ताज़ा खबर :
prev next

होली पर्व में मिलावट खोर सक्र‍िय, इस हेल्‍पलाइन नंबर पर करें श‍िकायत, फौरन पहुंचेगी जांच को टीम

होली में मिलावटी सामान की बिक्री रोकने की कवायद। गड़बड़ी फैलाने वालों पर होगी कार्रवाई। मैदा आलू और कद्दू में रंग वाला खोवा तो दूध में पानी और प्रतिबंधित पाउडर । खतरनाक रंगों से बन रही नमकीन।

लखनऊ, जेएनएन। होली पर दूध और उससे बने खाद्य उत्पादों में अगर आपको गड़बड़ी लगे तो बस आप हेल्पलाइन नंबर घुमाकर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। साथ ही अब खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के पोर्टल पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

होली पर खाद्य पदार्थों में बड़े पैमाने पर मिलावट की जाती है। सबसे अधिक मिलावट दूध, खोवा और इससे बनने वाले अन्य उत्पादों में होती है। एफएसडीए की टीम ने बीते एक माह में करीब 165 मिलावट के मामले पकड़े हैं। अभिहीत अधिकारी एसपी सिंह के मुताबिक होली पर मिलावटी सामान नहीं बिके इसके लिए हेल्पलाइन व पोर्टल नंबर पर शिकायत दर्ज कर सकते हैं। शिकायत मिलते ही संबंधित डीओ के पास सूचना चली जाती है। इसके बाद इसकी जांच होगी।

जनपद में होली में मिलावट को रोकने के लिए प्रत्येक जोन में खाद्य निरीक्षकों को लगाया गया है। करीब दो दर्जन टीमें लगातार खाद्य पदार्थों के नमूने ले रही है। विभाग ने ग्राहकों से भी सामान खरीदते समय थोड़ी सावधानी बरतने की अपील की है।

मिलावटखोर सक्रिय, रहें सावधान  

  • सिंथेटिक पनीर को पहचाने
  • होली पर पनीर की बढ़ी डिमांड को पूरा करने के लिए सिंथेटिक पनीर सप्लाई किया जाता है। इसे बनाने में स्किम्ड मिल्क और खाने वाले सोडे के अलावा घटिया पाम आयल, वेजीटेबल आयल और बेकिंग पाउडर का प्रयोग होता है। यह थोक में 80 रुपये तक मिलता है। यह पनीर खाने में रबर सा और पीले रंग का होता है।

मैदा, आलू और कद्दू में रंग वाला खोवा : होली पर खोवा की मांग पूरी करने के लिए आसपास के इलाकों से मिलावटी खोवा की बड़ी सप्लाई होती है। मिठाइयों को तैयार करने में जिस खोवा का इस्तेमाल किया जा रहा है उसे मैदा, आलू और आरारोड से तैयार किया जाता है।

दूध में पानी और प्रतिबंधित पाउडर: दूध में गंदा पानी और दूषित बर्फ का इस्तेमाल किया जाता है। दूध को कई दिनों तक बनाए रखने के लिए उसमें प्रतिबंधित माल्टो डेक्सिट्रन पाउडर भी मिलाते हैं। इसलिए दूध खरीदते समय सावधान रहें।

खतरनाक रंगों से बन रही नमकीन : इस दौरान बाजार में तरह-तरह के चिप्स, पापड़ और दालमोठ हैं, जिनमें मानकों से कई गुना अधिक कलर मिलाकर बेचा रहा है। यह रंग उस स्तर पर है जो आपकी सेहत बिगाड़ सकता है।

रंग वाले मसाले और मिर्च : मांग पर रंग वाले मसाले और हल्दी-मिर्च आपका लिवर खराब कर सकते हैं। कुछ लोग चटक रंग के लिए  प्रतिबंधित केमिकल सूडान-1 मिला देत हैं। साभार-दैनिक जागरण

यहां करें श‍िकायत 

  • हेल्पलाइन नंबर 1800112100 पर कर सकते हैं शिकायत।
  • पोर्टल पर दर्ज करें शिकायत एफओएससीओएस.एफएसएसएआइ.जीओवी.इन।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *