ताज़ा खबर :
prev next

गाजियाबाद,सबसे पहले पूरे होंगे यातायात से जुड़े तीन प्रोजेक्ट

गाजियाबाद। शहर के विकास को रफ्तार देने वाले यातायात से जुड़े प्रोजेक्ट में फंड की कमी आडे़ नहीं आएगी। सबसे पहले यातायात से जुड़े तीन प्रोजेक्ट पूरे होंगे। नॉदर्न पेरिफेरल रोड, मधुबन-बापूधाम आरओबी और हिंडन नए पुल का निर्माण कार्य तेज करने के अधिकारियों के साथ निर्माण एजेंसी सेतु निगम के निर्देश दिए हैं।

कोरोना काल में जीडीए की करीब 450 व्यावसायिक, औद्योगिक और आवासीय संपत्तियों की बिक्री हुई है। बिक्री से प्राधिकरण को 300 करोड़ से अधिक की आय हुई है। ऐसे में फंड की कमी से धीमी गति से चल रहे यातायात से जुड़े प्रोजेक्ट गति पकड़ेंगे। खुद जीडीए उपाध्यक्ष कृष्णा करुणेश की ओर से विकास से जुड़े प्रोजेक्टों की मॉनिटरिंग की जा रही है। ऐसे में इन सभी प्रोजेक्ट के तय समयसीमा में पूरा होने की संभावना बढ़ गई है।

सबसे पहले पूरा होगा नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड का पहला चरण
एनएच-9 को दिल्ली-मेरठ हाइवे और फिर लोनी तक जोड़ने वाले नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड प्रोजेक्ट के पूरा होने का शहरवासियों को लंबे अरसे से इंतजार है। तीन चरणों में पूरे होने वाले इस प्रोजेक्ट पर करीब 466.46 करोड़ खर्च होने हैं।

लेकिन प्रोजेक्ट की फंडिंग का प्रस्ताव शासन में लंबित है। ऐसे में जीडीए ने अपने स्तर से ही फंड खर्च कर एनपीआर का निर्माण शुरू कर दिया है। पहले चरण में एनपीआर प्रोजेक्ट में एनएच-9 से दिल्ली-मेरठ हाईवे तक 6.40 किमी सड़क का निर्माण होना। यहां प्राधिकरण ने अपने स्तर से करीब साढे़ तीन किलोमीटर सड़क का निर्माण किया है। बाकी सड़क के निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं।

मधुबन आरओबी में रेलवे जल्द शुरू करेगा काम
नॉर्दर्न पेरिफेरल रोड के जरिए एनएच-9 को दिल्ली-मेरठ हाईवे से जोड़ने के लिए रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण होना है। जीडीए ने आरओबी के निर्माण के लिए पहले दिसंबर 2019 की समयसीमा तय की थी। रेलवे से मंजूरी मिलने में देरी के कारण जिसे बाद में बढ़ाकर दिसंबर 2020 कर दिया गया। लेकिन कोरोना का हवाला देते हुए आरओबी निर्माण की समयसीमा अब फिर एक साल बढ़ चुकी है।

ऐसे में 64 करोड़ के इस प्रोजेक्ट में निर्माण एजेंसी सेतु निगम ने पिलर्स की पाइलिंग का काम शुरू कर दिया है। रेलवे को तीन करोड़ की पहली किस्त जारी हो चुकी है। ऐसे में रेलवे जल्द अपने हिस्से का निर्माण कार्य शुरू करेगा। आरओबी के नवंबर 2021 तक पूरा होने की पूरी संभावना है।

हिंडन नया पुल का काम तेज करने के निर्देश
हिंडन पर नए पुल के निर्माण का प्रस्ताव जनवरी 2018 की जीडीए बोर्ड बैठक में पास हुआ था। लेकिन करीब तीन साल बीतने के बावजूद पुल का 20 फीसदी निर्माण कार्य भी पूरा नहीं हो सका है। फंडिंग की आस में प्रोजेक्ट की फाइल करीब एक साल तक शासन के गलियारों में चक्कर काटती रही। जीडीए ने निर्माण का जिम्मा सरकारी एजेंसी सेतु निगम को दे तो दिया है, लेकिन कोरोना के चलते काम धीमी गति से चल रहा है।

जीडीए ने निर्माण एजेंसी को काम की रफ्तार बढ़ाने को पत्र लिखा है। ऐसे में साल के आखिरी तक नया पुलि तैयार होने की पूरी उम्मीद है। जीडीए सचिव संतोष कुमार राय ने बताया कि यातायात से जुड़े तीन प्रोजेक्ट के काम में गति लाने के निर्देश दिए गए हैं। एनपीआर, आरओबी व हिंडन नए पुल के काम की नियमित निगरानी रखी जा रही है। तीनों प्रोजेक्ट के निश्चित समयसीमा में पूरा होने की पूरी संभावना है।साभार-अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *