ताज़ा खबर :
prev next

UP में लॉकडाउन कब लगेगा?:CM योगी बोले- भ्रम में न रहें, न होगी तालाबंदी न ही लोगों को मरने देंगे; अफसरों को चेताया- बेड की शिकायत न मिले

पढ़िए दैनिक भास्कर की ये खबर…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कोविड-19 की टीम इलेवन के साथ मीटिंग के दौरान ये स्पष्ट कर दिया कि प्रदेश में लॉकडाउन नहीं लगेगा CM ने अफसरों को चेताते हुए कहा कि न तो तालाबंदी करेंगे न ही हम जनता को मरने नहीं देंगे। कहा कि बेड की शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। आवश्यकतानुसार प्राइवेट अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों का टेकओवर करें। योगी ने जिलों में टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट पर जोर दिया।

यूपी सरकार ने कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। कहा गया है कि किसी भी तरह के समारोह में बंद जगह में 50 और खुली जगह में 100 लोग ही शामिल होंगे। हालांकि समारोह स्थल की क्षमता को आधार बनाया गया है। कुल क्षमता का 50 प्रतिशत से ज्यादा भीड़ नहीं होनी चाहिए।

15 मिनट में रिस्पांस करें एंबुलेंस
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए एल-2 और एल-3 अस्पतालों के बेड्स पर्याप्त मात्रा में बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए उन्होंने निजी हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज का टेकओवर करने के भी निर्देश दिया। उन्होंने निजी अस्पतालों और लैब में निर्धारित दरों से अधिक वसूली पर नाराजगी जाहिर की और कार्रवाई के निर्देश दिए। कहा कि किसी की मजबूरी का फायदा नहीं उठाने दिया जाएगा। इसे सख्ती के साथ रोकें। गलत जानकारी देने पर कठोर कार्यवाही होगी। मुख्यमंत्री ने 108 एंबुलेंस सेवा को आधी कोविड, आधी बिना कोविड के लिए और एंबुलेंस का रेस्पांस टाइम 15 मिनट रखने के निर्देश दिए। उन्होंने पूरी लड़ाई का केंद्र बिंदु इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को बनाने और उसकी एक-एक गतिविधि की निगरानी पर जोर दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के खिलाफ संघर्ष को पूरी तैयारी के साथ मजबूती से लड़ना होगा। इस संघर्ष में लापरवाही की कोई गुंजाइश नहीं है। पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण को नियंत्रण करने में सफलता मिली है। उसी प्रकार से इस बार भी हम मजबूती से लड़ाई लड़ते हुए हम सफल होंगे।

निजी लैब्स भी हो सकती हैं टेकओवर
सीएम योगी ने जांच और उसकी रिपोर्ट में देरी पर अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इस बारे में निजी लैब्स का भी सहयोग लिया जाए और जरूरी हो तो टेकओवर कर इसके बदले में पेमेंट किया जाए, लेकिन किसी सूरत में जांच रिपोर्ट में देरी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने लैब और टेस्टिंग की क्षमता के विस्तार पर जोर दिया है। RTPCR की टेस्ट की क्षमता को 70 फीसदी तक पहुंचाने के निर्देश दिए हैं।

कल की अपेक्षा नए केस में राहत मगर मौत बढ़ी

बीते 24 घंटे में सोमवार को प्रदेश में 13,685 कोरोना के नए मरीज मिले तो 72 संक्रमित की मौत हो गई। बीते 12वें दिन भी लखनऊ में सबसे ज्यादा 3,892 केस मिले और 21 मौतें हुई हैं। मृतकों की संख्या 9,224 हो गई तो मौजूदा समय में सक्रिय केस 81,576 हो गई है।

लखनऊ में 3,892 के नए आए और 958 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। 21 मौतों के बाद लखनऊ में मरने वालों की संख्या 1,353 हो गई है। मौजूदा समय में लखनऊ में 23,090 केस सक्रिय है। इसके अलावा वाराणसी में 1,417, प्रयागराज में 1,295, कानपुर नगर में 716, गोरखपुर में 474, मेरठ में 336, झांसी में 267 बलिया में 230 केस मिले हैं।रविवार को 24 घंटे के भीतर 15,353 नए मामले सामने आए थे। जबकि 67 लोगों की मौत हुई थी। साभार- दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *