ताज़ा खबर :
prev next

फ्रेश एयर है जरूरी:घरों में प्रदूषण से हर साल दुनिया में 16 लाख मौतें हो रहीं, जानिए घर में साफ हवा कैसे रखें

फेस्टिव सीजन और ठंड आने के साथ ही देश के कई हिस्सों में हवा की क्वालिटी बिगड़ने लगी है। घरों के अंदर भी हवा खराब हो रही है। आमतौर पर हम ये जानते हैं कि घर के अंदर की हवा तो फ्रेश होती है, लेकिन ये हर वक्त सच नहीं होता है। घर में हवा खराब होने का रिस्क सबसे ज्यादा रहता है।

WHO के मुताबिक, इंडोर पॉल्यूशन सबसे ज्यादा घरेलू ईंधन जलाने से होता है। इनमें भी सबसे ज्यादा प्रदूषण खाना बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाली लकड़ी, पराली और गोबर के कंडे जलाने से होता है। यदि हम ऐसा लंबे समय तक करते हैं तो सांस से जुड़ी बीमारियों और असमय मौत का खतरा बढ़ जाता है।

ऑक्सफोर्ड की संस्था ourworldindata.org के मुताबिक, दुनियाभर में सबसे ज्यादा प्रीमेच्योर डेथ इंडोर पॉल्यूशन की वजह से होती हैं। घर में होने वाले प्रदूषण से हर साल करीब 16 लाख मौतें होती हैं। फिलहाल दुनिया में खाना बनाने के लिए सिर्फ 60% लोगों को क्लीन फ्यूल उपलब्ध है।

आउटडोर पॉल्यूशन बढ़ने से इंडोर पॉल्यूशन अपने आप बढ़ जाता

आईआईटी कानपुर में सिविल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट में प्रोफेसर एसएन त्रिपाठी कहते हैं कि आउटडोर पॉल्यूशन बढ़ने से इंडोर पॉल्यूशन अपने आप बढ़ जाता है। अब तो ठंड भी आ गई है, लोग इस वक्त ठंड से बचने के लिए घरों में आग जलाते हैं। ये सबसे ज्यादा खतरनाक होता है।

अगर खिड़की और दरवाजे खुले हैं या सही ढंग से बंद नहीं हैं तो दोनों ही स्थितियों में घर में प्रदूषण होने का खतरा रहता है। इसके अलावा घर में लकड़ी की आग पर खाना बनाने से भी पॉल्यूशन होता है। इसलिए घर में एयर वेंटिलेशन बहुत जरूरी होता है।

ऑफिस में एयर पॉल्यूशन की वजह कारपेट, फर्नीचर, पेंट और लोगों का मूवमेंट होता है। अगर ऑफिस में सही वेंटिलेशन और प्यूरीफायर नहीं है तो हमारी हेल्थ को रिस्क ज्यादा है।

आइए जानते हैं कि हम अपने घर की हवा को कैसे साफ-सुथरा रखें-

 

इंडोर प्लांट्स के जरिए हवा कैसे साफ रखें? जानने के लिए पढ़ें- नासा ने बताया है कि इन 6 पौधों को घरों में लगाकर शुद्ध ऑक्सीजन पा सकते हैं…

कमरे के अंदर भी कोरोना का ट्रांसमिशन संभव

  • वैज्ञानिकों का दावा है कि घर के अंदर हवा में भी कोरोनावायरस का ट्रांसमिशन हो सकता है। इसके अलावा खराब वेंटिलेशन सिस्टम भी वायरस के लिए बड़ा खतरा बन सकता है। इसलिए घर में फ्रेश एयर बहुत जरूरी है।
  • रिसर्च के मुताबिक, जब कोई संक्रमित व्यक्ति बात करता है, सांस लेता है, गाना गाता है या कुछ खाता है तो वायरस पार्टिकल्स कमरे में घूमते हैं। इसलिए एयर फ्लो की बेसिक बातों को समझना बहुत जरूरी है।साभार-दैनिक भास्कर

घर के अंदर फ्रेश हवा कैसे रखें, इसके लिए इन खबरों को भी पढ़ें-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *