ताज़ा खबर :
prev next

ताजमहल- विजयदशमी पर उमड़ी भीड़, समय से पहले बिके टिकट, मायूस होकर लौटे सैलानी

उत्तर प्रदेश/आगरा। विजयादशमी पर ताजमहल पर सैलानी ज्यादा आये और टिकटों की संख्या कम रही। शनिवार की तरह रविवार को ताजमहल पर शाम की शिफ्ट में 3:20 पर ही टिकटों की बुकिंग बंद हो गई। तब तक सभी टिकट बिक चुके थे। ऑनलाइन टिकट मिलने की व्यवस्था में ना तो टिकट स्कैन हो सके और ना ही वेबसाइट पर टिकट की बुकिंग हो पाई। ऐसे में पर्यटकों को मायूस लौटना पड़ा।

रविवार शाम 3:30 बजे के बाद जो भी पर्यटक पहुंचे वह टिकट ना होने के कारण दशहरा घाट और महताब बाग की ओर से ताज देखकर लौट गए। शनिवार और रविवार को टिकटों को स्कैन कर खरीदने के लिए पर्यटकों को परेशान होना पड़ रहा है। सैलानियों और पर्यटन संगठनों ने शनिवार और रविवार को ताजमहल पर टिकटों की संख्या 5000 से 10,000 करने की मांग उठाई है।

रविवार को ताजमहल पर 4709 पर्यटक पहुंचे जिनमें से 4662 भारतीय सैलानी और 47 विदेशी पर्यटक शामिल थे। इनमें से 2022 पर्यटकों ने मुख्य गुंबद में मौजूद शाहजहां और मुमताज की कब्र देखने के लिए 200 का अतिरिक्त टिकट भी खरीदा। दोपहर 3:20 के बाद सभी टिकट बिक चुके थे। दोपहर की शिफ्ट में ढाई हजार टिकटों की बुकिंग तब तक हो गई। ऐसे में गुरुग्राम से आए इंदर वाधवा और नोएडा से आए फिरोज खान के परिवार को टिकट न मिलने पर मायूस लौटना पड़ा। उन्होंने ताजमहल पूर्वी गेट पर टिकट ना मिलने के कारण कर्मचारियों से नाराजगी भी जताई।

ताजमहल पर शनिवार और रविवार को पर्यटकों की भीड़ आ रही है। कई पर्यटक ताज देखे बिना लौट रहे हैं। इसका पर्यटन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए शनिवार और रविवार को पर्यटकों की संख्या बढ़ाकर 10 हजार की जानी चाहिए। – सुनील सी गुप्ता इंडियन एसोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर

पर्यटक दूर-दूर से ताजमहल देखने आ रहे हैं लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिल पा रहा। यह अजीब समस्या है। शनिवार और रविवार को टिकट लिमिट बढ़ा देनी चाहिए जिससे जो पर्यटक आ रहे हैं, वह ताज देखकर लौटें। – शमशुद्दीन अध्यक्ष, आगरा टूरिस्ट गाइड एसोसिएशन-साभार-अमर उजाला

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *