ताज़ा खबर :
prev next

गाज़ियाबाद – एक दिन में मिले थे 25 संक्रमित, आंकड़े छुपा कर किसकी मदद कर रहा है जिला प्रशासन

गाज़ियाबाद जिले में कोरोना संक्रमण के मामलों में अचानक तेजी आई है और जिला प्रशासन अज्ञात कारणों से सही आंकड़े छिपने की कोशिश कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक बीते 24 घंटों में गाज़ियाबाद में कोरोना के 25 नए मामले सामने आए हैं जबकि जिला सूचना कार्यालय द्वारा जारी रिपोर्ट में केवल 19 मरीज ही दिखाए गए। सरकारी रिपोर्ट की मानें तो इनमें वे कोरोना मरीज भी शामिल हैं जिनकी दूसरी रिपोर्ट भी पॉज़िटिव आई है।

विभिन्न समाचार पत्रों और चैनलों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटो में एक ही परिवार के पांच सदस्यों समेत खोड़ा में 11 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इंदिरापुरम की शिप्रा सिटी और डासना गेट में एक ही परिवार के तीन-तीन सदस्यों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। लोनी में चार लोगों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इसके अतिरिक्त संजय नगर, भोपुरा, घूकना और वैशाली सेक्टर-1 से एक-एक मरीज कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इनमें से दो लोगों को किडनी संबंधी बीमारी होने पर दिल्ली रेफर किया गया है और बाकी को ईएसआई अस्पताल राजेंद्र नगर में भर्ती कराया है। विभाग की तरफ से 24 मामलों की पुष्टि हुई है। जब अभी एक मरीज को जोड़ा नहीं गया है।

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार खोड़ा में एक ही परिवार के पांच सदस्यों को बीते कई दिनों से बुखार और जुकाम की शिकायत थी जिस पर उन्होंने जांच के लिए सैंपल दिया था जो पॉजिटिव आया है। वहीं खोड़ा से जुड़े छह अन्य लोग कोरोना संक्रमण के बीच जान गंवाने वाले व्यक्ति के संपर्क में आए थे। इस तरह से खोड़ा में अब तक कुल मरीजों की संख्या 26 के पार पहुंच गई है।

इंदिरापुरम में भी शिप्रा सिटी में एक ही घर की महिला व दो पुरुषों को कोरोना हुआ है। तीनों ही लोग परिवार से जुड़े एक व्यक्ति के संपर्क में आए थे जिसका दिल्ली में इलाज चल रहा है। लोनी में भी कोरोना संक्रमित महिला के संपर्क में आए अल्वी नगर के चार लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। वहीं डासना गेट में पॉजिटिव पाए गए तीन सदस्यों में दोनों भाई हैं जो मेरठ मेडिकल कॉलेज में भर्ती महिला के पति व देवर हैं। जबकि तीसरी मरीज महिला की सास है। डासना गेट निवासी महिला बीते हफ्ते प्रसव के बाद महिला व तीन दिन का बच्चा भी कोरोना संक्रमित पाया गया था। संजय नगर और घूकना में भी एक-एक व्यक्ति को कोरोना हुआ है। यह दोनों मरीज किडनी संबंधी बीमारी से भी पीड़ित है, जिसके चलते इन्हें एलएनजेपी दिल्ली रेफर किया गया है। भोपुरा में एक बंगाली डॉक्टर और वैशाली सेक्टर-1 केमिस्ट को कोरोना हुआ है।

आंकड़ों की हेराफेरी
स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी रिपोर्ट में बुधवार को 145 मरीज बताए गए थे लेकिन बृहस्पतिवार देर रात को लखनऊ की तरफ से जिले वार कोरोना संक्रमित मरीजों की सूची जारी की गई तो उसमें बृहस्पतिवार को 19 मरीज जोड़कर जिले में कुल मरीजों की कुल संख्या 169 दिखाई गई।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सफाई दी गई कि पांच मरीज बुधवार रात 10 बजे के बाद आए थे जिन्हें 13 मई की तिथि में ही जोड़ दिया गया है। हालांकि भोपुरा के बंगाली डॉक्टर की अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई। अगर उसे भी बृहस्पतिवार में जोड़ दिया जाता तो कुल मरीजों की संख्या 170 होती है। उधर, बृहस्पतिवार को प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोई आधिकारिक अपडेट नहीं दी गई। लखनऊ से रिपोर्ट जारी होने पर जानकारी दी गई कि लखनऊ से जारी रिपोर्ट सही है।

30 से अधिक लोगों को किया गया क्वारंटीन

स्वास्थ्य विभाग ने 30 से अधिक लोगों को क्वारंटीन किया है। इनमें लोनी से मरीजों के संपर्क में आने वाले छह, खोड़ा से 10, भोपुरा में बंगाली डॉक्टर के संपर्क में आने वाले तीन लोग शामिल हैं। इसी तरह से तीन दिन पहले प्रताप विहार में कोरोना के चलते जान गवाने वाले व्यक्ति से जुड़े 11 लोगों को क्वारंटीन किया गया है।

इससे पहले एक दिन आए थे 13 नए मरीज
जिले में इससे पहले एक ही दिन में सबसे अधिक 13 नए मरीज आए थे। आठ मई को 13 नए मरीज सामने आने पर स्वास्थ्य व प्रशासन ने खोड़ा को लेकर विशेष प्लान बनाया था। क्योंकि छह मामले अकेले खोड़ा क्षेत्र से थे।

Download Amar Ujala App for Breaking News in Hindi & Live Updates. https://www.amarujala.com/channels/downloads?tm_source=text_share

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें.
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *