ताज़ा खबर :
prev next

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में गंभीर रूप से बीमार 25 मरीजों की मौत, ऑक्सीजन की कमी बताई गई वजह

पढ़िए एबीपी न्यूज़ की ये खबर…

Delhi Sir Ganga Ram Hospital Oxygen Supply: दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में गंभीर रूप से बीमार 25 कोविड मरीजों की पिछले 24 घंटे में मौत हो गयी और 60 ऐसे अन्य अत्यंत अस्वस्थ मरीजों की जान भी खतरे में है.

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना संक्रमण की स्थिति बेहद भयावह होती जा रही है. ऑक्सीजन की किल्लत लगातार बनी हुई है. इस बीच दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में गंभीर रूप से बीमार 25 मरीजों की मौत हो गई. घटना के पीछे की संभावित वजह ऑक्सीजन की कमी बताई जा रही है.

सर गंगाराम अस्पताल के चिकित्सा निदेशक ने बताया, ऑक्सीजन का भंडार अगले दो घंटे और चलेगा, वेंटिलेटर और बीआईपीएपी मशीनें प्रभावी रूप से काम नहीं कर रही हैं. गंभीर रूप से बीमार अन्य 60 मरीज खतरे में हैं, गंभीर संकट की आशंका है. अस्पताल के आईसीयू और आपात-चिकित्सा विभाग में गैर-मशीनी तरीके से वेंटिलेशन बहाल करने का प्रयास किया जा रहा है.

दिल्ली में संक्रमण की ताजा स्थिति
दिल्ली के अस्पतालों में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी के बीच राष्ट्रीय राजधानी में कल कोरोना वायरस संक्रमण के 26,169 नए मामले सामने आए जबकि 306 मरीजों की मौत हो गई. दिल्ली में संक्रमण की दर 36.24 फीसदी रही जोकि पिछले साल महामारी की शुरुआत के बाद से सर्वाधिक है. दिल्ली में पिछले 10 दिनों में इस घातक वायरस के चलते 1,750 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. शहर में बुधवार को 24,638, मंगलवार को 28,395 जबकि सोमवार को 23,686 नए मामले सामने आए थे.

दिल्ली में गुरुवार को सामने आए संक्रमण के नए मामलों के साथ ही शहर में अब तक कुल 9,56,348 लोग महामारी की चपेट में आ चुके हैं जबकि मृतक संख्या बढ़कर 13,193 तक पहुंच गई है. दिल्ली में बुधवार को 72,208 नमूनों की जांच की गई. दिल्ली में अब तक 8.51 लाख से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि 91,618 मरीज उपचाराधीन हैं.साभार-एबीपी न्यूज़

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *