ताज़ा खबर :
prev next

Tocilizumab की नई खेप भारत आई, कोरोना मरीजों को कैसे मिलेगी?

पढ़िए जी बिज़नेस हिंदी की ये खबर…

Tocilizumab: कोरोना मरीजों के इलाज में कारगर दवा टोसिलुजुमैब (Tocilizumab) की एक बड़ी खेप भारत आई है. इस दवा की करीब 3 हफ्तों से किल्लत चल रही थी. सिप्‍ला ने टोसिलुजुमैब की 3,245 नई डोज का इम्‍पोर्ट किया है. भारत में सिप्‍ला अकेली कंपनी है, जो इस दवा का इम्‍पोर्ट करती है. केंद्र सरकार ने टोसिलुजुमैब के डिस्ट्रिब्‍यूशन को लेकर भी जानकारी साझा की है. सबसे अधिक डोज महाराष्‍ट्र को दी जाएगी. देश में कोरोना की बेकाबू दूसरी लहर के बीच कोविड19 मरीजों के इलाज में कारगर टोसिलुजुमैब, रेमडेसिविर जैसी कुछ दवाओं की भारी किल्‍लत देखी जा रही है.

सरकार ने कहा है कि टोसिलुजुमैब की नई खेप का राज्‍यवार डिस्ट्रिब्‍यूशन कर दिया जाएगा. यह दवा सीधे राज्‍यों को दी जाएगी. इसमें सबसे ज्‍यादा हिस्‍सा महाराष्‍ट्र को 800 डोज का मिलेगा. केंद्र सरकार ने कहा कि डोज का बंटवारा राज्‍य अपनी जरूरत के अनुसार करेंगे. भारत में टोसिलुजुमैब की मार्केटिंग और डिस्ट्रीब्यूशन का अधिकार सिप्‍ला को दिया गया है.

टोसिलुजुमैब की नई खेप के डिस्ट्रिब्‍यूशन में राजधानी दिल्‍ली को 500 डोज, गुजरात, मध्‍य प्रदेश, तमिलनाडु और पंजाब को 200-200 डोज की सप्‍लाई की जाएगी. इसके अलावा केंद्र के अधीन संस्‍थानों को भी टोसिलुजुमैब की 200 डोज मिलेगी. केंद्र सरकार ने कहा कि यह डिस्ट्रिब्‍यूशन अंतरिम है, आगे नया स्‍टॉक आने पर राज्‍यों का कोटा बढ़ा दिया जाएगा.

टोसिलुज़ुमैब का उत्‍पादन जमर्नी की फार्मा कंपनी  Roche करती है.  भारत में इसकी MRP करीब 40,000 रुपये प्रति 400mg के इंजेक्शन की है. कोरोना मरीजों के इलाज में रेमडेसिविर के बाद इस दवा का इस्‍तेमाल डॉक्‍टर करते हैं.

कोरोना से 24 घंटे में 3293 लोगों की मौत 
स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से सुबह 8 बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना संक्रमण के कुल 3,60,960 नए मामले दर्ज किए गए . वहीं, कोरोना ने 3293 लोगों की जान ले ली. एक दिन में कोरोना से मरने वालों का यह रिकॉर्ड मामला है. आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटों में कुल मामलों की संख्या 1,79,97,267 हो गई है, जबकि 1,48,17,371 लोग ठीक हुए हैं. अगर कुल मौतों की बात करें तो यह अब 2,01,187 हो गई है. देश में इस वक्त कुल 29,78,709 एक्टिव हैं. साभार-जी बिज़नेस हिंदी

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *