ताज़ा खबर :
prev next

गाजियाबाद, एंटीजन रिपोर्ट निगेटिव, आरटीपीसीआर में संक्रमण की पुष्टि

  • स्थ्य विभाग के दो अधिकारियों की एंटीजन रिपोर्ट निगेटिव                 

  • आरटीपीसीआर रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद आईसीयू में करना पड़ा था भर्ती

गाजियाबाद। 1. स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी की एंटीजन जांच रिपोर्ट दो बार निगेटिव आई, लेकिन आरटीपीसीआर जांच कराने पर संक्रमण की पुष्टि हुई। रिपोर्ट आने के दो दिन बाद उन्हें यशोदा अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। स्थिति यहां तक आई कि स्वस्थ होने के बाद पोस्ट कोविड में भी उन्हें भर्ती होना पड़ा था। कई दिनों तक भर्ती होने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिली थी। दो महीना बाद भी अभी कमजोरी सहित अन्य परेशानियों से जूझना पड़ रहा है।

2. डासना गेट स्थित छत्ता मोहल्ला निवासी एक युवा कारोबारी पिछले बीस दिन से बुखार, जुकाम व सिर दर्द से परेशान थे। तीन बार एंटीजन जांच कराई और तीनों बार रिपोर्ट निगेटिव आई। इसके बाद उन्होंने चौथी बार एंटीजन जांच कराने के साथ ही आरटीपीसीआर के सैंपल दिया। चौथी बार भी एंटीजन निगेटिव आई, लेकिन शाम को आरटीपीसीआर की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। लगातार स्वास्थ्य गिरने के कारण उन्हें प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया और तीन दिन तक वह वेंटीलेंटर पर रहने के बाद सांस लेने में सामान्य स्थिति में पहुंचे। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के दस दिन बाद भी कमजोरी ज्यादा होने से घर में ही आइसोलेट हैं।

3. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी की दो बार एंटीजन रिपोर्ट निगेटिव आई थी। एक दिन आईडीएसपी में बैठे थे, उसी दौरान उन्हें चक्कर आने लगा तो मौके पर मौजूद स्टाफ ने एंटीजन जांच के साथ ही आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लिया। उस दिन भी एंटीजन रिपोर्ट निगेटिव आई, लेकिन शाम तक आरटीपीसीआर रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई। उन्हें संतोष अस्पताल में भर्ती कराया गया।

संक्रमण मुक्त होने के बाद वह 11वें दिन संतोष से डिस्चार्ज कर दिए गए। लेकिन तीन दिन के बाद ऑक्सीजन सैचुरेशन कम होने पर प्राइवेट अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा। स्थिति यहां तक पहुंची कि उन्हें पांच दिन तक वेंटिलेटर पर रखा गया। बृहस्पतिवार को उन्हें जनरल वार्ड में शिफ्ट किया गया। यह सिर्फ तीन लोगों के साथ नहीं है बल्कि हजारों लोग ऐसे हैं जिनकी एंटीजन रिपोर्ट निगेटिव आती है, लेकिन आरटीपीसीआर में संक्रमण की पुष्टि हो जाती है।

हाल ही में नवंबर महीने में शासन के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने विशेष फोकस अभियान चलाया था। 10 दिवसीय विशेष कोरोना जांच अभियान के तहत 19 से 28 सितंबर तक चले इस अभियान में झुग्गी-झोपड़ी और मलिन बस्तियों से लेकर सरकारी कार्यालय, वृद्धाश्रम, बाल सुधार गृह, बाजार, सोसायटी और कारागार में लोगों की रैंडम जांच की गई। 10 दिन में 17043 लोगों के कोरोना टेस्ट किए गए।

इनमें 14130 एंटीजन और 2740 आरटी-पीसीआर जांच की गईं। विभागीय आंकड़ों के अनुसार एंटीजन जांच में सिर्फ 126 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई। एंटीजन जांच में संक्रमित दर 0.89 फीसदी है। इससे पहले 20 अक्तूबर से 12 नवंबर तक चलाए गए विशेष कोरोना जांच अभियान में 15314 एंटीजन जांच की गई थीं, जिसमें सिर्फ 51 संक्रमित पाए गए थे।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि आरटीपीसीआर जांच किए गए सैंपल में से छह फीसदी लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो रही है। एंटीजन जांच के बारे में कोई कुछ भी कहने को तैयार नहीं है।

संक्रमण लोड अधिक होने पर ही एंटीजन जांच में संक्रमण की पुष्टि हो पाती है। आरटीपीसीआर, सीटी स्कैन सहित अन्य हाइटेक जांच में संक्रमण की स्थिति और परसेंटेज का भी पता चल जाता है। लोगों से अपील है कि जांच कराने के बाद जब तक डाक्टर आपकी रिपोर्ट से संतुष्ट न हो जाएं, तब तक स्वयं आइसोलेट रहें और घर परिवार के अन्य सदस्यों से दूरी बनाकर रखें।

डा. आशीष अग्रवाल, आईएमए अध्यक्ष 

एंटीजन जांच में जिन मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आती है और किसी तरह के लक्षण मिल रहे हैं तो उनकी आरटी पीसीआर जांच भी की जाती है। अगर आरटी पीसीआर में पॉजिटिव आ जाती है तो उन्हें होमआईसोलेशन या अस्पताल में भर्ती करके उपचार किया जाता है। अब संक्रमण में धीरे-धीरे कमी आ रही है, लेकिन जब तक सर्दी का मौसम है लोगों को विशेष एहतियात बरतने की आवश्यकता है।

डा. एनके गुप्ता, सीएमओ

अक्तूबर व नवंबर में जांच की स्थिति एंटीजन जांच में पुष्टि – 1477 आरटीपीसीआर – 2478 ट्रूनॉट – 872 नवंबर में हुई संक्रमित एंटीजन जांच में पुष्टि – 1583 आरटीपीसीआर – 2259 ट्रूनॉट – 1026 इसमें कई मरीज ऐसे हैं जिनकी एंटीजन जांच में पुष्टि होने के साथ ही आरटीपीसीआर या ट्रूनॉट जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है।साभार-अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *