ताज़ा खबर :
prev next

बंगाल में चुनाव के बाद हिंसा:अब तक 11 की मौत; मोदी ने राज्यपाल से बात की, SC में दायर याचिका में केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती की मांग

पढ़िए दैनिक भास्कर ये खबर…

पश्चिम बंगाल में 2 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद हिंसा का दौर एक बार फिर शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी TMC को मिली भारी जीत के बाद अब भाजपा और सत्ताधारी दल के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें हो रही हैं। अब तक 6 जिलों से हिंसा की खबरें आई हैं और दो दिन में करीब 11 लोगों के मारे जाने की खबर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यपाल जगदीश धनखड़ को फोन किया और बंगाल में आगजनी और हत्याओं पर चिंता जाहिर की है।

दूसरी तरफ, इस बीच, सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को एक याचिका दायर की गई। इसमें मांग की गई है कि सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार को बंगाल में राजनीतिक हिंसा रोकने के लिए केंद्रीय सुरक्षाबल तैनात करने का आदेश दे, ताकि राज्य में कानून-व्यवस्था बहाल की जा सके।

नड्‌डा बोले- आजाद भारत में इतनी असहिष्णुता नहीं देखी
इस बीच BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा मंगलवार को कोलकाता पहुंचे। वे दो दिन पश्चिम बंगाल में रहकर हिंसा वाले इलाकों का जायजा लेंगे। कोलकाता पहुंचने के बाद नड्‌डा ने कहा कि पश्चिम बंगाल के चुनाव के नतीजों के बाद जो घटनाएं देखने और सुनने को मिली हैं वो हैरान करती हैं, चिंता में डालती हैं। ऐसी घटनाएं भारत के विभाजन के समय मैंने सुनी थीं, लेकिन आजाद भारत में चुनाव के नतीजों के बाद इतनी असहिष्णुता हमने आज तक नहीं देखी।

उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं पर जो हमले हो रहे हैं, उसे खुद जाकर देखने और इस मुश्किल वक्त में उनके साथ खड़े होकर लोकतांत्रिक तरीके से लड़ाई लड़ने के लिए BJP कृतसंकल्प है। कार्यकर्ताओं की शहादत बेकार नहीं जाएगी। हम उनकी विचारधारा की लड़ाई निर्णायक मोड़ तक पहुंचाएंगे। एयरपोर्ट से नड्डा गोपालनगर में हिंसा का शिकार हुए भाजपा कार्यकर्ताओं के घर गए। उनके साथ प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष और पार्टी नेता लॉकेट चटर्जी भी मौजूद रहीं।

BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा और प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने हमलों के शिकार हुए कार्यकर्ताओं से मुलाकात की।

राष्ट्रीय महिला आयोग ने DGP को पत्र लिखा
राष्ट्रीय महिला आयोग ने नंदीग्राम में महिलाओं के खिलाफ हिंसा को लेकर खुद संज्ञान लिया है। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने राज्य के DGP को पत्र लिखकर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। आयोग की टीम भी जल्द ही मामले की जांच के लिए राज्य का दौरा करेगी।

सुप्रीम कोर्ट पहुंची भाजपा, CBI जांच की मांग की
बंगाल में हिंसा और आगजनी के बीच भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है। भाटिया ने याचिका में बंगाल में रेप, मर्डर, हिंसा की घटनाओं की CBI जांच की मांग की है। साथ ही घटनाओं पर हुई कार्रवाई के बारे में स्टेटस रिपोर्ट तलब करने की भी मांग की गई है।

ममता बोलीं- केंद्रीय बलों ने हमारे वर्कर्स पर अत्याचार किए
प्रचंड जीत हासिल करने के बाद ममता ने हिंसा की खबरों के बीच सभी से शांति बनाए रखने की अपील की। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्रीय बलों ने चुनावों के दौरान टीएमसी समर्थकों पर काफी अत्याचार किए। उन्होंने कहा कि परिणाम घोषित होने के बाद भी बीजेपी ने कुछ इलाकों में हमारे समर्थकों पर हमला किया, लेकिन हमने अपने लोगों से किसी के उकसावे में नहीं आने की अपील की।

रिटर्निंग ऑफिसर को सुरक्षा
पश्चिम बंगाल सरकार ने चुनाव आयोग को बताया है कि उसने नंदीग्राम के रिटर्निंग ऑफिसर को सुरक्षा मुहैया कराई है। इस विधानसभा क्षेत्र में ममता बनर्जी और भाजपा के सुवेंदू अधिकारी के बीच मुकाबला था। ममता यहां चुनाव हार गईं। उन्होंने नतीजे के खिलाफ कोर्ट जाने का ऐलान किया है।

भाजपा ने TMC पर लगाया हिंसा का आरोप
भाजपा ने बंगाल में जारी हिंसा के लिए TMC को जिम्मेदार ठहराया है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने आरोप लगाया कि TMC के गुंडों को हिंसा और उत्पात के लिए ममता की मौन सहमति मिली हुई है। उनके कई नेता खुलेआम हिंसा के लिए अपने लोगों को भड़का रहे हैं। पात्रा ने कहा कि ये संयोग नहीं, प्रयोग है, प्रायोजित है। ममता जी ने चुनाव से पहले भाषण देते हुए कहा था कि चुनाव समाप्त होने के बाद CRPF तो वापस चली जाएगी, उसके बाद का समय TMC का होगा, हम भी देखेंगे। आज पूरा हिंदुस्तान और विश्व देख रहा है कि बंगाल में क्या हो रहा है।

भाजपा के 9 कार्यकर्ताओं की हत्या
भाजपा का आरोप है कि 2 मई को मतगणना के दिन नंदीग्राम, कोलकाता, आसनसोल, हुगली समेत कई इलाकों में उनके समर्थकों, कार्यकर्ताओं की दुकानें लूट ली गई हैं। TMC के लोगों के द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों में आग लगाई गई है। हमारे 9 कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है। इतना ही नहीं, महिलाओं को घरों से निकालकर रेप भी किया गया है।

वहीं, TMC ने भी भाजपा कार्यकर्ताओंं पर इसी तरह के आरोप लगाते हुए बताया कि कई इलाकों में उनके कार्यकर्ताओं को भी निशाना बनाया गया है और उनके दफ्तरों में तोड़फोड़, आगजनी की गई है। पार्टी नेता राहुल सिन्हा ने राज्यपाल और चुनाव आयोग से मांग की है कि जब तक हिंसा नहीं रुकती है, तब तक मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह पर रोक लगाई जाए।

2 मई से जारी हिंसा में अब तक 11 की मौत
रविवार शाम से सोमवार रात तक विभिन्न हिस्सों में हिंसा की घटनाएं घटी हैं। इन घटनाओं में 11 लोगों के मारे जाने की खबर है। भाजपा का आरोप है कि इनमें 9 उसके कार्यकर्ता हैं। जबकि ब‌र्द्धमान में एक TMC और उत्तर 24 परगना में एक ISF के कार्यकर्ता की जान चली गई है। इन घटनाओं में आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगा है।

गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट
हिंसा की घटनाओं पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है। हिंसा-आगजनी पर राज्यपाल ने भी डीजीपी को समन किया है तथा गृह सचिव से रिपोर्ट मांगी है। वहीं, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने रविवार शाम को चुनाव बाद हिंसा को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा है। भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओं की सहायता के लिए सभी संभागों में हेल्पलाइन नंबर जारी की है। BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा- भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले ममता बनर्जी की शह पर हो रहे हैं।साभार-दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *