ताज़ा खबर :
prev next

Oxygen Cylinder for home: होम आइसोलेशन वाले कोरोना मरीज घर में रख सकते हैं ऑक्सिजन सिलिंडर? जानिए हर सवाल का जवाब

पढ़िए नवभारत टाइम्स की ये खबर…

कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार के साथ ऑक्सिजन सिलिंडर की खपत भी बढ़ रही है। डॉक्टरों का कहना है कि अगर कोरोना संक्रमित मरीज का ऑक्सिजन लेवल नीचे आ जाए तो इस प्रकार के ऑक्सिजन सिलिंडर का प्रयोग करके उसे बचाया जा सकता है।

हाइलाइट्स:

  • कोरोना संक्रमण से देशभर में हालात खराब, संक्रमित को अस्पताल में बेड मिलना भी मुश्किल
  • घर पर आईसीयू की सुविधा मुहैया करवाई जा रही है, उसके लिए मोटा चार्ज लिया जा रहा है
  • डॉक्टरों का कहना है कि अगर ऑक्सिजन लेवल नीचे हो तो सिलिंडर का इस्तेमाल किया जा सकता है

अखंड प्रताप सिंह, गाजियाबाद
कोरोना संक्रमण की वजह से मुंबई में हालात बहुत खराब हैं। संक्रमित को अस्पताल में बेड मिलना भी मुश्किल हो रहा है। वहां पर घर पर ही आईसीयू की सुविधा मुहैया करवाई जा रही है, लेकिन उसके लिए मोटा चार्ज लिया जा रहा है। जिस हिसाब से पूरे देश में कोरोना बढ़ रहा है, एनसीआर के जिलों के हालात भी हो सकते हैं, इसलिए डॉक्टरों का कहना है कि जैसे घर और कार में इमर्जेंसी में आग बुझाने के लिए फायर सिलिंडर रखा जाता है। वैसे ही कोरोना संक्रमित मरीज का जब ऑक्सिजन लेवल नीचे आ जाए तो इस प्रकार के ऑक्सिजन सिलिंडर का प्रयोग करके उसे बचाया जा सकता है।

  1. कितना मददगार है ऑक्सिजन सिलिंडर?
    सीएमओ डॉ. एनके गुप्ता का कहना है कि इमर्जेंसी के हालात में कोरोना मरीज के लिए घर में रखा हुआ ऑक्सिजन सिलिंडर जीवनदायक साबित होगा। अचानक ऑक्सिजन की कमी होने पर अस्पताल तक पहुंचने में कई बार देरी हो जाती है, लेकिन इस बात का ध्यान रखना चाहिए। घर में ऑक्सिजन सिलिंडर लगाने के बाद मरीज को डॉक्टर को जरूर दिखा लेना चाहिए। बिना जरूरत के ऑक्सिजन सिलिंडर का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  2. कैसे लगाएं, पहले इसके बारे में करें जानकारी
    एमएमजी अस्पताल के सीनियर फिजीशियन डॉ. आरपी सिंह कहना है कि कोरोना काल में यदि किसी मरीज के ऑक्सिजन लेवल कम होता है तो घर में रखा हुआ ऑक्सिजन सिलिंडर मददगार साबित होगा, लेकिन ऑक्सिजन सिलिंडर लगाना आना चाहिए। शरीर में ऑक्सिजन लेवल कम होने पर तत्काल ऑक्सिजन मिलने से मरीज के साथ किसी प्रकार का हादसा होने की संभावना कम हो जाती है।
  3. ऑक्सिजन सिलिंडर के अलावा क्या है विकल्प?
    सिलिंडर के विकल्प के रूप में ऑक्सिजन कंसंट्रेटर मशीन भी काफी कारगर होती है। इसे घर में रखना भी आसान होता है। यह वायुमंडल से ऑक्सिजन लेकर मरीज में ऑक्सिजन की उपलब्धता बनाए रखती है, लेकिन इसकी कीमत अधिक है। यह 40 से 50 हजार रुपये के बीच में मिलती है।
  4. कौन सा सिलिंडर खरीदना होगा कारगर?
    सांस लेने में समस्या होने पर तुरंत राहत के लिए ऑक्सिजन की जरूरत पड़ती है। ऐसे में घर में पोर्टेबल ऑक्सिजन सिलिंडर रखा जा सकता है। इन सिलिंडर के साथ मास्क भी आते हैं। वैसे यह मास्क अलग से भी खरीदा जा सकता है। मरीज की स्थिति गंभीर होने पर ये पोर्टेबल ऑक्सिजन सिलिंडर जिंदगी बचा देते हैं। हालत बिगड़ने पर इन्हें लगाकर मरीज को अस्पताल तक पहुंचाया जा सकता है।
  5. बाजार में क्या है इनकी कीमत?
    ये सिलिंडर ऑनलाइन और ऑफलाइन मार्केट में मिल जाते हैं। 75 लीटर के सिलिंडर की कीमत करीब 5 हजार रुपये है। सिलिंडर में ऑक्सिजन को कंप्रेस करके रखा जाता है, जिससे यह बहुत छोटी बोतल में आ जाती है। इसका वजन महज 700 ग्राम के करीब होता है।
  6. बाजार में क्यों कम है उपलब्धता?
    पोर्टेबल ऑक्सिजन सिलिंडर की सप्लाइ करने वाले मनजिंदर का कहना है कि वर्तमान में इस तरह के सिलिंडर की उपलब्धकता कम है, इसलिए जरूरत के हिसाब से सप्लाइ करना मुश्किल हो रहा है। गुजरात से सप्लाइ आती है। कोरोना मरीज महाराष्ट्र और अन्य राज्यों में बढ़ने से सप्लाइ कम हो गई है।साभार-नवभारत टाइम्स
आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *