ताज़ा खबर :
prev next

इस देश का राजा जीता है ऐशो आराम की जिंदगी, हर साल करता है कुंवारी लड़की से शादी, जनता टुकड़ों को मोहताज़

पढ़िए आँखोंदेखी लाइव की ये खबर…

हम सभी जानते हैं कि दुनिया में बहुत पहले ही राजतंत्रीय व्यवस्था (राजशाही) को समाप्त कर दिया गया था। इसका कारण राजा द्वारा बनाए गए अजीबोगरीब नियम और कानून हैं। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि अफ्रीका में एक देश है, जहां आज भी राजशाही पूरी तरह से सत्ता में है। इस देश का नाम स्वाज़ीलैंड है। यह देश अफ्रीका महाद्वीप में दक्षिण अफ्रीका के साथ सन्निहित है। वर्ष 2018 में, देश की आजादी के 50 साल पूरे होने के बाद, यहां के राजा ने देश का नाम बदलकर द किंगडम ऑफ इस्वातिनी कर दिया। यहां के अजीबोगरीब कानून के बारे में जानकर आप भी दंग रह जाएंगे।

अगस्त-सितंबर के महीने में विशेष त्योहार होता है

यह देश प्रकृति में इतना सुंदर है कि इसे रहस्यों से भरा देश भी कहा जाता है। नेशनल ज्योग्राफिक में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, इस देश में हर साल अगस्त-सितंबर के महीने में महारानी की मां लुडजिनी के शाही गांव में ‘उमलंगा सेरेमनी समारोह’ आयोजित किया जाता है, जिसमें 10,000 से अधिक कुंवारी लड़कियां शामिल होती हैं। इस त्यौहार के तहत देश की कुंवारी लड़कियों को राजा के सामने प्रस्तुत किया जाता है। इन लड़कियों में से राजा अपनी नई रानी को चुनता है।

राजा जीता है शानोशौकत की जिंदगी, जनता टुकड़ों को मोहताज़

इसके अलावा, इस देश के राजा पर लगातार यह आरोप लगते रहते हैं कि वह खुद बहुत शानोशौकत की जिंदगी व्यतीत करता है, जबकि उसके देश में एक बड़ी आबादी बहुत गरीब है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि इस देश की कुल जनसंख्या लगभग 13 लाख है, लेकिन यहां 63 प्रतिशत लोग अभी भी गरीबी रेखा से नीचे हैं। इस देश की जनता की गरीबी का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि उनके पास न तो पूरा खाना खाने के लिए पैसे हैं और न ही पहनने के लिए कपड़े। लेकिन यहां के राजा के पास अरबों की संपत्ति है और यह संपत्ति दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। साभार-आँखोंदेखी लाइव

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *