ताज़ा खबर :
prev next

सीएम योगी ने गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर के डीएम को दिया बड़ा आदेश, इंडस्ट्री किसी भी कीमत पर बंद न हों

पढ़िए ट्रीसिटी टुडे की ये खबर…                                            फाइल फोटो

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मौजूदा हालात की समीक्षा की है। मुख्यमंत्री ने गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर सहित सभी जिलाधिकारी को आदेश दिया है, “यह सुनिश्चित करें कि सभी जगह औद्योगिक गतिविधियां संचालित होती रहें। श्रमिकों की जरूरतों का ध्यान रखा जाए। प्रवासी श्रमिकों को आवश्यकतानुसार क्वॉरंटीन किया जाए।”

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद कोरोनावायरस से संक्रमित हैं। उन्होंने गुरुवार की देर शाम राज्य में कोविड-19 के संबंध में मंडलायुक्त, अपर पुलिस महानिदेशक, जिलाधिकारी, आईजी, पुलिस कप्तान, सीएमओ, नगर आयुक्त आदि के साथ समीक्षा की है। बैठक में मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। सभी जिलों में बेड्स बढ़ाए जाने की दिशा में विशेष प्रयास किए जाने की आवश्यकता है। संबंधित मंडलायुक्त इसकी मॉनिटरिंग करते रहें। उन्होंने अफसरों से कहा, “ऑक्सीजन की सुगम आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। सभी जिलाधिकारी इस संबंध में लगातार स्वास्थ्य विभाग, गृह विभाग और खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग से संपर्क में रहें। किसी भी जनपद में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “जनपद मेरठ, गोरखपुर, झांसी, बरेली, बलिया, जौनपुर, गाजीपुर जिलों में पॉजिटिविटी दर अधिक है। यहां प्रवासी श्रमिकों का भी आगमन हो रहा है। निगरानी समितियों को प्रभावी कर प्रवासी श्रमिकों के बारे में जानकारी प्राप्त करें। होम आइसोलेट मरीजों को समय से पर्याप्त मेडिकल किट उपलब्ध कराई जाए। ऐसे मरीजों से हर दिन संवाद बनाया जाए। दवाओं का कोई अभाव नहीं है। किसी भी प्रकार की आवश्यकता होने पर तत्काल शासन को अवगत कराएं। कोविड-19 संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत कोविड टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार है। एक मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण किया जाना है। सभी जिला प्रशासन इस संबंध में आवश्यक तैयारियां समय से पूरी करें।”

सीएम ने आगे कहा, “टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट’ के मंत्र को समझें, कोविड से लड़ाई में यह अति महत्वपूर्ण है। सभी जिलों में टेस्टिंग को बढ़ाया जाए। गुणवत्तापरक टेस्टिंग सुनिश्चित की जाए। अनावश्यक भय का माहौल बनाने वालों, अफवाह फैलाने वालों, जीवनरक्षक दवाओं की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाए। जनपदों में तैनात अधिकारी संबंधित प्रभारी मंत्री एवं अन्य जनप्रतिनिधियों का मार्गदर्शन प्राप्त करते रहें। खाली बेड की जानकारी नियमानुसार सार्वजनिक की जाए। एक भी मरीज बेड के अभाव में परेशान न हो, इसे सुनिश्चित किया जाए।”

सीएम ने कहा, “पुलिस द्वारा कंटेनमेंट जोन के प्रावधानों को सभी जनपदों में प्रभावी ढंग से लागू किया जाए। इस कार्य में सिविल डिफेंस, NCC और NSF का सहयोग भी लिया जाए। कोरोना से बचाव के बारे में लोगों को जागरूक किया जाए। कोविड संक्रमित व्यक्ति की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के उपरांत उनका अंतिम संस्कार सम्मानजनक ढंग से कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए कराया जाए। एक भी नागरिक की मृत्यु दुःखद है, यह प्रदेश की क्षति है। उनके परिजनों के प्रति संवेदनशील व्यवहार किया जाए। शुक्रवार रात्रि 08 बजे से सोमवार प्रातः 07 बजे तक के कोरोना कर्फ्यू को प्रभावी बनाया जाए। इस अवधि में व्यापक स्वच्छता और सैनिटाइजेशन की कार्यवाही हो। इस अवधि में औद्योगिक इकाइयां संचालित होती रहें।”साभार- ट्रीसिटी टुडे

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *