ताज़ा खबर :
prev next

गाजियाबाद,कोरोना जांच को लेकर मची मारामारी

पढ़िए दैनिक जागरण की ये खबर… 

गाजियाबाद : कोरोना केसों में एकाएक वृद्धि होने के साथ ही खांसी, जुकाम और बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। जिला एमएमजी अस्पताल में बनाए गए दोनों बूथों पर सोमवार को करीब एक हजार लोग जांच कराने पहुंच गए। अधिक भीड़ आने के साथ ही वायरल ट्रांसपोर्ट मीडियम (वीटीएम) खत्म हो गई। कक्ष संख्या-33 में संचालित कोरोना जांच बूथ पर सुबह दो घंटे बाद ही वीटीएम खत्म होने पर जांच कराने आए लोगों ने हंगामा कर दिया। चिकित्सकों एवं लैब टेक्नीशियनों ने लोगों को बड़ी मुश्किल से शांत किया।

लैब टेक्नीशियन पल्लवी ने बताया कि सभी की रैपिड एंटीजन किट से कोरोना जांच की जा रही है। रैन बसेरे में चल रहे जांच बूथ पर आरटी-पीसीआर जांच के लिए अतिरिक्त भीड़ पहुंचने पर यहां भी हंगामा हो गया। बूथ को दो घंटे के लिए बंद कर दिया गया। बाद में पुलिस की मौजूदगी में बूथ को चालू किया गया। संयुक्त अस्पताल में चल रहे जांच बूथ पर भी वीटीएम खत्म हो गई। देर शाम तक जिला एमएमजी एवं संयुक्त अस्पताल में आरटी-पीसीआर जांच के लिए सैंपल एकत्र नहीं किए जा सके।

वीटीएम से होता है वायरस ट्रांसफर

व्यक्ति के मुंह एवं नाक से जांच के लिए वायरस को ट्रांसफर करने के लिए वीटीएम की जरूरत होती है। इसमें वायरस को सुरक्षित रखने के बाद लैब को भेजा जाता है। अप्रैल महीने में दो लाख लोगों की कोरोना जांच के लक्ष्य के सापेक्ष दो लाख वीटीएम की जरूरत है। शासन स्तर से वीटीएम बहुत कम भेजी गई हैं।

वीटीएम खत्म होने से सोमवार को कोरोना जांच बूथ पर केवल रैपिड एंटीजन जांच की गई हैं। सीएमओ से वीटीएम की मांग की गई है। लोगों ने हंगामा किया था लेकिन समझाकर शांत कर दिया गया। सभी को दूसरे बूथ पर भेजकर उनकी जांच कराई गई है। साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *