ताज़ा खबर :
prev next

IPL 2020: खिलाड़ियों के होंगे 4 कोरोना वायरस टेस्ट

बीसीसीआई यूएई में 18 सितंबर से 8 नवंबर तक आयोजित किए जाने वाले आईपीएल के लिए भारतीय सरकार की मंजूरी का इंतजार कर रहा है। T20 World Cup के स्थगित होने की वजह से IPL 2020 के आयोजन का रास्ता खुला है और बीसीसीआई इसे हर हाल में आयोजित करना चाहता है।

इस बार आईपीएल में कई बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे। मुकाबले खाली स्टेडियमों में होंगे, इसके अलावा खिलाड़ियों को आईपीएल से पहले चार बार कोरोना वायरस टेस्ट से गुजरना होगा। बायो सिक्योर बबल रहेगा और खिलाड़ियों को हर जगह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की रविवार दो अगस्त को होने वाली बैठक में इसके शैड्यूल और अन्य व्यवस्थाओं को फाइनल किया जाएगा। इस बैठक के दौरान सभी फ्रेंचाइजियों को स्थिति स्पष्ट कर दी जाएगी।

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच सीरीज के दौरान जो मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) थी, यूएई में भी लगभग उसके समान ही SOP रहेगी। खिलाड़ियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

Quarantine Protocol: दुबई के हेल्थ प्रोटोकॉल के तहत यदि किसी व्यक्ति के पास Covid-19 की निगेटिव रिपोर्ट है तो उसे क्वारेंटाइन नहीं होना होता है। यदि ऐसा नहीं है तो उसे कोरोना टेस्ट से गुजरना होता है।

Covid-19 टेस्ट: खिलाड़ियों को कुल चार बार कोरोना वायरस टेस्ट से गुजरना होगा। उन्हें दो बार भारत से रवाना होने से पहले और दो बार यूएई में पहुंचने के बाद कोरोना टेस्ट कराना होगा। यह नियम खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ पर लागू रहेगा।

बायो-सिक्योर बबल: हर फ्रेंचाइजी को अपना खुद का बायो सिक्योर बबल बनाना होगा, इसमें सीमित लोगों को ही शामिल किया जा सकेगा। ऐसे ही बीसीसीआई, आईएमजी स्टाफ और प्रसारणकर्ता भी बायो सिक्योर बबल बनाएंगे।

DXB App: हर खिलाड़ी को यूएई में पहुंचते ही अपने स्मार्टफोन पर DXB App इंस्टॉल करना होगा, यह भारत के Aarogya App के समान है। सोशल डिस्टेंटिंग के नियमों का पालन करना होगा।

Travel and Accomodation: हर फ्रेंचाइजी को यूएई में अपने ठहरने और यात्रा का इंतजाम खुद करना होगा। बीसीसीआई यूएई के अधिकारियों से संपर्क कर होटल्स के डिस्काउंट रेट्स की जानकारी फ्रेंचाइजियों को मुहैया करा देगा, इसके बाद फ्रेंचाइजी अपने स्तर पर या बीसीसीआई के जरिए उन्हें फाइनल कर सकती है।

Dressing Room Protocols: खिलाड़ियों को तय समय पर टीम के साथ जुड़ना होगा। ड्रेसिंग रूम में अधिकतम 15 खिलाड़ियों को अनुमति दी जाएगी।

क्या खिलाड़ियों की पत्नी और गर्लफ्रेंड साथ में होगी, इस पर फ्रेंचाइजियों को निर्णय लेना है। बीसीसीआई अधिकारी ने कहा, ‘एक बार कोई बायो-बबल में आ गया तो फिर उसे इस माहौल को तोड़ने की अनुमति नहीं होगी। WAGs (वाइफ एंड गर्लफ्रेंड) और परिवार के सदस्य खिलाड़ियों के साथ यात्रा कर सकते हैं या नहीं, हमने इस फैसले को फ्रेंचाइजियों पर छोड़ दिया है, लेकिन हमने एक प्रोटोकॉल रखा है, जिसमें सभी लोग, यहां तक कि टीम के बस ड्राइवर, बायो-बबल नहीं छोड़ सकते। एक बार जब हम अगले सप्ताह उनके साथ बैठक करेंगे तो SOP फ्रेंचाइजियों को सौंप दी जाएगी। यदि उन्हें कोई शिकायत होगी तो वे बोर्ड से इस पर चर्चा कर सकते हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *