ताज़ा खबर :
prev next

गाज़ियाबाद -2031 मास्टर प्लान होगा ऑनलाइन, क्लिक करते ही मिलेगी संपत्ति की सारी जानकारी

गाजियाबाद, लोनी, मोदीनगर-मुरादनगर के डिजिटल मास्टरप्लान-2031 और जोनल प्लान को ऑनलाइन किया जाएगा। इसका लाभ विभिन्न सरकारी विभाग और शैक्षणिक संस्थाओं को तो होगा है, शहर के लोग भी घर और जमीन खरीदते वक्त इससे जरूरी जानकारियां जुटा सकते हैं। बृहस्पतिवार को जीडीए सभागार में मास्टरप्लान-2031 और जोनल प्लान की इंसेप्शन रिपोर्ट पेश करते वक्त यह जानकारी दी गई। खास बात यह है कि इसे पहली बार केंद्र सरकार बनवा रही है। अमृत योजना के तहत मास्टर प्लान और जोनल प्लान को निजी एजेंसी से तैयार कराया जा रहा है।

इस वक्त शहरी क्षेत्र 220 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। नए मास्टर प्लान में शहर का क्षेत्रफल बढ़ाकर लगभग 280 वर्ग किलोमीटर किया जा सकता है। नए मास्टर प्लान में शहरी क्षेत्र को डासना देहात तक विस्तार देने की तैयारी चल रही है। पहली बार है कि जीआइएस आधारित डिजिटल मास्टर प्लान और जोनल प्लान साथ बनवाया जा रहा है। इंसेप्शन रिपोर्ट पेश करते वक्त इसे बना रही एजेंसी ने बताया कि सड़क, सीवर लाइन, पानी की पाइपलाइन, आवासीय क्षेत्र, हरित क्षेत्र, वन क्षेत्र, मिश्रित क्षेत्र, औद्योगिक क्षेत्र, रेलवे लाइन समेत अन्य सुविधाओं का अलग-अलग लेयर पर दर्शाया जाएगा। इसे विकास प्राधिकरण की वेबसाइट पर लिक देकर ऑनलाइन कर दिया जाएगा। इससे सरकारी विभाग अपनी योजनाओं पर काम करते वक्त जानकारी जुटा सकते हैं। शहर के लोगों को फायदा होगा कि वह घर और जमीन खरीदते वक्त देख सकते हैं कि कहीं वह सड़क, पार्क, ग्रीन बेल्ट की जमीन पर तो नहीं बना। इस दौरान जीडीए वीसी कंचन वर्मा, सीएटीपी आशीष शिवपुरी, मुख्य अभियंता विवेकानंद सिंह समेत कई विभागों के अधिकारी मौजूद थे। बता दें अब से पहले मास्टरप्लान हर दस साल के अंतराल पर बनते रहे हैं। लेकिन, जोनल प्लान महज दो जोनों के ही बन पाए थे।

यूनीक नंबर पर फीड होंगी कई जानकारियां

एजेंसी ने बताया था कि प्रत्येक घर को यूनीक नंबर दिया जाना है। उस नंबर पर घर की विभिन्न विभागों से जुड़ी जानकारियों को फीड किया जाएगा। इस नंबर की मदद से सभी लोग घर को तो ढूंढ सकते हैं। लेकिन गोपनीय जानकारियों को केवल घर मालिक देख सकेगा। उनके अलावा लोग कुछ ही डेटा देख पाएंगे। यह भी बताया कि मोदीनगर-मुरादनगर का मास्टरप्लान दिसंबर 2020 में बन कर तैयार होगा। गाजियाबाद शहर और लोनी का मास्टरप्लान मार्च 2021 तक बनेगा। जनगणना 2011 के आंकड़ों पर काम करने के बजाए नेशनल सैंपल सर्वे ऑर्गेनाइजेशन (एनएसएसओ) की ताजा रिपोर्ट से जनसंख्या के आंकड़े लेते हुए आगामी दस वर्षो में बढ़ने वाली आबादी का अनुमान लगाकर ढांचागत विकास का खाका खींचा जाएगा।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *