ताज़ा खबर :
prev next

हिंसा करने खुद से पूछें, क्या उनका रास्ता सही है? – लखनऊ में बोले प्रधानमंत्री मोदी

आज लखनऊ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा का अनावरण करते हुए कहा कि यहां आने से पहले मैं दिल्ली में अटल भूजल योजना की शुरुआत कर रहा था। इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश समेत भारत के सात राज्यों में भूजल के स्तर को सुधारने के लिए काम किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी सरकार का वीजन यूपी सहित देशभर के हेल्थ सेक्टर के विकास के लिए साफ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारा प्रयास है कि सरकार उलझाने की बजाय सुलझाने का माध्यम बने।

संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हुए हिंसक प्रदर्शनों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा ‘यूपी में कुछ लोगों ने विरोध प्रदर्शन के नाम पर हिंसा की। वे खुद से सवाल पूछें कि क्या उनका यह रास्ता सही था? जो कुछ जलाया गया क्या वह उनके बच्चों के काम नहीं आने वाला था? हिंसा में जिन लोगों की मृत्यु हुई, जो लोग जख्मी हुए उनके परिवार पर क्या बीती होगी। मैं अफवाहों में आकर सरकारी सम्पत्ति को तोड़ने वालों से आग्रह करूंगा कि सार्वजनिक सम्पत्ति को बचाकर रखना उनका भी दायित्व है।’

पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न अटल बिहारी बाजपेयी को याद करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अटल जी कहते थे कि जीवन को टुकड़ों में नहीं देखा जा सकता, उसको समग्रता में देखना होगा। यही बात सरकार के लिए भी सत्य है, सुशासन के लिए भी सत्य है। सुशासन भी तब तक संभव नहीं है, जब तक हम समस्याओं को संपूर्णता में, समग्रता में नहीं सोचेंगे।

उन्होंने कहा कि देश अब दस्तावेजों के सत्यापन के दौर से बाहर निकल रहा है। आज अधिकतर सरकारी सेवाओं को ऑनलाइन या डिजिटल कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार का दायित्व है कि वह पांच साल के लिए नहीं बल्कि पांच पीढ़ियों को ध्यान में रखते हुए अपना काम करने की आदत बनाए। पीएम मोदी ने कहा कि स्वच्छ भारत से लेकर योग तक, उज्ज्वला से लेकर फिट इंडिया मूवमेंट तक और इन सबके साथ आयुर्वेद को बढ़ावा देने तक- इस तरह की हर पहल बीमारियों की रोकथाम में अपना अहम योगदान दे रही है।

आपको बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी की ये प्रतिमा कांस्य से बनी है, जो 25 फीट ऊंची व पांच टन वजनी है। अटल जी की प्रतिमा को जयपुर की एक कंपनी ने बनाया है और इसकी लागत 89 लाख रुपये है। यह प्रतिमा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर संस्कृति विभाग ने निर्मित करवाई है।

प्रतिमा अनावरण करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकभवन के प्रेक्षागृह में अटल बिहारी चिकित्सा विश्वविद्यालय का बटन दबाकर शिलान्यास किया। साथ ही प्रधानमंत्री अटल पेयजल मिशन योजना का शुभारंभ करेंगे। अटल पेयजल मिशन योजना के तहत भूजल के प्रबन्धन पर जोर दिए जाने का प्रावधान है। इसके तहत भूजल के एक-एक बूंद का इस्तेमाल किया जाना है। साथ ही भूजल का जितना शोधन होगा उसी अनुपात में उसके रिचार्ज की भी व्यवस्था का प्रावधान है।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *