ताज़ा खबर :
prev next

IND vs AUS सिडनी टेस्ट ड्रॉ:अश्विन-विहारी ने साढ़े 3 घंटे बल्लेबाजी कर मैच बचाया, 6वें विकेट के लिए तीसरी सबसे बड़ी पार्टनरशिप की

अश्विन और विहारी ने 258 गेंदों में 68 रन की पार्टनरशिप की। यह 6वें विकेट के लिए गेंद के हिसाब से तीसरी सबसे बड़ी पार्टनरशिप है।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में खेला गया तीसरा टेस्ट ड्रॉ पर समाप्त हुआ। पांचवें दिन चोट के बावजूद रविचंद्रन अश्विन और हनुमा विहारी ने करीब साढ़े 3 घंटे बल्लेबाजी की और मैच बचाया। मैच के दौरान विहारी हैम-स्ट्रिंग और अश्विन कमर की चोट से जूझ रहे थे। भारत ने 23 साल बाद 100 से ज्यादा ओवर बल्लेबाजी कर मैच बचाया।

अश्विन और विहारी ने 258 गेंदों में 68 रन की पार्टनरशिप की। यह 6वें विकेट के लिए गेंद के हिसाब से तीसरी सबसे बड़ी पार्टनरशिप है। तीसरा टेस्ट ड्रॉ होने के साथ ही सीरीज अभी भी 1-1 की बराबरी पर है। 15 जनवरी से ब्रिस्बेन में आखिरी टेस्ट खेला जाएगा।

ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 407 रन का टारगेट दिया। जवाब में 5वें दिन भारत ने दूसरी पारी में पांच विकेट गंवाकर 334 रन बनाए। दिन के खेल में एक ओवर बाकी रहते ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने मैच ड्रॉ करने की घोषणा की।

40 साल में चौथी पारी में सबसे ज्यादा ओवर खेले
टीम इंडिया ने 40 साल बाद टारगेट चेज करते हुए चौथी पारी में सबसे ज्यादा ओवर बल्लेबाजी की। इससे पहले 1979-80 में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 131 ओवर बल्लेबाजी कर मैच बचाया था। ओवरऑल भारत ने पांचवीं बार सबसे ज्यादा बल्लेबाजी कर मैच बचाया। इंग्लैंड के खिलाफ 1979 में ओवल में भारत ने 150.5 ओवर बल्लेबाजी की थी, जो कि सबसे ज्यादा है।

ओवर खिलाफ ग्राउंड साल
150.5 इंग्लैंड ओवल 1979
136 वेस्टइंडीज कोलकाता 1948/49
132 वेस्टइंडीज मुंबई 1958/59
131 पाकिस्तान दिल्ली 1979/80
131 ऑस्ट्रेलिया सिडनी 2020/21

पेन ने विहारी का कैच छोड़ा
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने आज तीन कैच छोड़े। 123वें ओवर में मिचेल स्टार्क की 5वीं बॉल पर पेन ने विहारी का कैच छोड़ दिया। गेंद विहारी के बल्ले का किनारा लेकर पेन तक गई, लेकिन वे इसे पकड़ नहीं पाए। उस वक्त विहारी 15 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे। इससे पहले भी पेन ऋषभ पंत के 2 कैच छोड़े थे।

विहारी ने खेली सबसे धीमी पारी
हनुमा विहारी ने 112 गेंदों पर 6.25 की स्ट्राइक रेट से 7 रन बनाए। यह भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे धीमी पारी है। इससे पहले यशपाल शर्मा ने 1980/81 में एडिलेड में 157 बॉल पर 8.28 की स्ट्राइक रेट से 13 रन बनाए थे। उन्होंने भी एक क्षण पर 112 गेंद में 7 रन ही बनाए थे।

एबॉट ने अश्विन का कैच ड्रॉप किया
भारतीय पारी के 101वें ओवर में कमिंस की बॉल पर सब्सटिट्यूट फील्डर सीन एबॉट ने अश्विन का कैच छोड़ दिया। वे उस वक्त 15 रन बनाकर खेल रहे थे। एबॉट को विल पुकोव्स्की की जगह मैदान पर भेजा गया। पुकोव्स्की फील्डिंग के दौरान कंधे में चोट लगा बैठे थे। इसके बाद स्कैन के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया।

विहारी-अश्विन को चोट लगी
हनुमा विहारी और अश्विन दोनों चोट से जूझते दिखे। 1 रन लेने की चक्कर में विहारी के हैमस्ट्रिंग में खिंचाव आ गया। इसके बाद वे दर्द से कराहते दिखे। फीजियो के स्प्रे छिड़कने के बाद उन्होंने बल्लेबाजी की। वहीं कमिंस की एक बॉल अश्विन के कमर में लगी। इसके बाद वे भी दर्द से जूझते दिखे।

 

पुजारा के 6000 रन पूरे
चेतेश्वर पुजारा 77 रन बनाकर आउट हुए। जोश हेजलवुड ने उन्हें क्लीन बोल्ड किया। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 6000 रन पूरे किए। पुजारा ने 80वें मैच की 134वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल की। वे ऐसा करने वाले भारत के 11वें खिलाड़ी हैं। इसके साथ ही उन्होंने 26वीं फिफ्टी भी लगाई। पहली पारी में भी उन्होंने 50 रन बनाए थे। 2014 के बाद चौथी पारी में पुजारा का यह पहला अर्धशतक था।

ऋषभ पंत तीसरी बार नर्वस-90 में आउट
वहीं, ऋषभ पंत 97 रन बनाकर आउट हुए। नाथन लियोन ने उन्हें पैट कमिंस के हाथों कैच कराया। पंत तीसरी बार नर्वस-90 में आउट हुए। इससे पहले 2018 में राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के 2 मैच में वे 92-92 रन बनाकर आउट हुए थे। उन्होंने पुजारा के साथ चौथे विकेट के लिए 148 रन की पार्टनरशिप की।

यह टारगेट चेज करते हुए चौथे विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है। इससे पहले यह रिकॉर्ड विजय हजारी और रूसी मोदी के नाम था। इन दोनों ने 1948-49 में 139 रन की पार्टनरशिप की थी।

भारत के लिए टारगेट चेज करते हुए चौथे विकेट के लिए सबसे बड़ी पार्टनरशिप

पार्टनरशिप बल्लेबाज खिलाफ जगह, साल
148 चेतेश्वर पुजारा-ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया सिडनी, 2020/21
139 रूसी मोदी-विजय हजारे वेस्टइंडीज मुंबई, 1948/49
122 दिलीप वेंगसरकर-यशपाल शर्मा पाकिस्तान दिल्ली, 1979/80

चोट के बाद बैटिंग करने उतरे पंत पंत ने टेस्ट करियर की तीसरी फिफ्टी लगाई। उन्होंने 64 बॉल में अर्धशतक लगाया। वे ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट में टारगेट चेज करते हुए अर्धशतक लगाने वाले सबसे युवा विकेटकीपर बने। पंत को पहली पारी में बैटिंग के दौरान ही कोहनी में चोट लगी थी। इसके बावजूद वे बैटिंग करने उतरे थे।

टारगेट चेज करते हुए भारतीय विकेटकीपर के सबसे बड़े स्कोर

रन बल्लेबाज खिलाफ जगह, साल
114 ऋषभ पंत इंग्लैंड ओवल, 2018
97 ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया सिडनी 2020/21 (आज)
76* महेंद्र सिंह धोनी इंग्लैंड लॉ‌र्ड्स, 2007
67* पार्थिव पटेल इंग्लैंड मोहाली, 2016/17

पंत का ऑस्ट्रेलिया में बैटिंग एवरेज 56.88 का
पंत का ऑस्ट्रेलिया में बैटिंग एवरेज 56.88 का है। ऑस्ट्रेलिया में 200 से ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों में पिछले 60 साल में पंत का बैटिंग एवरेज सबसे ज्यादा है। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर उनकी बल्लेबाजी औसत 146 की है। 2018 में इसी ग्राउंड पर उन्होंने 159 रन की पारी खेली थी।

पंत को 2 जीवनदान मिले
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने पंत को 2 जीवनदान दिए। 40वें ओवर में नाथन लियोन की बॉल पंत के बल्ले का किनारा लेकर टिम पेन के पास गई, लेकिन वे कैच नहीं पकड़ सके। गेंद पेन के ग्लव्स में लगकर छूट गई। उस वक्त पंत 3 रन बनाकर खेल रहे थे।

इसके बाद 60वें ओवर में पेन ने एक और कैच छोड़ा। इस बार भी गेंदबाज लियोन ही थे। गेंद पंत के बल्ले का किनारा लेकर पेन के पास गई, लेकिन उन्होंने कैच ड्रॉप कर दिया। उस वक्त पंत 56 रन बनाकर खेल रहे थे।

पंत ने लियोन की गेंद पर अटैकिंग खेल दिखाया
पंत ने भारत की दूसरी पारी में 48वें ओवर में नाथन लियोन की बॉल पर 1 चौका और 1 सिक्स लगाया। इसके बाद लियोन के अगले ओवर (50वें) में फिर उनकी बॉल पर 2 चौके जड़े। 57वें ओवर में भी लियोन की दो लगातार गेंदों पर 2 छक्के लगाए।

रहाणे के रूप में 5वें दिन पहला विकेट गिरा
पांचवें दिन भारत ने 2 विकेट पर 98 रन से आगे खेलना शुरू किया। लियोन ने कप्तान अजिंक्य रहाणे को आउट कर टीम इंडिया को दिन का पहला झटका दिया। वे 4 रन बनाकर आउट हुए। रोहित शर्मा और शुभमन गिल चौथे दिन ही आउट हो कर पवेलियन लौट गए थे।

इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने दूसरी पारी 6 विकेट गंवाकर 312 रन पर घोषित कर दी थी। पहली पारी में 94 रन की लीड मिलाकर ऑस्ट्रेलिया ने 406 रन की बढ़त ली। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) पर अब तक 288 रन से ज्यादा चेज नहीं हुए। ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी बार 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ चौथी पारी में 2 विकेट पर 288 रन बनाकर मैच जीता था।

रोहित-शुभमन के बीच 71 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप
दूसरी पारी में रोहित शर्मा और शुभमन गिल ने लगातार दूसरी बार 71 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप की। पहली पारी में भी दोनों ने 70 रन की पार्टनरशिप की थी। जोश हेजलवुड ने भारत को पहला झटका दिया। उन्होंने शुभमन गिल को 31 रन के निजी स्कोर पर आउट किया।

बतौर ओपनर विदेश में रोहित की पहली फिफ्टी
चौथे दिन बतौर ओपनर विदेश में पहली फिफ्टी लगाने के बाद रोहित शर्मा आउट हुए। उन्हें पैट कमिंस ने मिचेल स्टार्क के हाथों कैच कराया। रोहित ने 98 बॉल पर 52 रन की पारी खेली। यह उनकी ओवरऑल 11वीं फिफ्टी रही। उन्होंने पुजारा के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 21 रन की पार्टनरशिप की।

ग्रीन की पहली फिफ्टी
पारी घोषित करने से पहले कैमरून ग्रीन ने टेस्ट में पहली फिफ्टी लगाई। वे 84 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें जसप्रीत बुमराह ने विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। वहीं, टिम पेन 39 रन बनाकर नाबाद रहे। वहीं, स्टीव स्मिथ ने टेस्ट करियर की 30वीं फिफ्टी लगाई। वे 81 रन बनाकर आउट हुए। रविचंद्रन अश्विन ने उन्हें सीरीज में तीसरी बार और कुल 5वीं बार अपना शिकार बनाया।

लगातार दूसरे दिन मंकीगेट विवाद
सिडनी टेस्ट में लगातार दूसरे दिन मंकीगेट विवाद हुआ। टेस्ट के चौथे दिन भी भारतीय बॉलर मो. सिराज पर दर्शकों ने नस्लभेदी टिप्पणी की। बाउंड्री के करीब बैठे दर्शकों की एक टोली लगातार सिराज को ब्राउन मंकी और बिग डॉग बोल रही थी। सिराज ने इसकी शिकायत फील्ड अंपायर पॉल राफेल से की। मैच रेफरी और टीवी अंपायर से फील्ड अंपायर ने बातचीत की और फिर पुलिस बुलाई गई। पुलिस ने 6 दर्शकों को बाहर निकाल दिया। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भी इस घटना पर टीम इंडिया से माफी मांगी है।

स्मिथ-लाबुशेन के बीच 103 रन की पार्टनरशिप
लाबुशेन और स्मिथ ने तीसरे विकेट के लिए 224 बॉल पर 103 रन की पार्टनरशिप की। लाबुशेन ने टेस्ट करियर की 10वीं फिफ्टी लगाई। वे 118 बॉल पर 73 रन बनाकर आउट हुए। सैनी ने उन्हें ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। लाबुशेन ने पिछली पारी में भी 91 रन बनाए थे। सैनी ने इसके बाद मैथ्यू वेड को भी पवेलियन भेजा। वेड कुछ खास नहीं कर सके और 4 रन बनाकर आउट हुए। सैनी अपने डेब्यू टेस्ट में अब तक 4 विकेट ले चुके हैं। पहली पारी में भी उन्होंने 2 विकेट लिए थे।

तीसरे दिन भारतीय टीम सिमटी
मैच के तीसरे दिन भारतीय टीम पहली पारी में 244 रन पर सिमट गई थी। भारत ने तीसरे दिन 96 रन पर 2 विकेट से आगे खेलना शुरू किया था। यानी तीसरे दिन टीम ने 148 रन बनाने में बाकी 8 विकेट गंवा दिए। चेतेश्वर पुजारा, पंत और रविंद्र जडेजा के अलावा कोई भी बल्लेबाज विकेट पर नहीं टिक सका। 4 बल्लेबाज तो दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके। दूसरे दिन भारत ने अपने दोनों ओपनर रोहित शर्मा और शुभमन गिल को गंवा दिया था।

दूसरे दिन जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया के 4 झटके दिए
जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया को 4 बड़े झटके दिए। पहले मार्नस लाबुशेन को 91 रन पर अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट कराया। उन्होंने टेस्ट करियर की 9वीं फिफ्टी लगाई। साथ ही स्मिथ के साथ तीसरे विकेट के लिए 100 रन की पार्टनरशिप भी की। जडेजा ने मैथ्यू वेड (13) को जसप्रीत बुमराह के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद पैट कमिंस और नाथन लियोन को खाता भी नहीं खोलने दिया। कमिंस बोल्ड हुए, जबकि लियोन को LBW किया। भारत ने पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया को 338 रन पर समेट दिया।

पहले दिन ऑस्ट्रेलिया की खराब शुरुआत पहले दिन मेजबान टीम की पहली पारी में खराब शुरुआत हुई। चौथे ओवर में ही मोहम्मद सिराज ने ऑस्ट्रेलिया को पहला झटका दिया। डेविड वॉर्नर 5 रन बनाकर पवेलियन लौटे। चेतेश्वर पुजारा ने उनका कैच लिया। इसके बाद पुकोव्स्की ने लाबुशेन के साथ दूसरे विकेट के लिए 100 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभाला। इसके बाद लाबुशेन ने स्मिथ के साथ तीसरे विकेट के लिए 100 रन की पार्टनरशिप की।साभार-दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *