ताज़ा खबर :
prev next

गाजियाबाद नगर निगम,जनसुनवाई पोर्टल पर समाधान को मिला रटा-रटाया जवाब, लोगों में रोष

जनसुनवाई पोर्टल पर समाधान को मिला रटा-रटाया जवाब, लोगों में रोष – नगर निगम के जलनिगम को दी थी टूटी डेढ़ माह पूर्व लीकेज की शिकायत – निगम का जवाब ः प्रस्ताव तैयार, बजट मिलते ही कराया जाएगा काम

साहिबाबाद। शालीमार गार्डन के विजय पार्क में करीब 45 दिनों से पानी की लाइन में लीकेज से समस्या बनी हुई है।आरोप है कि जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत करने के बाद नगर निगम अधिकारियों की तरफ से प्रस्ताव बनाकर मुख्यालय भेजने का रटा-रटाया जवाब दिया जाता है। इससे लोगों में रोष बना हुआ है। लोगों ने नगर आयुक्त और अन्य अधिकारियों से मामले का संज्ञान लेकर कार्रवाई की मांग की है।

यहां सोसायटी में रहने वाले गोपाल बूबना ने बताया कि बीती पांच अक्टूबर को जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत की थी कि विजय पार्क में पानी की टंकी के पास पाइप लाइन में बड़ा लीकेज है। इस जगह से सप्लाई के दौरान सैकड़ों लीटर पानी की बर्बादी होती है। घरों में भी गंदे पानी की सप्लाई होती है। लेकिन अभी तक नगर निगम अधिकारियों ने संज्ञान नहीं लिया।

पिछले दिनों लोगों ने प्रदर्शन कर नाराजगी जताई थी।जनचौपाल में भी अधिकारियों के सामने पानी की टंकी परिसर में पानी की लीकेज लाइन को ठीक कराने का मुद्दा उठा था। अब लोगों का आरोप है कि अधिकारियों ने समस्या का निस्तारण यह कहते हुए कर दिया कि प्रस्ताव बना दिया है बजट स्वीकृत होने पर कार्य करा दिया जाएगा। इस पर लोगों का कहना है कि शिकायतकर्ता के पास किसी भी अधिकारी का फोन नहीं आया।

परिचर्चा ः  पूरे पार्क में सप्लाई के दौरान पानी की बर्बादी होती रहती है। जबकि घरों में गंदा पानी आता है। इसकी शिकायत कई बार की गई। लेकिन अधिकारी सुनने को तैयार नहीं हैं। पोर्टल पर भी शिकायत का समाधान नहीं होता।

अल्का वर्मा – प्रशासन खुद ही पानी की बर्बादी को रोकने के लिए जागरूकता फैला रहा है। लेकिन विजय पार्क में तो शिकायत के बाद भी अधिकारी झूठा समाधान कर रहे हैं। बड़ा सवाल है कि ऐसे कैसे पानी की बचत होगी।

ज्योति – शालीमार गार्डन की कई शिकायतों का पोर्टल पर गलत समाधान किया गया। अब बेहतर होगा कि कालोनी के सभी लोग एकत्रित होकर सभी समस्याओं के लिए नगर निगम के मुख्यालय ही पहुंचकर अपनी शिकायत दर्ज कराएं। हम लोग पीने के लिए भी बोतल का पानी खरीद रहे हैं।

क्या कहते हैं अधिकारी

यह मामला मेरे संज्ञान में नहीं है, पानी की लाइन लीकेज है तो कर्मचारियों को भेजकर वहां मरम्मत कराई जाएगी।जनसुनवाई पोर्टल पर किसी भी शिकायत का गलत समाधान नहीं होगा। ब्रिजेश कुमार सिंह, जीएम जलकल-साभार-अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।साभार-दैनिक जागरण 

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *