ताज़ा खबर :
prev next

नोएडा ,गौतमबुद्ध नगरः विद्युत निगम ने ‘कनेक्शन काटो अभियान’ फिलहाल बंद किया, 50 हजार बकाएदारों को मिला वक्त

पढ़िए ट्रीसिटी टुडे की ये खबर

गौतमबुद्ध नगर में विद्युत निगम के 3.5 लाख से ज्यादा उपभोक्ता हैं
निगम को हर महीने इनसे 400-500 करोड़ रुपए का राजस्व हासिल होता है
जनपद में 1500 से ज्यादा हर एक बकायेदार पर एक लाख से अधिक का बिल बकाया है
20 हजार कंज्यूमर पर निगम का 50000 से लेकर 99000 तक का भुगतान बाकी है
कोरोना महामारी की वजह से नोएडा में 50,000 बिजली बिल के बकायेदारों को बड़ी राहत मिली है। विद्युत निगम ने फिलहाल इनका कनेक्शन चालू रखा है। इन सभी पर निगम का 200 करोड़ रुपये से ज्यादा का बिल बकाया है। परिस्थितियां सामान्य होतीं, तो कनेक्शन काटो अभियान के तहत इनको बिजली की आपूर्ति बंद कर दी जाती। दरअसल बिजली विभाग में भी 25 अफसर और कर्मचारी कोरोना से संक्रमित हैं। इसलिए निगम ने कम कर्मचारियों और अधिकारियों की निगरानी में शहर में बेहतर पावर सप्लाई और उपभोक्ताओं की समस्याओं का जल्द निस्तारण करने की योजना बनाई है। इसके लिए बिजली काटो अभियान को रोक दिया गया है।

कार्रवाई जारी थी

इस वक्त विद्युत निगम के 25 से ज्यादा कर्मचारी और अधिकारी कोरोना से संक्रमित हैं। इन सभी का होम आइसोलेशन और शहर के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इस वजह से भी निगम के पास पर्याप्त संख्या में अफसर और कर्मचारी उपलब्ध नहीं हैं। कोविड की वजह से बकायेदारों को भी राहत दी जा रही है। गौतमबुद्ध नगर में विद्युत निगम के 3.5 लाख से ज्यादा उपभोक्ता हैं। निगम को हर महीने इनसे 400-500 करोड़ रुपए का राजस्व हासिल होता है। लेकिन इनमें काफी संख्या में ऐसे भी उपभोक्ता हैं, जिन्होंने पिछले 2 महीने से लेकर एक साल तक का बिल जमा नहीं कराया है। इन बकायेदारों पर कार्रवाई करने के लिए निगम ने लिस्ट भी तैयार की थी। कार्रवाई की शुरुआत भी की गई थी।

कोरोना ने बिगाड़ा खेल

सबसे पहले बड़े बकायेदारों के खिलाफ अभियान चलाया गया था। उन सभी को नोटिस भेजकर बिल जमा करने के लिए कहा गया था। जिन्होंने निर्धारित समय में बकाए का भुगतान नहीं किया, उनका कनेक्शन काटा जा रहा था। लेकिन कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों की वजह से निगम का यह अभियान बीच में ही रोकना पड़ा। आम लोगों के साथ-साथ विद्युत निगम के कर्मचारी और अफसर भी संक्रमण का शिकार हुए। फिलहाल 25 से ज्यादा कर्मचारी और अफसर वायरस की चपेट में हैं। शहर में सामान्य गतिविधियां भी सुचारू रूप से नहीं चल रही हैं। शनिवार और रविवार सब कुछ बंद है। इसको देखते हुए विद्युत निगम ने फिलहाल कनेक्शन काटो अभियान रोक दिया है।

उपभोक्ताओं को मिले राहत

विद्युत निगम के मुख्य अभियंता वीएन सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस के इस मुश्किल समय में हमारी पहली प्राथमिकता उपभोक्ताओं को बिना कटौती बेहतर बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराना है। हम उस दिशा में पूरा ध्यान दे रहे हैं। साथ ही उपभोक्ताओं से ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने की अपील की जा रही है। ताकि उनका जल्द निस्तारण किया जा सके। अब कोरोना संक्रमण से निजात मिलने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी।

200 करोड़ रुपये बकाया है

विद्युत निगम के मुख्य अभियंता ने बताया कि जनपद में 1500 से ज्यादा हर एक बकायेदार पर एक लाख से अधिक का बिल बकाया है। 20 हजार कंजूमर ऐसे भी हैं, जिन पर निगम का 50000 से लेकर 99000 तक का भुगतान बाकी है। अन्य उपभोक्ता 10000 से अधिक के बकायदार हैं। इस तरह निगम का करोड़ों रुपए उपभोक्ताओं के पास है। लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए निगम ने उपभोक्ताओं से दो बार में बिजली बिल जमा करने को कहा है। अधिकारियों का कहना है कि अगर उपभोक्ता एक बार में पूरे बिल का भुगतान नहीं कर सकते, तो वे पार्ट पेमेंट में दो बार में बकाया जमा कर सकते हैं।

पार्ट पेमेंट कर सकते हैं

इससे भविष्य में कंज्यूमर का कनेक्शन कटने से बच जाएगा और उपभोक्ता को दो बार में भुगतान करने में ज्यादा मुश्किल नहीं आएगी। विद्युत निगम का कहना है कि उपभोक्ता ऑनलाइन समय से बिल जमा कर निगम की सेवाएं सुचारू रूप से इस्तेमाल कर सकते हैं। जब निगम को राजस्व का नुकसान नहीं होगा, तो निगम कोरोना जैसी महामारी के दौर में भी आपूर्ति बहाल रखेगा। लोगों को किसी तरह की कटौती की समस्या का सामना नहीं करना होगा।साभार- ट्रीसिटी टुडे

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *