ताज़ा खबर :
prev next

जान लें नोएडा-ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद के लोग, 18 पार वालों को कब से लगेगी वैक्सीन

पढ़िए दैनिक जागरण की ये खबर…

Coronavirus Vaccination Drive उत्तर प्रदेश के 7 जिलों में 18 से 44 साल के लोगों का टीकाकरण अभियान शुरू कर चुकी और अब योगी सरकार सोमवार को 11 और जिलों में वैक्सीनेशन शुरू करने जा रही है। इनमें गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद जिला भी शामिल है।

नोएडा/गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद जिले में भी कोरोना वायरस का टीका लगाने के लिए योगी सरकार ने कमर कस ली है।  उत्तर प्रदेश के 7 जिलों में 18 से 44 साल के लोगों का टीकाकरण अभियान शुरू कर चुकी और अब योगी सरकार सोमवार को 11 और जिलों में वैक्सीनेशन शुरू करने जा रही है। इनमें गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद जिला भी शामिल है। इस बाबत तीनों जिलों में टीकाकरण अभियान की तैयारी को लेकर समस्त अधिकारियों को होम वर्क पूरा करने और चाक-चौबंद व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। इस टीकाकरण अभियान से खासकर 18 साल से ऊपर के युवाओं को बहुत फायदा मिलेगा। पहले चरण में लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर और मेरठ में टीकाकरण शुरू किया गया था और अब जिलों की संख्या बढ़ाई गई है। इसमें अब गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर जिला भी शामिल हो गया है। ऐसे में अब लोग सोमवार से स्थानीय केंद्रों पर जाकर कोरोना वायरस संक्रमण का टीका लगवा सकेंगे।

ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा टीकाकरण के लिए

टीकाकरण के लिए गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद के युवाओं को ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। ऑनलाइन पंजीकरण के दौरान युवाओं को टीकाकरण के लिए मनपसंद स्लॉट व अस्पताल चुनने का विकल्प भी दिया जाएगा।

इस बीच गौतमबुद्धनगर जिले में शुक्रवार को 15 सरकारी केंद्रों पर 3,196 लोगों को कोरोनारोधी टीका लगा। 60 व इससे अधिक वर्ष के 370 बुजुर्गों ने पहली व 812 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई। 45 से 59 वर्ष के बीच 1,234 लोगों ने पहली और 543 लोगों ने दूसरी खुराक ली। 62 स्वास्थ्यकर्मियों ने पहली और 38 ने दूसरी। इसी तरह 69 फ्रंटलाइन वारियर्स ने पहली और 68 ने दूसरी डोज लेकर खुद को कोरोना से सुरक्षित कर लिया।

दूसरी डोज के लिए लोग परेशान

वहीं, जिले के निजी अस्पतालों को सीरम इंस्टीट्यूट से कोरोना वैक्सीन नहीं मिल रही है। आनलाइन आवेदन करने पर इंस्टीट्यूट की ओर से उन्हें वैक्सीन न होने का हवाला दिया जाता है। ऐसे में निजी अस्पतालों में दूसरी डोज के लिए लोग भटक रहे हैं। वहीं, सरकारी अस्पतालों में भी टीकाकरण निर्धारित समय से पहले ही खत्म हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *