ताज़ा खबर :
prev next

जन धन खाताधारकों की संख्या 41 करोड़ के पार, बिना बैलेंस निकाल सकते हैं 10 हजार!, करना होगा ये काम

वित्त मंत्रालय ने ट्वीट किया, ‘सरकार सभी नागरिकों के वित्तीय समावेशन के लिये प्रतिबद्ध है. छह जनवरी 2021 तक जन धन खातों की संख्या 41 करोड़ के पार चली गयी और शून्य बैलेंस वाले खातों की संख्या मार्च 2015 के 58 प्रतिशत से कम होकर 7.5 प्रतिशत पर आ गयी. इससे हर जनधन खाताधारक के द्वारा उपयोग और अनुकूलन का स्पष्ट संकेत दिख रहा है.’

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री जन धन योजना के बारे में एक अच्छी खबर है. वित्त मंत्रालय ने आंकडे जारी कर जानकारी दी है कि प्रधानमंत्री जन धन योजना (पीएमजेडीवाई) से 41 करोड़ से अधिक लोगों को लाभ मिला है. वित्तीय समावेश को बढ़ावा देने वाली इस योजना के तहत छह जनवरी 2021 तक जनधन खातों की कुल संख्या 41.6 करोड़ हो गई. वित्त मंत्रालय ने ट्वीट किया, ‘सरकार सभी नागरिकों के वित्तीय समावेशन के लिये प्रतिबद्ध है. छह जनवरी 2021 तक जनधन खातों की संख्या 41 करोड़ के पार चली गयी और शून्य बैलेंस वाले खातों की संख्या मार्च 2015 के 58 प्रतिशत से कम होकर 7.5 प्रतिशत पर आ गयी. इससे हर जनधन खाताधारक के द्वारा उपयोग और अनुकूलन का स्पष्ट संकेत दिख रहा है.’

जारी हुए 1.8 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड
वित्त मंत्रालय ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि बैंकों ने आठ जनवरी 2021 तक 1.68 लाख करोड़ की क्रेडिट सीमा के साथ 1.8 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) जारी किये हैं. इससे किसानों को बहुत फायदा पहुंचा है.

साल 2014 में शुरू हुई थी योजना
प्रधानमंत्री जनधन योजना की शुरुआत 28 अगस्त  2014 में हुई थी. केंद्र सरकार ने 2018 में अधिक सुविधाओं और लाभ के साथ इस योजना का दूसरा संस्करण शुरू किया. सरकार ने योजना के दूसरे संस्करण में प्रत्येक परिवार के स्थान पर हर उस व्यक्ति को लक्ष्य बनाने का निर्णय लिया, जो बैंकिंग सुविधा का लाभ नहीं ले सके थे. इसके अलावा 28 अगस्त 2018 के बाद खुले जनधन खातों पर रुपे कार्ड के धारकों के लिये नि:शुल्क दुर्घटना बीमा का कवर दोगुना यानी दो लाख रुपये कर दिया गया.

मिलती हैं कई सुविधाएं
जनधन योजना के तहत 10 साल से अधिक उम्र के बच्चे का खाता भी खुलवाया जा सकता है.
इस योजना के तहत खाता खुलवाने पर आपको रूपे एटीएम कार्ड, 2 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा कवर, 30 हजार रुपए का लाइफ कवर और जमा राशि पर ब्याज मिलता है.
आपको इस पर आपको 10 हजार की ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी मिलती है. ओवरड्राफ्ट की सुविधा का फायदा लेने के लिए आधार कार्ड होना जरूरी है.
इस अकाउंट को किसी भी बैंक में खोला जा सकता है.
इसमें आपको मिनिमम बैलेंस मैंटेन नहीं करना होता है.

ऐसे जनधन अकाउंट को करें आधार से लिंक
आप बैंक जाकर खाते को आधार से लिंक कर सकते हैं.

बैंक में आपको आधार कार्ड की एक फोटो कॉपी, अपना पासबुक ले जाना होगा. कई सारे बैंक अब मैसेज के जरिए भी खाते को आधार से लिंक कर रहे हैं.

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के ग्राहक अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से मैसेज बॉक्स में जाकर UID<SPACE>आधार नंबर<SPACE>खाता नंबर लिखकर 567676 पर भेज दे, आपका बैंक खाता आधार से जुड़ जाएगा.

ध्यान रहे कि अगर आपके आधार और बैंक दी गई मोबाइल नंबर अलग-अलग हैं तो लिंक नहीं होगा. इसके अलावे आप अपने नज़दीकी एटीएम से भी अपने बैंक खाते को आधार से लिंक कर सकते हैं.

10 हजार रुपए निकालने की सुविधा
जनधन खाता के कई फायदे भी हैं. जनधन खाता है तो आप ओवरड्रॉफ्ट के जरिए अपने खाते से अतिरिक्त 10,000 रुपये तक निकाल सकते हैं. ओवरड्राफ्ट की सुविधा का फायदा लेने के लिए आधार कार्ड होना जरूरी है. ओवरड्राफ्ट सुविधा वह सुविधा है जिसके तहत खाताधाकर खाते से तब भी पैसा निकाल सकता है, जब उसके खाते में कोई पैसा नहीं हो. यानी की खाताधारक के खाते का बैलेंस शुन्य हो. अगर किसी प्रधानमंत्री जन धन खाते को आधार कार्ड से लिंक नहीं किया गया है, तो उस अकाउंट पर ओवरड्राफ्ट सुविधा का लाभ नहीं मिल सकेगा.

ओवरड्राफ्ट सुविधा लेने की शर्त
इस सुविधा का फायदा लेने के लिए खाताधारक को पहले 6 महीने तक खाते में पर्याप्त पैसे रखने होते हैं और इस दौरान उन्हें समय-समय पर इस अकाउंट से लेनदेन भी करते रहना चाहिए.साभार-जी उत्तर प्रदेश

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *