ताज़ा खबर :
prev next

21 अक्तूबर से सड़कों पर दिखेगा रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान-पूरी दिल्ली में तैनात होंगे 2500 मार्शल

दिल्ली सरकार रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान को जमीनी स्तर पर ले जा रही है। 21 अक्तूबर से 15 नवंबर के बीच दिल्ली के व्यस्ततम ट्रैफिक सिग्नल पर वाहन बंद करने के लिए लाल गुलाब देकर गांधीगिरी की जाएगी। इसके लिए 100 चौराहों की पहचान की गई है। सुबह 8 से रात 8 बजे के बीच यहां तैनात पर्यावरण मार्शल अभियान का आगे बढ़ाएंगे। पूरी दिल्ली के लिए 2,500 मार्शल की नियुक्त होगी।

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि अभियान के तहत चालान काटने की कार्रवाई नहीं होगी। पहले तीन दिन सिग्नल पर वाहन चालकों को लाल गुलाब का फूल देकर गांधीगिरी के माध्यम से वाहन बंद करने की अपील करेंगे। अभियान के केंद्र में ट्रैफिक पुलिस की तरफ से पहचान किए गए 100 व्यस्त चौराहे होंगे। मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए सरकार 2500 पर्यावरण मार्शल नियुक्त कर रही है।
गोपाल राय के मुताबिक, दो शिफ्ट में चलने वाले अभियान के दौरान हर चौराहे पर 10-10 मार्शल तैनात होंगे। जबकि आईटीओ समेत 10 सबसे व्यस्त चौराहों पर इनकी संख्या दोगुनी होगी। स्थानीय एसडीएम, ट्रैफिक पुलिस के एसीपी और परिवहन विभाग के डीसी (प्रवर्तन) मॉर्शलों पर नजर रखेंगे।
गोपाल राय ने बताया कि मुहिम पूरी तरह अराजनीतिक होगी। इसके लिए सरकार दिल्ली के सभी सांसद, विधायक, पार्षद, राजनीतिक दल, आरडब्ल्यूए, औद्योगिक व सामाजिक संगठनों और एनजीओं को पत्र लिख कर अभियान में शामिल होने की अपील करेंगे। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह देश में एक नया रोल मॉडल खड़ा करेगा।

नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती-
गोपाल राय ने कहा कि पूरी दिल्ली में एंटी डस्ट अभियान चलाया जा रहा है। सरकार ने नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है और आगे भी पूरे दिल्ली के अंदर अगर कोई नियमों का उल्लंघन करता है, तो सरकार इसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगी।

दिल्ली के 100 व्यस्त चौराहों पर नजर-
गोपाल राय ने कहा कि यह जागरूकता अभियान होगा, इसमें प्रवर्तन का कार्य नहीं किया जाएगा। यह पूरी तरह से जागरूकता कार्यक्रम होगा। अभियान दिल्ली के लोगों का होगा। जो दिल्ली के प्रदूषण को लेकर चिंतित हैं, दिल्ली के पर्यावरण को ठीक रखना चाहते हैं, उन सब लोगों को अभियान की जिम्मेदारी लेनी पड़ेगी। यह दिल्ली के दो करोड़ लोगों का अभियान है। यह किसी तरह का कोई भी प्रवर्तन नहीं किया जाएगा। पर्यावरण मॉर्शल की हर चौराहे पर दो शिफ्ट में नियुक्ति की जाएगी। पहली शिफ्ट सुबह 8 बजे से दोपहर के 2 बजे तक होगी, जिसमें 10 मॉर्शल हर चौराहे पर लगाए जाएंगे। दूसरी शिफ्ट दोपहर 2 बजे से रात 8 बजे तक होगी। उसने भी 10 मॉर्शल प्रत्येक चौराहों पर लगेंगे।

अभियान में स्कूली बच्चों को भी करेंगे शामिल-
गोपाल राय ने बताया कि अभियान में हम स्कूली बच्चों को भी शामिल करेगे। दिल्ली में अभी ऑनलाइन क्लास चल रही है, इसलिए हम शिक्षकों के माध्यम से ऑनलाइन क्लास लेने वाले बच्चों को जागरूक करने का काम करेंगे। उन्होंने बताया कि बच्चों ने ऑड ईवन अभियान में बड़ी भूमिका अदा की थी।

ऑड ईवन अंतिम विकल्प-
गोपाल राय ने बताया कि सरकार प्रदूषण कम करने के लिए हर विकल्प अपनाने को तैयार है। ऑड ईवन जैसा विकल्प अंतिम होगा। सारी कोशिश के बावजूद अगर दिल्ली का प्रदूषण कम नहीं होता तो सरकार इस दिशा में काम करने से पीछे नहीं रहेगी।

राघव चड्ढा ने चलाया अभियान-
आम आदमी पार्टी विधायक राघव चड्ढा ने सोमवार को राजेन्द्र प्लेस मेट्रो स्टेशन के सिग्नल पर रेड लाइट ऑन, गाडी ऑफ अभियान चलाया। अपने समर्थकों के साथ सिग्नल पर पहुंचे राघव ने वाहन चालकों से वाहन बंद रखने की अपील की गई। राघव ने बताया कि जैसे बूंद-बूंद से सागर भरता है वैसे ही रेड लाइट पर गाड़ी बंद करने की ये छोटी सी कोशिश हमें प्रदूषण के खिलाफ इस बड़े युद्ध में जीत दिलाने में मदद करेगी।

उन्होंने कहा कि अन्य राज्य भले ही अपने नागरिकों के स्वास्थ्य की चिंता ना करें लेकिन दिल्ली सरकार को अपने नागरिकों की फिक्र है। कोई राज्य पराली जला रहा है, कोई डीजल जेनसेट को बैन नहीं कर रहा है ये जानते हुए भी कि उनसे कितना प्रदूषण होता है। जबकि दिल्ली सरकार सभी नियमों को मानती है और अपने नागरिकों का ख्याल रखती है। प्रदूषण के खिलाफ दिल्ली जंग जरूर जीतेगी।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *