ताज़ा खबर :
prev next

नहीं होंगी बरबाद किसानों की फसलें, जानिए योगी सरकार ने उठाए कौन से जरूरी कदम

रबी फसलों की हार्वेस्टिंग में खराब हो जाने वाले हार्वेस्टर एवं अन्य उपकरणों की मरम्मत का रास्ता सरकार ने निकाल दिया है। कंबाइन समेत कृषि यंत्रों की खराबी को दूर करने के लिए अब मैकेनिक एवं ऑटो पार्ट्स की दुकाने लॉक डाउन के दौरान भी खुल सकेंगी। इस संबंध में केंद्र सरकार के निर्देशों के बाद राज्य सरकार ने बीती रात आदेश भी जारी कर दिए।

फसलों की हार्वेस्टिंग के दौरान कंबाइन हार्वेस्टर रीपर या अन्य कृषि यंत्रों में टूट-फूट या खराबी आने पर उसकी मरम्मत लॉक डाउन के कारण संभव नहीं हो पा रहा था। किसानों की इस विकट समस्या की लगातार आ रही शिकायतों को सरकार ने दूर कर दिया है। शनिवार को केंद्र सरकार से मंजूरी मिलने के तत्काल बाद राज्य सरकार ने प्रदेश में कृषि एवं समवर्ती उपकरणों की दुकान सर्विस सेंटर एवं स्पेयर पार्ट्स की दुकानों को कस्बों में खोलने की छूट प्रदान कर दी है। सरकार द्वारा इस संबंध में प्रदेशभर के सभी जिलाधिकारी, पुलिस कमिश्नर एवं अन्य पुलिस अधिकारियों के लिए शनिवार की देर रात आदेश जारी कर दिए। इसके तहत आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में प्रयुक्त होने वाले भारी वाहन ट्रक ढुलाई में इस्तेमाल किए जाने वाले छोटे वाहनों के मरम्मत की दुकानों को हाईवे एवं पेट्रोल पंप के आसपास खोले रखने की छूट प्रदान कर दी गई है।

कृषि कार्य में विशेषकर फसलों की कटाई मड़ाई एवं ओसाई आदि के कार्य में कोई बाधा ना हो इसके लिए सरकार की ओर से पहले ही जिलों के भीतर उपलब्ध कंबाइन हार्वेस्टर व अन्य यंत्रों के आवागमन को छूट दे दी थी। बाद में जिलाधिकारी की अनुमति पास लेकर एक जिले से दूसरे जिले में कंबाइन हार्वेस्टर एवं अन्य कृषि यंत्रों के साथ साथ श्रमिकों के आने जाने के लिए भी छूट प्रदान कर दी गई। इसके बाद एक अन्य आदेश के तहत कंबाइन की कमी को दूर करने एवं हार्वेस्टिंग के कार्य में तेजी लाने के लिए सरकार ने दूसरे प्रदेशों मसलन पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड एवं मध्य प्रदेश से यूपी में आने के लिए कंबाइन हार्वेस्टर एवं अन्य कृषि यंत्रों को भी छूट प्रदान कर दी। सरकार ने सभी प्रकार के छूट प्रदान करने संबंधी आदेशों में इस बात की विशेष शर्त रखी है सोशल डिस्टेंसिंग एवं साफ सफाई के निर्देशों का पालन जरूर हो।

खराब कृषि यंत्रों के मरम्मत में सहयोग के लिए नोडल अफसर भी तैनात
किसी किसान का कंबाइन हार्वेस्टर ट्रैक्टर या अन्य कोई उपकरण खराब हो जाए और उस क्षेत्र में उसे दुरुस्त करने की कोई व्यवस्था ना हो या मैकेनिक अथवा स्पेयर पार्ट्स की दुकान ना हो तो उसकी सहूलियत के लिए सरकार ने कृषि विभाग के अधिकारियों को नोडल अधिकारी के रूप में तैनात कर दिया है। यह नोडल अधिकारी जिस जिले के किसानों की कृषि यंत्रों के बिगड़ने संबंधी कोई समस्या होगी तो उस जिले के जिलाधिकारी से संपर्क कर समस्याएं दूर कराएंगे। लखनऊ स्थित कृषि भवन में तैनात ये नोडल अधिकारी हैं संयुक्त कृषि निदेशक अभियंत्रण। इनका मोबाइल नंबर है 94154 35 220 जबकि दूसरे नोडल अधिकारी सहायक अभियंता मनोज का मोबाइल नंबर 9670439947 है।


हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *