ताज़ा खबर :
prev next

म्यूकोर्मिकोसिस केस में बढ़ोतरी के लिए स्टेरॉयड है जिम्मेदार? एम्स के डायरेक्टर ने बताई सच्चाई

पढ़िए  हिन्दुस्तान न्यूज़ की ये खबर

देश में कोरोना वायरस के साथ-साथ अब म्यूकोर्मिकोसिस के केस भी बढ़ने लगे हैं। कई राज्यों में ऐसे मरीज मिले हैं जिनमें यह फंगल इंफेक्शन पाया गया है। म्यूकोर्मिकोसिस केस के बढ़ने के पीछे कोरोना वायरस तो है ही साथ में स्टेरॉयड को भी जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। शनिवार को एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने म्यूकोर्मिकोसिस को लेकर कहा कि डायबिटीज, कोरोना पॉजिटिव और स्टेरॉयड लेने वाले रोगियों में फंगल इंफेक्शन की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में हमें हमें स्टेरॉयड का दुरुपयोग रोकना चाहिए।

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि देश में कोविड-19 के कुल मामलों में से 85 प्रतिशत मामले 10 राज्यों से हैं। मंत्रालय ने कहा कि 11 राज्यों में संक्रमण के एक-एक लाख से अधिक उपचाराधीन मामले हैं, जबकि आठ राज्यों में 50 हजार से एक लाख के बीच उपचाराधीन रोगी हैं। इसने बताया कि 24 राज्यों में संक्रमण दर 15 प्रतिशत से अधिक है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार को जारी आंकड़ों के अनुसार देश में महामारी के 326098 नए मामले सामने आए हैं जिससे कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 24372907 हो गई है। इसके साथ ही देश में महामारी से 3890 और लोगों की मौत हुई है, जिससे मृतकों की कुल संख्या 266207 हो गई है।

मंत्रालय ने कहा कि देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर अब 36,73,802 रह गई है, जो कुल मामलों का 15.07 प्रतिशत है। लोगों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर बढ़कर 83.83 प्रतिशत हो गई है। कुल मिलाकर स्थिति (कोविड-19 की दूसरी लहर) स्थिर हो रही है, हम इसे आगे और स्थिर करने के लिए काम करेंगे।

सरकार ने कहा है कि देश के 24 राज्यों में कोविड-19 की संक्रमण दर 15 प्रतिशत से अधिक हैं। वर्तमान में 11 राज्यों में एक लाख से ज्यादा उपचाराधीन मरीज हैं, आठ राज्यों में 50,000 से एक लाख के बीच इलाजरत रोगी हैं । कोरोना वायरस के 85 प्रतिशत मामले 10 राज्यों से आए हैं। साभार-हिन्दुस्तान न्यूज़

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *