का इस्तेमाल किया।
आपको बता दें कि शुक्रवार को जुम्मे की नमाज के बाद अल्पसंख्यकों द्वारा उग्र हिंसक प्रदर्शन की आशंका के चलते जिला प्रशासन ने व्यापक इंतजाम किए हुए थे। जिले के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में भारी संख्या में पुलिसबल तैनात था। जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय और एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने खुद इन इलाकों में जाकर सुरक्षा व्यवस्था का जाएजा लिया और स्थानीय मुस्लिम नेताओं से मिलकर उन्हें नागरिकता संशोधन कानून के बारे में विस्तार से बताया। यही कारण है कि डासना-मसूरी और लोनी के मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में शांति कायम रही।हालांकि लोनी के रशीद अली गेट इलाके में 5-10 हज़ार लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई मगर मौके पर मौजूद पुलिसबल ने भीड़ को शांत कर तितरबितर कर दिया।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
#NationalNews, #BreakingNews, #Ghaziabad, #HamaraGhaziabad, #CitizenshipBill, #MarketNews, #HindiNews, #UPNews, #IndiaNews, #CitizenshipAmmendmentAct

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *