ताज़ा खबर :
prev next

UP: तो क्या अब योगी सरकार उत्तर प्रदेश में लगाएगी बुर्के पर पाबंदी

पढ़िए आँखोंदेखी लाइव की ये खबर…

Burka Band in up: उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य राज्य मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने बुधवार को बुर्का को अमानवीय व्यवहार और कुप्रथा करार देते हुए कहा कि मुस्लिम महिलाओं को भी देश में तीन तलाक की तर्ज पर बुर्के से मुक्त किया जाएगा। इससे पहले मंगलवार को शुक्ला ने डीएम को पत्र लिखकर कहा था कि उन्हें अजान से लाउडस्पीकर से दिक्कत हो रही है। इससे पहले वह पूर्व राष्ट्रपति डॉ. अब्दुल कलाम पर भी विवादित बयान दे चुके हैं।

बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए, शुक्ला ने कहा कि बुर्का कई मुस्लिम देशों में प्रतिबंधित है और यह अमानवीय व्यवहार और कुप्रथा है। उन्होंने यह भी कहा कि विकसित सोच वाले लोग न तो बुर्का पहनते हैं और न ही इसे बढ़ावा देते हैं।

मंगलवार को अजान से दिक्कत के चलते डीएम को दिया पत्र

आपको बता दें कि मंगलवार को अजान के बारे में बयान देते हुए शुक्ला ने कहा था कि उन्होंने जिलाधिकारी को एक पत्र लिखा है जिसमें आम लोगों की शिकायत पर मस्जिद में स्थापित लाउडस्पीकर के कारण होने वाली समस्या का उल्लेख किया गया है। उन्होंने कहा कि अजान सुबह चार बजे शुरू होती है और उसके बाद चार से पांच घंटे तक दान के बारे में सूचना प्रसारित की जाती है। इसके कारण, उन्हें पूजा, योग, व्यायाम और आधिकारिक कार्य के निर्वहन में कठिनाई होती है। मंत्री ने कहा कि आम लोग डायल 112 पर कॉल कर मस्जिद में स्थापित लाउडस्पीकर से होने वाली समस्या के बारे में सूचित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी को लिखे गए पत्र पर कार्रवाई की जाएगी। शुक्ला ने कहा कि अगर उनके पत्र पर कार्रवाई नहीं की गई तो वह और कदम उठाएंगे।

मंत्री अपने बयानों के लिए चर्चा में रहे हैं

आनंद स्वरूप शुक्ला, अजान और बुर्का के बयान से पहले भी अपनी बयानबाजी को लेकर चर्चा में रहे हैं। शुक्ला ने मिसाइल मैन डॉ. अबुल कलाम आज़ाद के बारे में भी विवादित टिप्पणी की थी। उन्होंने भारतीय नायकों पर छत्रपति शिवाजी और महाराणा प्रताप की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि डॉ. अबुल कलाम आज़ाद का भारत और भारतीयता के दिल में कोई स्थान नहीं था। दिसंबर में चंद्रशेखर विश्वविद्यालय के कार्यक्रम में शुक्ला ने बयान में कहा था कि इतिहास में दिखाई गई चीजों में अकबर को एक महान शासक बताया गया है जबकि आईना ए अकबरी और अकबर के समकालीन इस्लामी इतिहासकारों ने उन्हें कभी महान नहीं कहा।साभार-आँखोंदेखी लाइव

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

 हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *