ताज़ा खबर :
prev next

Agra: एम्बुलेंस देखकर कोविड सेंटर से भाग गए 24 मरीज, गांव में ढूंढने पर नही मिलने से मचा हड़कम्प

पढ़िए  आँखोंदेखी लाइव की ये खबर…

उत्तर प्रदेश के आगरा में ग्राम कुरुगवां स्थित कोविड सेंटर से 24 कोविड मरीज उस वक़्त भाग गए जब स्वास्थ्य विभाग की टीम उसे अस्पताल ले जाने के लिए गांव पहुंची।  मरीजों का कहना है कि वे आगरा के अस्पतालों में नहीं जाएंगे। चाहे उनकी मौत ही क्यों ना हो जाये। मरीजो के भागने से गांव में दहशत फैल गई है। उनको पकड़ने के लिए देर रात से स्वास्थ्य विभाग की टीम और पुलिस गांव में डेरा डाले हुए है।

जानकारी के अनुसार 5 हज़ार की आबादी वाले गांव कुरुगवान में पंचायत चुनाव के दौरान बड़ी संख्या में बाहरी लोग गांव में आए थे। इसके बाद गांव में खांसी और जुकाम फैल गया। यहां 20 अप्रैल से 6 मई तक 14 लोगों की मौत हुई। पिछले दो दिनों में सात लोगों की मौत होने से गांव में हड़कंप मच गया। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव में आकर लोगों की जांच की। इसमें 17 लोग पॉजिटिव पाए गए। इनके लिए गाँव के प्राथमिक विद्यालय में कोविद केंद्र बनाकर सभी को कोरेन्टीन कर दिया गया।

गांव के एमएस डॉ.धनपाल सिंह ने अपने भतीजे भानु कुशवाहा और पांच सदस्यीय युवा स्वयंसेवी टीम के साथ इलाज शुरू किया। विधायक ने दवाओं से लेकर ऑक्सीजन सिलेंडर और पीपीई किट तक मुहैया करा दी थीं। जिसके बाद जब टीम नमूने लेने के लिए फिर से गाँव गई, तो उनमें से दस को कोरोना सकारात्मक पाया गया।  इन लोगों का इलाज माध्यमिक स्कूल को कोविद केंद्र बनाकर किया गया।

मरीजो ने कहा, आगरा नहीं जायेगे, चाहे यहीं मार दो

ग्रामीणों ने बताया कि पुलिस के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम बुधवार को दोबारा गांव पहुंची तो प्राथमिक विद्यालय में 24 मरीज भर्ती थे। टीम ने उनको एसएन मेडिकल, जिला अस्पताल, नेमिनाथ अस्पताल में भर्ती कराया और उपचार की सलाह दी। टीम के अनुसार, इस सेंटर पर ठीक तरह से इलाज नहीं हो पा रहा था। लेकिन मरीजों ने चिल्लाना शुरू किया। उन्होंने कहा कि चाहे वे यहां मर जाएं, उन्हें जमीन में दफनाया जाए, लेकिन वे आगरा के अस्पताल में नहीं जाएंगे।  हर कोई उन्हें यहां देख रहा है। पता नहीं आगरा में क्या होगा। कौन देखेगा …?

एंबुलेंस को देख मरीज खाट से उठकर भागे

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी रोगियों से बात कर रहे थे। इसी बीच गाँव की ओर एक एम्बुलेंस आती देख कोविड सेंटर से सभी मरीज अपनी चारपाई छोड़कर धीरे-धीरे गाँव की ओर निकल पड़े। रात तक उसका कोई सुराग नहीं मिला। स्थिति ऐसी हो गई है कि कोविद संक्रमित रोगी भूमिगत हो गए हैं।  गांव में सूचना फैलते ही लोग भी भयभीत हो गए। गांव में घूमने वाले कोविद के मरीजों में दहशत फैल गई है। मरीज कहां हैं …? वे खेत-खलिहान और निजी तौल पर भी दिखाई नहीं दिए। देर शाम से स्वास्थ्य विभाग की टीम और पुलिस गांव में डटी हुई है।

कोविद केंद्र पर ताला, खाली बेड

ग्रामीणों के इलाज के लिए प्राथमिक स्कूल को कोविद केंद्र बनाया गया था। ग्रामीणों ने बताया कि बुधवार को किसी ने प्राथमिक विद्यालय पर ताला लगा दिया। ग्रामीणों ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के पुलिस के पहुंचने के बाद केंद्र पर ताला लगा दिया गया है।  इसके कारण, कोविद संक्रमित रोगी गांव में स्वतंत्र रूप से घूम रहे हैं। अगर स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर ग्रामीणों को समझाते, तो यह नौबत नहीं आती।

गाँव में मरीज छिपे हैं, लोगों में भय व्याप्त है

गांव में 27 मरीज कोरोना पॉजिटिव थे। गांव के प्राथमिक विद्यालय में उनका इलाज चल रहा था। चार मरीजों की रिपोर्ट बुधवार को नेगेटिव आई। जबकि, एक नई रोगी की रिपोर्ट पोजेटिव थी।  स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने बीमार लोगों को आगरा अस्पताल में इलाज कराने के लिए कहा। एंबुलेंस को गांव की ओर आते देख मरीज भाग गए। वे गांव में छिपे हुए हैं। कौन कहाँ हैं कोई पता नहीं है।  कोरोना पॉजिटिव मरीजों से गांव के अन्य लोगों को भी खतरा है। अभी गांव में स्वास्थ्य विभाग और पुलिस मौजूद है।  – गीतम सिंह कुशवाह, प्रधान

सभी गांव वालों की एक-एक कर जांच करेगी टीम: CMO

दरअसल गाँव में कई भ्रांतियाँ फैली हुई हैं।ग्रामीण अस्पतालों में हुई मौत के बारे में बात कर रहे हैं। जबकि रिकॉर्ड के मुताबिक, एफएच अस्पताल में केवल एक मरीज की मौत हुई। बुधवार को हम मरीज को आगरा लाने जा रहे थे। लेकिन वे मौके से फरार हो गए। अब गुरुवार को विभाग की टीम गांव जाएगी। प्रत्येक घर और व्यक्ति की एंटीजन की जाएगी। इसके बाद स्थिति साफ हो जाएगी। लक्षणों वाले मरीजों को गांव में ही अलग कर दिया जाएगा। गंभीर मरीजों को सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया जाएगा।  – डॉ आरसी पांडेय, सीएमओ – साभार-आँखोंदेखी लाइव

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *