ताज़ा खबर :
prev next

UP में भास्कर की खबर का असर:27 जिलों में गंगा नदी में PAC और SDRF की टीमें तैनात; SP और SSP ने चेतावनी दी, कहा- नदी में शव प्रवाहित करने पर कानूनी कार्रवाई होगी

पढ़िए  दैनिक भास्कर की ये खबर

कानपुर में गंगा नदी में पेट्रोलिंग करती पुलिस।

गंगा किनारे बसे उत्तर प्रदेश के 27 जिलों में दो हजार से ज्यादा शव मिलने और घाट किनारे लाशों के दफन होने की ‘दैनिक भास्कर’ की खबर का असर दिखने लगा है। शनिवार से PAC और SDRF की टीमों ने इन 27 जिलों में गंगा नदी में पेट्रोलिंग शुरू कर दी है। इसके अलावा अन्य नदियों के किनारे भी पुलिस की गश्त शुरू हो गई है। नदियों के किनारे बसे गांवों और इलाकों में पुलिस ने अनाउंसमेंट शुरू कर दिया है। लोगों को चेतावनी दी जा रही है कि अगर कोई लाश को धार्मिक रीति-रिवाज से हटकर नदी में प्रवाहित करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। ज्यादातर जिलों में एसएसपी और एसपी ने खुद घाटों पर पहुंचकर जायजा लिया।

खबर चलते ही सरकार आ गई थी हरकत में
दैनिक भास्कर ने 14 मई को ही ‘UP में गंगा किनारे के 27 जिलों से ग्राउंड रिपोर्ट:1140 किमी में 2 हजार से ज्यादा शव; कानपुर, उन्नाव, गाजीपुर और बलिया में हालात सबसे ज्यादा खराब’ हेडिंग से खबर चलाई थी। शाम होते ही यूपी सरकार हरकत में आ गई। सरकार ने तुरंत शासनादेश जारी कर नदियों में शवों के प्रवाहित करने पर रोक लगा दी। सभी जिलों के प्रशासनिक अफसरों को आदेश दिया गया कि वो नदियों के किनारे पेट्रोलिंग शुरू कराएं।

कानपुर : आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की मदद करेगी सरकार
कानुपर पुलिस ने गंगा में 24 घंटे गश्त लगाना शुरू कर दिया है। आस-पास के लोगों को भी जागरूक किया जा रहा है। एसीपी कर्नलगंज, इंस्पेक्टर कोहना शनिवार की सुबह से ही फोर्स के साथ गंगा किनारे गश्त करते नजर आए। लोगों को पुलिस ने समझाया कि अगर कोई आर्थिक रूप से कमजोर है और शव का अंतिम संस्कार कर पाने में सक्षम नहीं है तो सरकार उसकी मदद करेगी।

गंगा नदी में पेट्रोलिंग करके लोगों को जागरूक करती यूपी पुलिस।

मिर्जापुर : पुलिस ने घाट पर लगाया बैरियर
यहां एसपी ने गंगा घाटों का जायजा लिया। पुलिस की टीम नाव से लगातार गंगा में निगरानी रख रही है। श्मशान घाटों पर बैरियर ड्यूटी लगायी गई है। कोई शव गंगा में प्रवाहित न करने पाए। इस दौरान एसपी मिर्जापुर ने भी पुलिस अफसरों को 24 घंटे निगरानी रखने का आदेश दिया है। कहा कि अगर कोई शव गंगा मे बहता हुए दिखाई देता है तो तत्काल सूचना देकर आवश्यक कार्यवाही की जाए। शव लेकर आने वाले लोगों का नाम पता नोट किया जाए।

बिजनौर: यूपी में गंगा के एंट्री प्वाइंट पर पेट्रोलिंग
उत्तराखण्ड के बाद यूपी का पहला जिला बिजनौर है, जहां से गंगा प्रवेश करती हैं। प्रदेश सरकार के आदेश के बाद जिला पुलिस भी अब हरकत में आ गई है। पुलिस और पीएसी ने गंगा में पेट्रोलिंग शुरू कर दी है। गंगा बैराज घाट पर एसपी सिटी प्रवीन रंजन सिंह ने पुलिस और पीएसी द्वारा की जा रही गंगा की पेट्रोलिंग का जायजा लिया। एसपी सिटी ने बताया कि पूरे जिले में गंगा किनारे बसे गांवों में पेट्रोलिंग की जा रही है। इसके लिए मुरादाबाद से PAC की फ्लड कंपनी भी पहुंची है।

गाजीपुर, बलिया और प्रयागराज में भी शुरू हुई पेट्रोलिंग
सरकार के आदेश के बाद प्रयागराज, रायबरेली, गाजीपुर, बलिया और वाराणसी में भी पुलिस ने गंगा घाट किनारे और नदी में पेट्रोलिंग शुरू कर दी है। लोगों को सलाह दी जा रही है कि वो शव को प्रवाहित न करें। रीति-रिवाज के साथ उसका अंतिम संस्कार करें। इसके लिए सरकार भी मदद करेगी।साभार-दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *