ताज़ा खबर :
prev next

गाजियाबाद,डासना में जुटा हुजूम, फोर्स रही तैनात

पढ़िए दैनिक जागरण की ये खबर…

गाजियाबाद: डासना धार्मिक स्थल पर पानी पीने को लेकर किशोर को पीटने का वीडियो वायरल होने के बाद शुरू हुआ बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा। पुलिस-प्रशासन के तमाम प्रयास के बाद भी शुक्रवार को धार्मिक स्थल पर लोगों का भारी हुजूम जुट गया। ट्विटर पर आह्वान के चलते यहां दो हजार से अधिक लोग पहुंचे और पूरे दिन सभा हुई। इस दौरान अधिकारी स्थल के आसपास जुटे रहे। शाम पांच बजे भीड़ छंटने पर अधिकारियों ने राहत की सांस ली। हालांकि देर रात तक इलाके में भारी फोर्स तैनात रही और अधिकारी भी जुटे रहे। मंडलायुक्त व आइजी लेते रहे अपडेट

स्थल के अंदर के वीडियो व फोटो देख मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह व आइजी रेंज मेरठ प्रवीण कुमार ने नाराजगी जताई। आलाधिकारियों को फोन कर पूछा कि आखिर इतनी बड़ी संख्या में लोगों को क्यों इकट्ठा होने दिया गया। दोनों अधिकारी घटनास्थल पर तो नहीं पहुंचे, लेकिन आसपास के क्षेत्र में रहते हुए मौके पर मौजूद अधिकारियों से लगातार अपडेट लेते रहे। वहीं एलआइयू टीम भी सूचनाएं लेती रही।

यह था मामला

वीडियो वायरल होने के बाद किशोर को पीटने व वीडियो बनाने के आरोपित को मसूरी पुलिस ने जेल भेज दिया था। इसके बाद कांग्रेसी किशोर से मिलने पहुंचे तो वहीं एक वीडियो वायरल कर धौलाना विधायक असलम चौधरी के 19 मार्च को जुमे की नमाज के बाद धार्मिक स्थल पर आने की बात कही गई। साथ ही धार्मिक स्थल में समुदाय विशेष के लोगों के घुसने पर पाबंदी वाला बोर्ड हटाने की चेतावनी दी गई। दूसरे पक्ष ने इसी दिन धार्मिक स्थल पर बड़ी संख्या में लोगों से जुटने की अपील की। हालांकि बृहस्पतिवार देर रात असलम चौधरी ने वीडियो जारी कर स्पष्ट किया कि वह धार्मिक स्थल नहीं जाएंगे। शुक्रवार को पुलिस ने धार्मिक स्थल की ओर आने वाले हर रास्ते पर चेकिग लगा रखी थी। एसपी ग्रामीण डॉ. ईरज राजा, एडीएम प्रशासन संतोष कुमार वैश्य, एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह, सीओ सदर केएन पांडेय, सीओ प्रथम अभय कुमार मिश्र समेत कई थानों की फोर्स के साथ एनएच-9 पर भी पीएसी की गाड़ियां लगाई गई थीं।

लगाया बड़ा बोर्ड

यहां जुटे लोगों को स्थल के संचालक यति नरसिंहानंद समेत कई लोगों ने संबोधित किया और कहा कि धार्मिक स्थल से पाबंदी वाला बोर्ड नहीं हटेगा। शुक्रवार को स्थल के बाहर ऐसा ही एक और बड़ा बोर्ड भी लगा दिया गया। सभा में लोगों ने कहा कि स्थल की परंपरा का पालन करते हुए कोई भी आएगा तो उसका स्वागत है। सुबह से लेकर शाम चार बजे तक यहां लोग आते रहे। स्थल के बाहर खड़े होकर पूरे दिन नारेबाजी होती रही। धार्मिक स्थल पहुंचने वालों में मुख्य रूप से राष्ट्रीय सैनिक संस्था के अध्यक्ष कर्नल टीपी त्यागी, करणी सेना युवा शक्ति के प्रदेश अध्यक्ष शेखर चौहान, तुफैल चतुर्वेदी, मधु किश्वर, अंकुर आर्य, शशिभूषण त्यागी, शुभम मंगला, अमित शर्मा व दीपक सिंह समेत कई लोग मौजूद रहे।

दो से हुई मारपीट

धार्मिक स्थल के बाहर वीडियो बना रहे एक यूट्यूबर समेत दो से लोगों ने मारपीट भी की। आरोप लगाया कि आयोजन को लेकर ये अशोभनीय टिप्पणी कर रहे थे। हालांकि पुलिस अधिकारियों ने दोनों को हमलावरों के चंगुल से छुड़ाया।

अब कार्रवाई की तैयारी में पुलिस

धार्मिक स्थल पहुंचे एक व्यक्ति ने एक कांग्रेस नेत्री के लिए गाली-गलौज कर विवादित टिप्पणी करते हुए वीडियो बनाया। यह वीडियो शुक्रवार सुबह से ही ट्विटर पर वायरल हो रहा है। ऐसे ही कई अन्य वीडियो भी वायरल हो रहे हैं, जिनमें आयोजन को लेकर भी टिप्पणी की जा रही है। एसपी ग्रामीण का कहना है कि फिलहाल कोई केस दर्ज नहीं किया गया है। मगर सोशल मीडिया टीम ऐसे ट्वीट व पोस्ट चिह्नित कर रही है, जिनसे माहौल खराब करने की कोशिश की गई है। इन्हें चिह्नित कर सख्त कार्रवाई करेंगे।

आयोजन धार्मिक स्थल के अंदर हुआ। इसको लेकर पुलिस-प्रशासन मुस्तैद था। शाम को यह स्थल खाली हो गया था। माहौल खराब करने को डाले गए वीडियो व की गई पोस्ट को चिह्नित कर रहे हैं। इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।साभार-दैनिक जागरण

– डॉ. ईरज राजा, एसपी ग्रामीण।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *