ताज़ा खबर :
prev next

गाजियाबाद,थ्री डाइमेंशन में फ्लैट खरीदारों को बिल्डर ने वापस नहीं किया पैसा, रेरा में करेंगे अपील

  • रेरा ने कई फ्लैट खरीदारों को ब्याज सहित पैसा वापस करने का बिल्डर को दिया था आदेश       
  • आठ साल में प्रोजेक्ट का बेसमेंट भी नहीं हो सका तैयार                                                                 
  • रेरा के आदेश के बावजूद बिल्डर पैसा देने को नहीं तैयार                                                                 
  • जीडीए व जिला प्रशासन में शिकायत के बावजूद नहीं हुआ समाधान

गाजियाबाद। आठ साल बीतने के बावजूद राजनगर एक्सटेंशन स्थित थ्री डायमेंशन प्रोजेक्ट में फ्लैट खरीदारों को अब तक आशियाना नहीं मिल सका है। फ्लैट खरीदारों की ओर से 80 फ़ीसदी तक राशि जमा कराई जा चुकी है, लेकिन आठ सालों में प्रोजेक्ट का बेसमेंट तक तैयार नहीं हो सका है।

परेशान फ्लैट खरीदारों की शिकायत पर रेरा ने बिल्डर को ब्याज सहित पैसा लौटाने के आदेश दिए था, लेकिन बिल्डर आदेश मानने को तैयार नहीं है। कहीं से राहत मिलती न देख फ्लैट खरीदारों ने फिर से रेरा में अपील करने का निर्णय लिया है। फ्लैट खरीदारों का प्रतिनिधिमंडल रेरा सचिव से मिलकर बिल्डर पर कार्रवाई की मांग करेगा।

फ्लैट खरीदारों के मुताबिक फरवरी से लेकर नवंबर तक रेरा की ओर से बिल्डर को कई बार नोटिस जारी करे गए हैं, लेकिन अब तक बिल्डर ने खरीदारों का पैसा वापस नहीं किया है। परेशान फ्लैट खरीदारों ने जीडीए सचिव और जिला प्रशासन में शिकायत कर बिल्डर पर कार्रवाई करने के साथ उनका पैसा नियमानुसार वापस लौटवाने की गुहार लगाई है। साथ ही बिल्डर पर अंदर खाने साइट की जमीन बेचने के प्रयास करने का आरोप लगाया है। इसका फ्लैट खरीदने वाले लोगों ने पुरजोर तरीके से विरोध किया है।

फ्लैट खरीदारों ने बताया कि उन्होंने साल 2013 में थ्री डाइमेंशन प्रोजेक्ट में फ्लैट खरीदे थे। बिल्डर ने सभी फ्लैट खरीदारों को 2016 तक पजेशन देने की बात कही थी। 2020 बीतने को है, उन्हें अब तक फ्लैट का पजेशन नहीं मिला है।

बीते छह साल से प्रोजेक्ट की साइट पर काम पूरी तरह से बंद है। आठ सालों में प्रोजेक्ट का बेसमेंट तक तैयार नहीं हो पाया है। परेशान सभी फ्लैट खरीदारों ने रेरा में बिल्डर की शिकायत की थी। फ्लैट खरीदारों की शिकायत को संज्ञान में लेते हुए रेरा ने बिल्डर को ब्याज सहित पैसा वापस करने का आदेश दिया है। रेरा के आदेश का भी बिल्डर पर कोई फर्क नहीं पड़ा है।

बिल्डर से कई बार गुहार लगाने के बावजूद अब तक उनका पैसा वापस नहीं किया गया है। फिर जीडीए और जिला प्रशासन में शिकायत पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। ऐसे में रेरा में जाकर फिर से वह बिल्डर पर कार्रवाई की मांग करेंगे।साभार-अमर उजाला

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *