ताज़ा खबर :
prev next

फर्जी नोट छापने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 3 गिरफ्तार

मेरठ पुलिस ने गाजियाबाद में कलर प्रिंटर से नकली नोट छापने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए तीन युवकों को रविवार को गिरफ्तार किया है। उनसे 2.62 लाख रुपये कीमत की नकली करेंसी बरामद हुई है। खुलासा हुआ कि पिछले तीन साल से यह धंधा चल रहा था। लॉकडाउन में इस गिरोह ने 80 हजार रुपये मार्केट में खपा दिए।

खरखौदा थाने के इंस्पेक्टर मनीष बिष्ट ने बताया कि हापुड़-बुलंदशहर हाईवे स्थित ग्राम कैली फ्लाईओवर के समीप तीनों आरोपियों को चेकिंग के दौरान पकड़ा गया। इनकी पहचान प्रशांत उर्फ विराट व अशोक उर्फ बिट्टू निवासी गंगा टॉवर कविनगर और रियाज उर्फ राजू निवासी सुदामापुरी विजयनगर (गाजियाबाद) के रूप में हुई।

 नकली नोट, प्रिंटर, कम्प्यूटर सहित अन्य सामान मिला
गैंग सरगना प्रशांत मूल रूप से केरल के जिला त्रिशूर का रहने वाला है। चार साल पहले एक लड़की के चक्कर में वहां से भागकर गाजियाबाद आ गया। वहीं राजू मूल रूप से मुरादाबाद में कांठ थाना क्षेत्र के मधुपुरी उर्फ इनायतपुरी का रहने वाला है।

नकली करेंसी मामले में पहले भी जा चुका जेल
इंस्पेक्टर ने बताया कि प्रशांत उर्फ विराट की गाजियाबाद में कलर प्रिंटर-स्कैनर की दुकान है। जनवरी-2018 में प्रिंटर से नकली नोट छापने के मामले में वह सिहानी गेट थाने से जेल गया था। डासना जेल में उसकी मुलाकात अशोक और रियाज से हुई। दोनों हार्डकोर क्रिमिनल हैं। उनके खिलाफ पहले से कई गंभीर मुकदमे दर्ज हैं। तीनों कुछ दिन बाद जेल से बाहर आ गए थे। अब लॉकडाउन में गिरोह ने नकली नोट छापने का धंधा फिर शुरू कर दिया। प्रशांत 100, 200 व 500 रुपये के नकली नोट छापता था। अशोक और रियाज उन्हें दुकानों-रेहड़ी वाले दुकानदारों को देकर सामान खरीद लेते थे। इस प्रकार लॉकडाउन में उन्होंने 80 हजार के नकली नोट खपा दिए।

ऐसे बनाते थे नोट
स्कैनिंग मशीन से नोट स्कैन करते थे। कम्प्यूटर में उसे फिनिशिंग देकर लेजर प्रिंटर से कलर फोटो स्टेट कॉपी निकालते थे। डाई मशीन के जरिये चमकीले रंग की टेप को बारीक टुकड़ों में काटकर उसे नोट पर चिपकाते थे, ताकि नोट असली लगे। इन नोटों से छोटी-छोटी खरीदारी करते थे, जिससे पकड़ में न आएं। यही वजह रही कि लॉकडाउन में छोटी-छोटी खरीदारी करके उन्होंने 80 हजार के नकली नोट मार्केट में चला दिए।

कई जिलों में चलाए नकली नोट
पूछताछ में पता चला कि इस गिरोह ने नोएडा, दिल्ली, गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़ की मार्केट में पहले भी नकली नोट खपाए हैं। खरखौदा पुलिस ने रविवार को एक आरोपी को नकली नोटों सहित पकड़ा। वह यहां नकली नोट चलाने आया था। उससे पूछताछ हुई तो साथियों के नाम बताए। इसके बाद गाजियाबाद स्थित ठिकाने पर छापामार कार्रवाई हुई।

पहले कई मुकदमे दर्ज
अशोक उर्फ बिट्टू पर गाजियाबाद, नोएडा व मेरठ में 7 मुकदमे दर्ज हैं। राजू उर्फ रियाज पर दिल्ली व हापुड़ में दो मुकदमे हैं। राजू साल-2013 में दिल्ली के थाना अमर कॉलोनी से हत्या में जेल जा चुका है। प्रशांत जनवरी-2018 में गाजियाबाद के सिहानी गेट थाने से नकली नोट छापने में जेल गया था।

 

साभार: livehindustan

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *