ताज़ा खबर :
prev next

UP के 5 शहरों में टोटल लॉकडाउन नहीं:हाईकोर्ट के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट की रोक, योगी सरकार अब पूरे राज्य में वीकेंड लॉकडाउन लगाएगी

पढ़िए  दैनिक भास्कर की ये खबर…

लखनऊ समेत उत्तरप्रदेश के 5 शहरों में लॉकडाउन नहीं लगेगा। सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी है। सोमवार को ही हाईकोर्ट ने लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज और गोरखपुर में 26 अप्रैल तक कम्प्लीट लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था। इसके खिलाफ योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।

इस बीच, एक बार फिर से योगी सरकार ने पूरे राज्य में वीकली लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया है। मतलब अब हर शनिवार और रविवार को प्रदेश में सबकुछ बंद रहेगा। केवल इमरजेंसी सुविधाएं जारी रहेंगी। अब तक केवल संडे को लॉकडाउन था। इसके अलावा जिन जिलों में 500 से अधिक एक्टिव केस हैं, वहां हर दिन रात 8 बजे से अगले दिन सुबह 07 बजे तक आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बाकी सारी गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी।

यूपी सरकार ने कहा- लॉकडाउन लगाना सही नहीं

यूपी सरकार के लिए दलीलें दे रहे सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि राज्य सरकार ने कई कदम उठाए हैं। हमें कुछ निर्देश मिले हैं और हमें इस पर आपत्ति भी नहीं है, लेकिन किसी ज्यूडिशियल ऑर्डर के जरिए 5 शहरों में लॉकडाउन लगा देना सही नहीं होगा।

इस पर चीफ जस्टिस ने कहा कि हाईकोर्ट ने भी कम्प्लीट लॉकडाउन के बारे में नहीं कहा है। इस तरह के लॉकडाउन से प्रशासनिक दिक्कतें पैदा हो सकती हैं। ऐसे हालात में हाईकोर्ट के फैसले पर अंतरिम रोक रहेगी। हालांकि, यूपी सरकार को एक हफ्ते के अंदर हाईकोर्ट को यह बताना चाहिए कि वह क्या कदम उठा रही है।

सोमवार को 28 हजार से ज्यादा मरीज मिले

प्रदेश में कारोना की दूसरी लहर बेकाबू होती जा रही है। हर दिन नए संक्रमितों के साथ मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। सोमवार को प्रदेश में 28,211 नए संक्रमितों की पहचान हुई और 167 लोगों की मौत हुई।

वहीं, मंगलवार सुबह उत्तर प्रदेश कोऑपरेटिव यूनियन के अध्यक्ष हनुमान मिश्र (राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त) का लखनऊ के PGI में निधन हो गया। वे कोरोना पॉजिटिव थे। बताया जा रहा है कि इलाज के दौरान उनकी किडनी फेल हो गई थी। हालांकि PGI ने अभी अपना अधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। हनुमान मिश्र कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के महामंत्री, विद्यार्थी परिषद के प्रदेश मंत्री रह चुके हैं।

पूर्व सांसद जगदीश राणा की भी कोरोना से मौत
इससे पहले सहारनपुर में भाजपा नेता एवं पूर्व सांसद जगदीश राणा का सोमवार रात कोरोना के चलते निधन हो गया था। वे 67 साल के थे। 12 दिन से उनका फरीदाबाद स्थित एक अस्पताल में इलाज चल रहा था। राणा तीन बार मुजफ्फराबाद सीट से विधायक रहे और 2009 में बसपा के टिकट पर सहारनपुर से सांसद चुने गए थे। 2016 में वे भाजपा में शामिल हुए थे।

लखनऊ समेत 5 राज्यों में लॉकडाउन का आदेश दिया था
इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सोमवार को वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए UP में कोरोना के हालात पर स्वत: संज्ञान लिया था। इस दौरान जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा और जस्टिस अजीत कुमार की डिवीजन बेंच ने प्रदेश के सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित 5 शहर प्रयागराज, लखनऊ, वाराणसी, कानपुर नगर और गोरखपुर में 26 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था।

आंकड़ों में UP में कोरोना महामारी

  • बीते 24 घंटे में कुल नए केस आए: 28,211
  • बीते 24 घंटे में कुल मौत: 167
  • बीते 24 घंटे में कुल ठीक हुए: 10,987
  • अब तक कुल संक्रमित हो चुके: 8,79,831
  • अब तक ठीक हुए: 6,61,311
  • अब तक कुल मौत: 9,997
  • अभी इलाज करा रहे मरीजों की कुल संख्या: 2,08,523

घर से काम कर सकेंगे शिक्षक
वहीं, प्रदेश में बेसिक शिक्षा परिषद ने शिक्षकों, अनुदेशकों और शिक्षामित्रों को स्कूल आने से छूट दी है। बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने कहा कि शिक्षक, अनुदेशक और शिक्षा मित्र घर से काम कर सकेंगे। इस फैसले से करीब 1.52 लाख से अधिक शिक्षामित्रों और 5 लाख से ज्यादा शिक्षकों को बड़ी राहत मिली है।

कोरोना अपडेट्स…

  • लखनऊ में लोहिया संस्थान, KGMU में प्लाज्मा लगभग खत्म हो गया है। KGMU में रोज 6 से 7 डोनेशन की जरूरत है। वर्तमान में 15 से ज्यादा मरीजों को प्लाज्मा की जरूरत पड़ रही है। लेकिन, ठीक होने के बाद भी लोग प्लाज्मा देने नहीं आ रहे हैं। संस्थानों ने लोगों से प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की है।
  • कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर सैनिटाइजेशन अभियान चलाया जा रहा है। स्टेशन अधीक्षक ने कहा, ”हम यात्रियों का RT-PCR टेस्ट करवा रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की अपील भी कर रहे हैं। इसे लागू भी कराया जा रहा है।”
  • गौतमबुद्धनगर जिले में नाइट कर्फ्यू 30 अप्रैल तक लागू रहेगा। रात आठ बजे से सुबह सात बजे तक यह आदेश प्रभावी रहेगा। इस दौरान इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर किसी को भी बाहर निकलने की अनुमति नहीं है।
  • आगरा में ऑक्सीजन की किल्लत को देखते जिला प्रशासन ने शहर के औद्योगिक इकाइयों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति पर रोक लगा दी है। प्रशासन का कहना है कि पहले मरीजों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाएगी। शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में ऑक्सीजन इकाइयों को 24 घंटे बिजली मिलेगी।

मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर सैनिटाइजेशन करता कर्मी। साभार-दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *