ताज़ा खबर :
prev next

कलबुर्गी से हिंडन के लिए पहली बार सीधी उड़ानें शुरू, यात्रियों को मिलेगी बड़ी राहत

रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम (आरसीएस) के तहत कर्नाटक के कलबुर्गी से उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित हिंडन हवाई अड्डे के लिए पहली सीधी उड़ान सेवा बुधवार को शुरू हुई। इस मौके पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के अधिकारी मौजूद थे।

उड़ान योजना के तहत देश को बेहतर वायु संपर्क मुहैया कराने की नागरिक उड्डयन मंत्रालय और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण की प्रतिबद्धता और आग्रह के अनुरूप कलबुर्गी-दिल्ली (हिंडन) मार्ग पर उड़ानें शुरू हुई हैं। आज की तारीख तक उड़ान योजना के तहत 295 मार्गों पर और पांच हेलिपोर्ट और दो जल एरोड्रोम्स समेत 53 हवाई अड्डों पर कामकाज शुरू हो गया है।

आरसीएस-उड़ान-3 निविदा प्रक्रिया के तहत पिछले साल ‘स्टार एयर’ एयरलाइंस को कलबुर्गी-हिंडन मार्ग पर उड़ानों के परिचालन की जिम्मेदारी मिली थी। एयरलाइंस इस मार्ग पर तीन साप्ताहिक उड़ानें शुरू करेगी और इसके लिए वह 50 सीटों वाले एम्ब्रियर-145 लक्जरी विमान चलाएगी।
उड़ान योजना के तहत यह एयरलाइंस अभी तक 15 मार्गों पर अपनी उड़ानों का परिचालन करती है, कलबुर्गी-हिंडन मार्ग के जुड़ जाने से अब वह 16 मार्गों पर उड़ानें परिचालित करेगी।

नई दिल्ली से 30 किलोमीटर से कम की दूरी पर स्थित हिंडन हवाई अड्डा भारतीय वायुसेना के नियंत्रण में है और इसकी जमीन पर एक नया गैर-सैनिक क्षेत्र बनाने के लिए इसे भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को सौंपा गया था।

वायु सेना ने उड़ान योजना के तहत गैर-सैनिक उड़ानें परिचालित करने के लिए इस वायु सैनिक अड्डे के इस्तेमाल की अनिवार्य अनुमति प्रदान कर दी है। इसी तरह कलबुर्गी हवाई अड्डा भी कलबुर्गी शहर से 13.8 किलोमीटर की दूर पर स्थित है। देश के टियर-2 और टियर-3 शहरों के बीच वायु संपर्क स्थापित करने के लिए इस हवाई अड्डे को भी उड़ान योजना के तहत लाया गया है।

अपनी अनूठी संस्कृति के लिए पहचाना जाने वाला कलबुर्गी शहर बुद्ध विहार, शरण बसवेश्वरा मंदिर, ख्वाजा बंदा नवाज की दरगाह और गुलबर्ग किला जैसे पर्यटक स्थलों के लिए गेटवे का काम करेगा। इस मार्ग पर देश की राजधानी दिल्ली से पहली बार सीधी उड़ानें चलने से यह संपर्क अधिक मजबूत हो जाएगा। यह मार्ग इस क्षेत्र में व्यापार और पर्यटन के विकास में सहायक होगा।

अभी तक यात्रियों को कलबुर्गी से हिंडन तक की अपनी यात्रा के दौरान बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता था। दोनों शहरों के बीच सीधी उड़ानें नहीं होने के कारण यात्रियों को या तो सड़क मार्ग से या रेल मार्ग से यात्रा करनी पड़ती थी जिसके कारण 1600 किलोमीटर की इस दूरी को पार करने में 25 घंटे से भी अधिक का समय लग जाता था।

अब यात्री इस सीधी विमान सेवा का लाभ उठाकर लंबी दूरी की यात्रा को मात्र दो घंटे 20 मिनट में पूरा कर पाएंगे। बहुत से लोगों को अपने निजी या व्यावसायिक कार्य से इन दो शहरों के बीच कई बार यात्रा करनी पड़ती है। बीजापुर, सोलापुर, बीदर, ओस्मानाबाद, लातूर, यादगीर,रंगा रेड्डी और मेडक के निवासियों को भी कलबुर्गी हिंडन मार्ग पर सीधी विमान सेवा शुरू हो जाने का प्रत्यक्ष लाभ मिलेगा।साभार- अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!