ताज़ा खबर :
prev next

Bengal Chunav: हावड़ा में चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन पर फेंके गए पत्थर

पढ़िए दैनिक जागरण की ये खबर…

West Bengal Assembly Election 2021 हुसैन ने इंटरनेट मीडिया पर एक वीडियो साझा किया जिसमें वह ड्यूटी पर तैनात अधिकारी को दो पत्थर दिखा रहे हैं और कथित घटना के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

कोलकाता, राज्य ब्यूरो। भाजपा नेता व बिहार के मंत्री शाहनवाज हुसैन ने दावा किया कि जब वह बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार रात उत्तर हावड़ा में प्रचार कर रहे थे, तब उन पर पत्थर फेंके गए। हुसैन ने इंटरनेट मीडिया पर एक वीडियो साझा किया, जिसमें वह ड्यूटी पर तैनात अधिकारी को दो पत्थर दिखा रहे हैं और कथित घटना के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। हुसैन ने ट्वीट किया, “तृणमूल कार्यकर्ताओं ने मुझ पर पत्थर फेंके, जब मैं उत्तर हावड़ा विधानसभा क्षेत्र के मुजफ्फर चौक पर एक सभा को संबोधित कर रहा था।”उन्होंने कहा कि वह सुरक्षित हैं और भाजपा कार्यकर्ताओं ने घटना के संबंध में हावड़ा के गोलाबारी थाने में एक शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने इस सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज करने की पुष्टि की है।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन की हावड़ा उत्तर विधानसभा क्षेत्र के मुजफ्फर चौक में हो रही सभा में अचानक उस वक्त हंगामा मच गया जब सभा में उमड़ी भारी भीड़ के ऊपर कुछ पत्थर फेंके गए। गोलाबारी थाने में स्थानीय भाजपा उम्मीदवार उमेश राय ने शिकायत दर्ज करा दी है।  शाहनवाज हुसैन हावड़ा उत्तर विधानसभा क्षेत्र के मुजफ्फर चौक में यहां से भाजपा उम्मीदवार उमेश राय के समर्थन में सभा को संबोधित कर रहे थे।

शाहनवाज हुसैन ने कहा कि भाजपा की सभाओं में उमड़ रही भीड़ से टीएमसी घबरा गई है। टीएमसी के गुंडों ने पत्थरबाजी की और हमारी सभा को बिगाड़ने की कोशिश की। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता टीएमसी के गुंडों से डरने वाले नहीं हैं।

शाहनवाज हुसैन ने थाने में सवाल उठाया कि उनकी सभा में सुरक्षा का बंदोबस्त बंगाल पुलिस ने क्यों नहीं किया, जबकि वो वाई प्लस सीआरपीएफ कवर हैं। शाहनवाज ने कहा कि थाने में जब उन्होंने यह सवाल पूछा कि वाई प्लस सीआरपीएफ कवर के बावजूद उनकी सभा में सुरक्षा इंतजाम क्यों नहीं था।

इससे पहले हावड़ा के ही खेजुरतला में कानून व्यवस्था भंग होने का हवाला देकर पुलिस ने उन्हें सभा में जाने से रोक दिया था जिसके बाद वो धरने पर बैठे, हालांकि अगले दिन उसी इलाके में उन्होंने  सभा को संबोधित किया।

बंगाल में विधानसभा चुनाव का तीसरा चरण भी संपन्न हो गया, लेकिन हिंसा नहीं रूकी। चुनाव आयोग की ओर से हिंसा रोकने के लिए अब तक जो भी इंतजाम किए गए हैं वह नाकाम साबित हो रहे हैं। वहीं दूसरी ओर राज्य में 294 विधानसभा सीटों पर आठ चरणों में मतदान होने हैं। पहले चरण का मतदान 27 मार्च और दूसरे चरण का मतदान 1 अप्रैल, 6 अप्रैल को तीसरे चरण का मतदान, 10 अप्रैल को चौथे,  17 अप्रैल को पांचवें,  22 अप्रैल को छठे, 26 अप्रैल को सातवें और 29 अप्रैल को आठवें चरण का मतदान होगा। नतीजे दो मई को आएंगे।

दरअसल बंगाल में चौथे चरण में हुगली जिले की 10 विधानसभा सीटों पर 10 अप्रैल को मतदान होगा। जिन सीटों पर मतदान होने हैं उनमें उत्तरपाड़ा, श्रीरामपुर, चंडीतला, चांपदानी, सिंगुर, सप्तग्राम, पांडुआ, चुंचुड़ा, बलागढ़ तथा चंदननगर शामिल है। साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *