ताज़ा खबर :
prev next

सन्त निरंकारी मिशन की ओर से दिल्ली में 1000 से अधिक बैड का कोविड-19 ट्रीटमेंट सैंटर मानवता के लिए समर्पित

गाजियाबाद  दिल्ली में स्थित ग्राउंड नं. 8 के विशाल सत्संग भवन में कोविड-19 महामारी से ग्रस्त मरीजों के इलाज के लिए 1000 से भी अधिक बैड का ‘कोविड-19 ट्रीटमेंट सेंटर’ पूरे इन्फ्रास्ट्रक्चर के साथ दिल्ली सरकार को उपलब्ध करवाया जा रहा है। सरकार के सहयोग से इस ट्रीटमेंट सेंटर में बैड इत्यदि व मरीजों के खाने-पीने की व्यवस्था सन्त निरंकारी मिशन द्वारा उपलब्ध करायी जायेगी।इस सन्दर्भ में दिल्ली सरकार के माननीय स्वास्थ्य मंत्री श्री सत्येन्द्र जैन ने स्वास्थ्य विभाग की टीम एवं सन्त निरंकारी मंडल के सैक्रेटरी श्री जोगिंदर सुखीजा जी के साथ इस स्थान का निरिक्षण किया और अपनी संतुष्टि प्रकट करते हुए इस स्थान पर सन्त निरंकारी मिशन की ओर से कोविड-19 ट्रीटमेंट सेंटर बनाने की अनुमति भी प्रदान की।

स्वास्थ्य मंत्री ने मिशन की ओर से की गई इस पहल के लिए सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज का हृदय से धन्यवाद किया।इसके अलावा भारत के सभी सत्संग भवनों को कोविड वैक्सिनेशन सेंटर बनाने का प्रस्ताव भारत सरकार को दिया गया था। जिसकी मंजूरी के उपरांत भारत के सैंकड़ों निरंकारी सत्संग भवन कोविड-19 के टीकाकरण सैंटर में परिवर्तित हो चुके हैं। कई निरंकारी भवनों को ‘कोविड-19 ट्रीटमेंट सेंटर’ में परिवर्तित किया जा रहा है, जैसे- उधमपुर, मुंबई, पुणे इत्यादि। साथ ही साथ सन्त निरंकारी मिशन के कई सत्संग भवन काफ़ी समय से क्वारंटाईन सेंटर के रुप में, सम्बन्धित प्रशासनों को उपलब्ध कराये गए हैं।

उल्लेखनीय है कि भारत में कोविड-19 के आरंभ से ही सन्त निरंकारी मिशन की ओर से राशन-लंगर बांटने से लेकर आर्थिक रूप में केन्द्र तथा कई राज्य सरकारों के आपातकालीन निधी कोषों में धनराशि जमा की गई तथा पीपीई किट्स, मास्क इत्यादि साधन उपलब्ध कराये गए और देशभर में लगातार रक्तदान शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।

मिशन की इन सभी गतिविधियों में सन्त निरंकारी मिशन की मानवता को समर्पित विचारधारा की झलक प्रतिबिंबित होती है और इस कार्य की हर स्तर पर सराहना भी हो रही है।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें।हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *