ताज़ा खबर :
prev next

‘लुटेरी दुल्हन’ के बाद धोखेबाज दूल्हा: सेना का फर्जी मेजर बन 17 लड़कियों को फंसाया, ठगे छह करोड़ रुपये

देशभर में लुटेरी दुल्हन के किस्से और कारनामे कई बार सामने आ चुके हैं, लेकिन अब पुलिस की गिरफ्त में धोखेबाज दूल्हा आया है। दरअसल, तेलंगाना पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है, जो खुद को सेना का मेजर बताता था और लड़कियों को शादी के झांसे में फंसा लेता था। बताया जा रहा है कि आरोपी अब तक करीब 17 लड़कियों को अपने जाल में फंसा चुका है और उनसे छह करोड़ रुपये से ज्यादा ठग चुका है।

9वीं तक पढ़ा है यह मास्टरमाइंड
तेलंगाना पुलिस के मुताबिक, आरोपी की पहचान मुदवथ श्रीनु नाइक के रूप में हुई है। वह आंध्र प्रदेश के प्रकासम जिले के किलाम्पल्ली गांव का रहने वाला है। वह अब तक 17 लड़कियों को फंसा चुका है और उनसे 6.61 करोड़ रुपये ठग लिए। अहम बात यह है कि इस ठग ने लोगों को अपने बारे में जितनी भी बातें बताई थीं, सब फर्जी निकलीं। आरोपी महज 9वीं तक पढ़ा है, लेकिन वह खुद को एनवायरनमेंट इंजीनियरिंग में एमटेक बताता था। वह शादीशुदा है और एक बेटे का बाप भी है, लेकिन खुद को कुंवारा बताकर लड़कियों को झांसे में लेता था। पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने लड़कियों और उनके परिजनों को फंसाने के लिए कई मैट्रिमोनियल वेबसाइट्स पर फर्जी प्रोफाइल बना रखे थे।

2014 में शुरू किया फर्जीवाड़ा
पुलिस के मुताबिक, मुदवथ ने 2002 में गुंटूर जिले के स्वास्थ विभाग में कार्यरत महिला से सबसे पहले शादी की थी। दोनों का एक बेटा भी है। आरोपी मुदवथ का परिवार गुंटूर जिले के वीनूकोंडा इलाके में रहता है। 2014 में मुदवथ हैदराबाद शिफ्ट हो गया और जवाहर नगर स्थित सैनिकपुरी में रहने लगा। पुलिस का दावा है कि उसने अपनी पत्नी को सेना कार्यालय में नौकरी मिलने की जानकारी दी। साथ ही, कुछ जरूरी काम बताकर पत्नी से 67 लाख रुपये ले लिए। इसके बाद आरोपी ने एमएस चौहान के नाम से फर्जी आधार कार्ड बनवाया और खुद को सेना का अधिकारी बताने लगा।

ऐसे शिकार फंसाता था आरोपी
बताया जा रहा है कि आरोपी मुदवथ ने सेना की वर्दी में फोटो खिंचवाए और उन्हें अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट कर दिया। इसके बाद उसने कुछ मैट्रिमोनियल वेबसाइट पर भी फर्जी प्रोफाइल बनाए और शादी के लिए लड़कियों को फंसाने लगा। उसने हैदराबाद में एक कमरा भी किराए पर लिया, जिसे सेना का अपना कार्यालय बताता था। उसमें वह सेना की वर्दी पहनकर बैठता और लड़कियों व उनके परिजनों से वीडियो कॉल पर बात करता था। वह खुद को नेशनल डिफेंस एकेडमी, पुणे से पासआउट बताता था। शुरुआत में वह दहेज न लेने की बात कहता था, लेकिन बाद में जरूरी काम का बहाना बनाकर पैसे ऐंठने लगता था।

इस तरह की करोड़ों की ठगी
पुलिस जांच में सामने आया है कि इस फर्जी मेजर ने तेलंगाना के राज्य सचिवालय में कार्यरत एक अधिकारी से 56 लाख रुपये ठगे थे। इसी तरह से वारंगल निवासी एक परिवार से दो करोड़ की ठगी की बात सामने आई है। आरोपी ने खुद को गोरखपुर से आईआईटी पासआउट बताकर भी कई लोगों को शिकार बनाया था। जब वह एक और परिवार से धोखाधड़ी करके पैसे ऐंठने की कोशिश में था, तभी उसे पुलिस ने दबोच लिया।

मर्सिडीज बेंज में चल जमाता था रौब
पुलिस को हैदराबाद में मुदवथ का दोमंजिला मकान और तीन कारें मिली हैं। बरामद कारों में एक मर्सिडीज बेंज है, जिससे वह लोगों पर रौब जमाता था। इसके अलावा उसके कब्जे से सैन्य अधिकारी की तीन वर्दी, बैज, फर्जी पहचान पत्र, कुछ फर्जी प्रमाण पत्र, एक नकली पिस्टल और तीन कारतूस भी बरामद हुए हैं। मुदवथ के खिलाफ वारंगल में भी एक केस दर्ज है।साभार-अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *